HomeगोरखपुरGorakhpur news- गोरखपुर में बोले सीएम योगी, 'भगवान राम ही आए थे...

Gorakhpur news- गोरखपुर में बोले सीएम योगी, ‘भगवान राम ही आए थे पुष्पक विमान से, अब हर नागरिक आ-जा सकता है’

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को गोरखपुर में भाजपा सरकार के कामों की जमकर तारीफ की। इस दौरान उन्होंने विपक्ष पर भी जमकर निशाना साधा। सीएम ने अपने संबोधन में कहा कि गोरखपुर समेत पूरे प्रदेश में शानदार हुई एयर और रोड कनेक्टिविटी का विस्तार से उल्लेख किया। उन्होंने कहा कि पहले गोरखपुर से एक भी हवाई सेवा नहीं थी, आज मुंबई, दिल्ली समेत आठ प्रमुख शहरों के लिए यहां से फ्लाइट है। कुशीनगर में अंतरराष्ट्रीय विमान सेवा शुरू होने जा रही है। कुशीनगर में जापान, सिंगापुर, श्रीलंका के विमान आने की कल्पना भी किसी ने नहीं की थी। ‘भगवान राम ही पुष्पक विमान से आए थे, अब हर नागरिक आ-जा सकता है।’

सीएम योगी ने सड़को के विस्तारीकरण और चौड़ीकरण का जिक्र करते हुए कहा कि पहले गोरखपुर से लखनऊ जाने का एक ही मार्ग था, अब लिंक एक्सप्रेस वे के जरिए एक और विकल्प मिल रहा है। उतनी ही दूरी को महज 3 घंटे में पूरा किया जा सकता है। फोरलेन सड़कों के होने से आज गोरखपुर से नेपाल की यात्रा महज डेढ़ घंटे में पूरी हो जाती है जबकि पहले डेढ़ घंटे गोरखपुर शहर में ही लग जाता था। आज गांव-गांव सड़क, बिजली और जलनिकासी की व्यवस्था है। अब किसी मंत्री व विधायक के घर तक ही सड़क नहीं बन रही बल्कि हर व्यक्ति को इसका लाभ मिल रहा है क्योंकि हमारे लिए हर व्यक्ति का वही मूल्य है।

उन्होंने कहा कि विकास से ही क्षेत्र की पहचान बनती है और हमारा यह दायित्व होना चाहिए कि हम विकास कार्यों में किसी प्रकार की बाधा न आने दें। उन्होंने जनप्रतिनिधियों व अधिकारियों से कहा कि वे विकास कार्यों की नियमित समीक्षा व भौतिक सत्यापन करते रहें।

पूर्व की सरकारों में नहीं था गांव, गरीब व इलाज

मुख्यमंत्री ने कहा कि पूर्व की सरकारों में गांव, गरीब व इलाज एजेंडे में नहीं था। लोगों को तीन घंटे भी बिजली नहीं मिल पाती थी, मोबाइल की बैटरी तक चार्ज नहीं होती थी। आज गांव गांव बिजली की कमी नहीं है। 1977 से 2017 तक गोरखपुर बस्ती मंडल में हर साल इंसेफेलाइटिस से 1200 से 1500 बच्चों की असमय मौत हो जाती थी। मरने वाले 90 प्रतिशत बच्चे अल्पसंख्यक व दलित होते थे लेकिन इन्हें अपना वोट बैंक बनाने वाले मौन रहते थे। 2017 के बाद इंसेफेलाइटिस पर नकेल कस दिया गया है।

पूर्वी उत्तर प्रदेश के लिए हमने पीएम मोदी से 2014 में एम्स मांगा था। 2016 में पीएम मोदी ने इसका शिलान्यास किया और उस वर्ष के अंत मे विश्व स्तरीय सुविधाओं वाले एम्स का लोकार्पण हो जाएगा। सीएम ने कहा कि एम्स बनने तक इलाज की बेहतरीन सुविधा के लिए प्रधानमंत्री ने मेडिकल कॉलेज में सुपर स्पेशलिटी ब्लॉक की सौगात दी जहां कोरोना काल में कोविड रोगियों की शानदार चिकित्सा सुविधा मिली। यहां हर बेड के साथ वेंटिलेटर है। मुख्यमंत्री ने कहा कि जल्द ही गोरखपुर में आयुष विश्विद्यालय की स्थापना भी होने जा रही है।

 

पर्यटन के क्षेत्र में पूर्वी उत्तर प्रदेश में असीम संभावनाएं

मुख्यमंत्री ने कहा कि पूर्वी उत्तर प्रदेश में पर्यटन के क्षेत्र में असीम संभावनाए हैं। उन्होंने कहा कि इसी माह गोरखपुर के चिड़ियाघर का लोकार्पण हो जाएगा। शेर आ चुके हैं। यह प्रदेश का बेहतरीन चिड़ियाघर होगा, मनोरंजन के साथ ज्ञानवर्धन का माध्यम भी बनेगा। सीएम ने कहा कि याद करें 20 साल पहले गोरखपुर की क्या स्थिति थी। इसकी पहचान अपराध के केंद्र के रूप में थी। यहां के रामगढ़ ताल में शहर की गंदगी गिरती थी। आज रामगढ़ ताल खूबसूरती के लिए जाना जाता है। सार्वजनिक कार्यक्रम के लिए जगह नहीं होती थी और आज महंत दिग्विजय नाथ पार्क और चंपा देवी पार्क जैसे दो बड़े सार्वजनिक स्थान हैं।

इसी माह यहां बड़ी क्षमता का एक अत्याधुनिक प्रेक्षागृह समर्पित करने जा रहे हैं। जिस राजघाट पर गंदगी देख लोगों का मन खिन्न होता था आज वहां हर प्रकार की सुविधा के साथ शानदार प्लेटफार्म और स्नान की बेहतरीन व्यवस्था है। लाखों की संख्या में लोग बाबा गोरखनाथ की धरती पर आस्था निवेदित करने आते हैं। उन्होंने कहा कि गोरखपुर बौद्धिस्ट पर्यटन व सनातन संस्कृति के अनुनायियों का प्रमुख केंद्र है। यहां से होकर ही पर्यटक कुशीनगर, कपिलवस्तु, श्रावस्ती, अयोध्या, मगहर और काशी आते जाते हैं। ऐसे में यहां रोजगार की बड़ी संभावनाएं हैं। स्थानीय युवक इन पर्यटकों के लिए गाइड का कार्य कर सकते हैं।

महिला दिवस पर हर जिले में होंगे विशिष्ट कार्यक्रम

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि 8 मार्च महिला दिवस पर हर जिले में विशिष्ट कार्यक्रम होंगे। इनमें संचालन से लेकर कार्यक्रम को आगे बढ़ाने की भूमिका महिला के ही जिम्मे होगी। महिलाओं के सम्मान व सुरक्षा को लेकर मिशन शक्ति, एन्टी रोमियो स्क्वाड, महिला हेल्प डेस्क आदि का जिक्र करने के साथ ही सीएम ने बताया कि अब कोटे की रिक्त दुकानों का आवंटन महिला स्वयंसेवी समूहों को किया जाएगा। इसके साथ ही पुष्टाहार वितरण का कार्य भी महिला स्वयंसेवी समूहों की दिया जा रहा है। इससे पारदर्शी वितरण में मदद मिलेगी और शिशु-मातृ मृत्यु दर को और कम किया जा सकेगा। मुख्यमंत्री ने लोगों का आह्वान किया वे गांव की बेटी, सबकी बेटी और गांव की बहन सबकी बहन के भाव को जगाएं ताकि पाश्चात्य संस्कृति से आई विकृत सोच को दूर किया जा सके। समाज जागरूक हो जाए तो आधी आबादी के मन मे सुरक्षा का बोध और बढ़ेगा।

 

नगर पंचायत स्तर पर भी होगा पटरी व्यापारियों का व्यवस्थापन

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर महानगर के हरिओम नगर और टीपीनगर में पटरी व्यापारियों के व्यवस्थापन का भी लोकार्पण किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि इससे पटरी व्यापारियों के व्यवस्थित पुनर्वास के साथ ही सड़कों पर अतिक्रमण की समस्या दूर होगी। सीएम योगी ने कहा कि पटरी व्यापारियों के व्यवस्थापन के लिए नगर पंचायत स्तर पर भी कार्ययोजना बनाई जाएगी। उन्होंने कहा कि पटरी व्यापारियों को पीएम स्वनिधि योजना से भी जोड़कर सस्ते दर पर लोन दिलाया गया है। उन्हें डिजिटल मोड़ में लाकर अतिरिक्त लाभ भी मिलेगा। सीएम ने अधिकारियों को हर न्याय पंचायत में गो आश्रय स्थल के निर्माण की कार्ययोजना बनाने और उसमें एनजीओ को जोड़ने का निर्देश भी दिया। साथ ही बताया कि उनकी सरकार ने निराश्रित गोवंश के पालन के लिए हर इच्छुक को 900 रुपए प्रतिमाह धनराशि उपलब्ध कराई है। कुपोषित परिवारों के लिए एक दुधारू गाय प्रतिमाह 900 रुपए पशु के भरण पोषण के लिए देने का कार्य किया है। अब तक 1200 से अधिक ऐसे परिवारों को गाय दी गई है।

पूर्व की सरकारों में नहीं था गांव, गरीब व इलाज

Most Popular