Homeउत्तर प्रदेशएक ऐसा लंगूर जो रोजाना आता है स्कूल,रोजाना टाइम से पहुंचता है...

एक ऐसा लंगूर जो रोजाना आता है स्कूल,रोजाना टाइम से पहुंचता है स्कूल और बच्चों के साथ करता है पढ़ाई

हमारे देश में वैसे तो जानवरों का कई करतब सामने आता है लेकिन आज हम आपको एक ऐसे लंगूर के बारे में बताने वाले हैं जो रोजाना स्कूल जाता है और क्लास की सबसे पहली पंक्ति में बैठकर बच्चों के साथ पढ़ाई करता है। आपको बता दें कि जब तक शाम को स्कूल खत्म नहीं होती है वह लंगूर स्कूल से बाहर नहीं निकलता है और लंच होने पर बच्चों के साथ खाना खाता है।

आपको बता दें कि कोई भी ऐसा दिन नहीं गया जब वह लंगूरी स्कूल नहीं आया और वह कभी बेंच पर बैठ कर पढ़ाई करता है तो कभी नीचे बैठ जाता है और ध्यान से मास्टर के सभी बातों को सुनता है।

झारखंड के हजारीबाग जिले के चौपारण प्रखंड के दनुआ स्थित राजकीय उच्च विद्यालय में एक लंगूर पिछले एक हफ्ते से छात्र-छात्राओं के साथ हर रोज कक्षाओं में अपनी हाजिरी दर्ज करा रहा है।

आपको बता दें कि लंगूर किस गतिविधियों के कारण यह चर्चा का विषय बन गया है और साथ ही साथ शिक्षा विभाग में भी इसके चर्चे हो रहे हैं और फोटो वीडियो वायरल हो रहा है। वन विभाग के द्वारा उसे कई बार पकड़ने की कोशिश की गई लेकिन वह हाथ नहीं आया लेकिन वही स्कूल जरूर टाइम पर आता है।

​कभी छात्रों के साथ बेंच पर बैठता तो कही जमीन पर बैठ ‘पढ़ाई’ करता

लंगूर क्लास शुरू होने से ठीक पहले क्लास रूम में पहुंच जाता है। लंगूर क्लास में मौजूद बच्चों की तरह उन्हीं के साथ बेंच पर बैठता है तो कभी बच्चों के साथ जमीन पर बैठ उनके साथ ‘पढ़ाई’ करने लगता है।

छात्रों के साथ आगे की लाइन में बैठना लंगूर का नियमित रुटीन

रतन वर्मा ने बताया कि इसके बाद से किसी भी कक्षा में पहुंचकर छात्रों के साथ आगे की पंक्ति में बैठ जाना लंगूर का नियमित रुटीन की तरह हो गया है।

बुधवार को यह लंगूर प्रधानाध्यापक के कक्ष में पहुंचकर टेबल पर बैठ गया। इसके बाद कक्षाएं शुरू हुईं तो फिर पहली कक्षा में पहुंच गया। भगाने की कोशिश के बावजूद वह कक्षा में ही जमा रहा।


​सुबह 9 बजे स्कूल खुलते ही स्कूल आ जाता है, छुट्टी होने पर निकलता

स्कूल के प्रधानाध्यापक रतन वर्मा ने बताया कि सुबह नौ बजे स्कूल खुलते ही यह विद्यालय परिसर में पहुंच जाता है। अमूमन शाम में छुट्टी के बाद ही यहां से निकलता है। एक हफ्ते पहले वह अचानक स्कूल की नवीं कक्षा में घुस आया तो छात्र-छात्राएं घबरा गए। उसने किसी को नुकसान नहीं पहुंचाया और कक्षा की अगली बेंच पर बैठ गया।

​वन विभाग की टीम की पकड़ में नहीं आया लंगूर

​वन विभाग की टीम की पकड़ में नहीं आया लंगूर
स्कूल टीचर ने बताया कि इस संबंध में वन विभाग को सूचना दी गयी है। एक टीम स्कूल भी पहुंची, लेकिन वह उनकी पकड़ में नहीं आ सका।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular