HomeगोरखपुरGorakhpur news- पंचायत चुनाव: अफसरों के वाहन चालकों को बना दिया पीठासीन...

Gorakhpur news- पंचायत चुनाव: अफसरों के वाहन चालकों को बना दिया पीठासीन अधिकारी, बोले- ‘कैसे निभा पाएंगे पढ़ने-लिखने वाली यह ड्यूटी’

विस्तार

गोरखपुर जिले के दर्जन भर से अधिक आला अफसरों के वाहन चालकों की पंचायत चुनाव में पीठासीन अधिकारी के पद पर ड्यूटी लगा दी गई है। ड्यूटी पत्र हाथ में मिलते ही पांचवीं और आठवीं तक की पढ़ाई करने वाले इन चालकों के हाथ-पांव फूल गए हैं। वे ड्यूटी कटवाने के लिए निर्वाचन कार्यालय से लेकर एडीएम और सीडीओ दफ्तर तक के चक्कर लगा रहे हैं।

जिन अफसरों के चालकों की पीठासीन अधिकारी पद पर ड्यूटी लगी है, उनमें सीडीओ के वाहन चालक बजरंग बली दुबे, अपर आयुक्त प्रशासन के चालक खजांची प्रसाद, जिला कृषि अधिकारी के वाहन चालक ओम प्रकाश यादव, उप निदेशक कृषि प्रसार कार्यालय के वाहन चालक राम अचल और परशुराम गुप्ता, राजकीय कृषि विद्यालय में तैनात वाहन चालक गनपति यादव समेत कई अन्य नाम शामिल हैं।

वहां कोई सुनवाई न होने पर कार्रवाई के भय से एक चालक ने तो मंगलवार को एनेक्सी भवन में पहुंचकर पीठासीन अधिकारी के कार्यों का प्रशिक्षण भी ले लिया। सभी एक ही बात दोहरा रहे कि इस पद की जिम्मेदारी कैसे निभाएंगे और यदि वे पीठासीन अधिकारी का काम करेंगे तो साहब लोगों की गाड़ी कौन चलाएगा ?

अफसरों ने ड्यूटी कटवाने के लिए लिखा पत्र

जिन अफसरों के वाहन चालकों की ड्यूटी पीठासीन अधिकारी पद लगी है, उनमें से कई ने मंगलवार को प्रभारी अधिकारी कार्मिक व एडीएम फाइनेंस को पत्र लिखकर इस चूक की जानकारी दी । सभी ने अपने-अपने वाहन चालकों की ड्यूटी कटवाने का अनुरोध किया है। हालांकि समाचार लिखे जाने तक किसी चालक की ड्यूटी नहीं कटी थी। कुछ चालकों का तो कहना है कि ड्यूटी कट गई तो ठीक वर्ना जूनियर हाई स्कूल तक की पढ़ाई से वह चुनाव में क्या करेंगे और उसका क्या नतीजा सामने आएगा, उन्हें भी नहीं पता।

प्रभारी अधिकारी कार्मिक/एडीएम फाइनेंस राजेश सिंह ने बताया कि इस तरह का मामला सामने आया है। दरअसल चुनाव में ड्यूटी लगाने के लिए सभी विभागों से कर्मचारियों की सूची मांगी गई थी। विभाग ने चालकों के नाम भी भेज दिए। ग्रेड-पे स्केल के मुताबिक सॉफ्टवेयर कर्मचारियों की सूची में से पीठासीन अधिकारी समेत अन्य पदों के लिए नाम चुन लेता है। वरिष्ठ होने की वजह से सभी की पे-स्केल बढ़ गई है। जल्द ही संबंधित वाहन चालकों की ड्यूटी काट दी जाएगी।

अफसरों ने ड्यूटी कटवाने के लिए लिखा पत्र

Most Popular