HomeलखनऊLucknow news- अयोध्या समेत 27 नगर निकायों ने एक भी गरीब को...

Lucknow news- अयोध्या समेत 27 नगर निकायों ने एक भी गरीब को नहीं दिलाया रोजगार

राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन (एनयूएलएम) के तहत शुरू ‘स्वरोजगार कार्यक्रम’ में अयोध्या समेत 27 नगर निकायों की प्रगति शून्य पाई गई है। निकायों में एक भी लाभार्थी को न तो रोजगार से जोड़ा गया और न ही अनुदान आधारित ऋण दिलाया गया। एक रिपोर्ट के मुताबिक इस मामले में सूडा के अधिकारियों की लापरवाही उजागर हुई है। अब ऐसे लापरवाह अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की तैयारी है।

प्रदेश में गरीब परिवारों को रोजगार से जोड़ने के लिए केेंद्रीय मदद से एनयूएलएम की ओर से स्वरोजगार कार्यक्रम का क्रियान्वयन किया जा रहा है। इसके तहत चयनित गरीब लाभार्थियों को व्यक्तिगत ऋण दिलाने,  गरीब परिवारों का समूह बनाकर रोजगार शुरू कराने और बैंकों से लिंक कराके वित्तीय मदद दिलाने का कार्यक्रम चलाया जा रहा है। यह जिम्मेदारी जिलों में तैनात सूडा के परियोजना अधिकारियों को सौंपी गई है। इसके लिए हर महीने का लक्ष्य दिया जाता है। लेकिन पिछले साल का भी लक्ष्य नहीं पूरा हो सका है।

पिछले दिनों हुई समीक्षा बैठक में प्रदेश के 27 नगर निकायों में इस कार्यक्रम की प्रगति शून्य पाई गई है। कई निकायों में एक भी समूह का गठन ही नहीं हुआ तो कई निकायों में समूह गठन के बाद भी उसे बैंकों से लिंक ही नहीं कराया गया है। इससे लोगों को रोजगार से नहीं जोड़ा जा सका है। 

बैंकों से भी नहीं मिल रहा ऋण

योजना के तहत बैंकों से लिंक होने वाले समूह को व्यवसाय करने के लिए अनुदान आधारित ऋण देने की व्यवस्था है। इसमें बैंकों से स्वीकृत दर के मुताबिक 7 प्रतिशत तक का ब्याज संबंधित समूह को देना होता है और शेष ब्याज की राशि एनयूएलएम  वहन करता है। लेकिन अधिकारियों के रुचि न लेने से बहुत से समूहों को ऋण नहीं मिल पा रहा है। 

इन निकायों की प्रगति शून्य

अयोध्या, सुल्तानपुर, अकबरपुर (अंबेडकर नगर), आजमगढ़, बलिया, ज्ञानपुर (भदोही), मोदीनगर (गाजियाबाद), गाजीपुर, हरदोई, पडरौना (कुशीनगर), भिनगा (श्रावस्ती), राबर्ट्सगंज (सोनभद्र),  कन्नौज, कासगंज, मंझनपुर (कौशांबी), शाहजहांपुर, हमीरपुर, झांसी, महोबा, मुरादाबाद, बागपत, बड़ौत (बागपत), बलरामपुर, चंदौली, मुगलसराय (चंदौली), दादरी (गौतमबुद्धनगर) और गाजियाबाद।

Most Popular