HomeगोरखपुरGorakhpur news- कोरोना पर वार: गोरखपुर में आज से नाइट कर्फ्यू, इन...

Gorakhpur news- कोरोना पर वार: गोरखपुर में आज से नाइट कर्फ्यू, इन खास सेवाओं पर नहीं होगा प्रतिबंध

विस्तार

कोरोना संक्रमण की रफ्तार कम करने के लिए गोरखपुर में भी नाइट कर्फ्यू लगा दिया गया है। आज रात नौ बजे से कर्फ्यू लग जाएगा, जो सुबह छह बजे तक प्रभावी रहेगा। नाइट कर्फ्यू 18 अप्रैल तक लागू है। हालांकि आवश्यक सेवाओं को इससे मुक्त रखा गया है।

गोरखपुर में कोरोना संक्रमण तेजी से बढ़ा है। इसे देखते हुए जिलाधिकारी के. विजयेंद्र पांडियन ने शनिवार को नाइट कर्फ्यू लगाने का आदेश जारी किया। कर्फ्यू के दौरान बिना वजह घर से निकलने पर रोक रहेगी। यात्रा और स्वास्थ्य सेवाओं से संबंधित मामलों में किसी तरह की रोक नहीं है। ई-पास की भी जरूरत नहीं रहेगी। घर से बाहर निकलने वाले हर व्यक्ति के पास वाजिब कारण होना चाहिए। ऐसा नहीं हुआ तो कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

बिना मास्क बाहर निकलने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। शादी सहित तमाम मांगलिक कार्य रात 10 बजे तक समाप्त कराए जाएंगे। इसके लिए आयोजनकर्ताओं से पहले ही बातचीत की जाएगी। मांगलिक कार्यक्रम के दौरान बंद या फिर खुले स्थान पर एक समय में 100 से ज्यादा लोग नहीं रहेंगे। कंटेनमेंट जोन में मांगलिक कार्यक्रम करने या भीड़ जुटाने पर रोक रहेगी।  

 

रविवार (11 अप्रैल) की रात नौ बजे से 18 अप्रैल तक कर्फ्यू लागू रहेगा। इसका सख्ती से अनुपालन कराया जाएगा। जो व्यक्ति नाइट कर्फ्यू या फिर कोरोना प्रोटोकाल की अनदेखी करेगा, उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।- के. विजयेंद्र पांडियन, डीएम गोरखपुर

रात 10 बजे के बाद न हों सार्वजनिक आयोजन : मुख्यमंत्री

जिला प्रशासन ऐसी व्यवस्था बनाए, जिससे विवाह समारोह समेत अन्य सार्वजनिक आयोजन रात दस बजे तक संपन्न हो जाएं। कोरोना के लगातार बढ़ रहे मामलों को देखते हुए यह निर्देश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दिया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना जांच और टीकाकरण के लिए सरकार के पास पर्याप्त संसाधन मौजूद हैं। निर्देश दिया कि कोविड अस्पतालों में बेड की संख्या में कोई कमी नहीं आनी चाहिए।

समाचार पत्र भी आवश्यक सेवा, किसी तरह की रोक नहीं: डीएम
नाइट कर्फ्यू से प्रिंट व इलेक्ट्रानिक मीडिया कर्मियों को भी मुक्त रखा गया है। वैध फोटोयुक्त पहचान पत्र दिखाकर मीडियाकर्मी अपनी जिम्मेदारियोें का निर्वहन कर सकते हैं। डीएम के. विजयेंद्र पांडियन का कहना है कि समाचार पत्र भी आवश्यक सेवाओं में शामिल है। इसके दिशा-निर्देश पुलिस-प्रशासनिक अधिकारियों को दिए गए हैं। पत्र वितरकों के आने-जाने पर किसी तरह की रोक नहीं है। कोरोना प्रोटोकाल का पालन करते हुए समाचार पत्र ले जाने वाले वाहनों का संचालन भी जारी रहेगा।

रात 10 बजे के बाद न हों सार्वजनिक आयोजन : मुख्यमंत्री

Most Popular