Home लखनऊ Lucknow news- अजीत सिंह हत्याकांड में आठ पर आरोप पत्र दाखिल

Lucknow news- अजीत सिंह हत्याकांड में आठ पर आरोप पत्र दाखिल

लखनऊ। मऊ के मुहम्मदाबाद गोहना के पूर्व उप ज्येष्ठ प्रमुख अजीत सिंह की हत्याकांड में शामिल आठ आरोपियों के खिलाफ पुलिस ने चार्जशीट दाखिल कर दी है। इसमें कुंटू सिंह व अखंड पर साजिश रचने व सुपारी देने का आरोप तय किया गया है। वहीं संदीप सिंह बाबा, अंकुर सिंह व मुस्तफा पर गोलियां बरसाने का आरोप है। इनकी मदद करने के आरोप में प्रिंस सिंह, बंधन सिंह और रेहान भी गिरफ्तार है। इन सभी के खिलाफ पुलिस ने चार्जशीट दाखिल कर दी है। वहीं गिरधारी के खिलाफ इस मामले में पुलिस के पास ठोस सबूत थे लेकिन वह मुठभेड़ में मार गिराया गया था। ऐसे में चार्जशीट में उसका नाम नहीं शामिल हैं। पुलिस के मुताबिक, जल्द ही इस मामले में अन्य चार आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल कर दी जाएगी।

अजीत पर हमले के दौरान मोहर सिंह व राहगीर आकाश भी घायल हुआ था। इस गैंगवार में शूटर राजेश तोमर भी घायल हुआ था। मोहर सिंह ने आजमगढ़ जेल में बंद कुंटू सिंह उर्फ ध्रुव और अखंड व गिरधारी समेत कई लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। पुलिस की जांच में कुंटू सिंह व अखंड को मुख्य साजिशकर्ता और सुपारी देने का आरोप तय हुआ है। इस मामले में मुख्य शूटर गिरधारी उर्फ कन्हैया पुलिस मुठभेड़ में मारा गया था। वहीं ध्रुव सिंह, अखंड सिंह, संदीप सिंह बाबा, मुस्तफा उर्फ बंटी, राजेश तोमर, शिवेंद्र उर्फ अंकुर, अपराधियों की मदद करने वाले बंधन सिंह, प्रिंस सिंह, व रेहान गिरफ्तार किए गए हैं। प्रभारी निरीक्षक विभूतिखंड चंद्रशेखर सिंह के मुताबिक, इन आरोपियों के खिलाफ कोर्ट में चार्जशीट दाखिल कर दी गई है। वहीं पुलिस को शूटर रवि यादव व मददगार विपुल सिंह की तलाश है।

आज होगी राजेश तोमर से पूछताछ

प्रभारी निरीक्षक चंद्रशेखर सिंह के मुताबिक, शूटर राजेश तोमर की पुलिस कस्टडी रिमांड मंजूर हो गई है। उससे बृहस्पतिवार व शुक्रवार को दिन में 10-10 घंटे पूछताछ की जाएगी। बृहस्पतिवार सुबह पुलिस टीम उसे लखनऊ जिला जेल से लेकर विभूतिखंड थाने पहुंचेगी। उसके इलाज के लिए कौन-कौन लोग मदद किये थे, उनके नाम भी पूछे जाएंगे। पुलिस उसके फरारी के दौरान मदद करने वालों और ठिकानों के बारे में जानकारी हासिल करेगी।

सुनील राठी से भी होगी पूछताछ

लखनऊ। अजीत हत्याकांड में शूटर राजेश तोमर को कस्टडी रिमांड पर लेकर पुलिस उससे इस वारदात में सुनील राठी की संलिप्तता को लेकर भी पूछताछ करेगी। जेसीपी (क्राइम) नीलाब्जा चौधरी ने बुधवार को बताया कि शूटर राजेश तोमर चूंकि सुनील राठी गैंग का है, इस वजह से अजीत हत्याकांड में कहीं सुनील राठी का भी तो हाथ नहीं है, इसको लेकर भी छानबीन की जा रही है। राजेश तोमर के बाद बागपत जेल में बंद सुनील राठी से भी पूछताछ की जाएगी।

Most Popular