HomeलखनऊLucknow news- करोड़ों की धोखाधड़ी में कथित पत्रकार की तलाश

Lucknow news- करोड़ों की धोखाधड़ी में कथित पत्रकार की तलाश

लखनऊ। पानीपत की कंपनी से सरकारी खरीद के नाम पर ऑर्डर देकर 9.62 करोड़ रुपये की पीपीई किट व मास्क हड़पने के आरोपी व कथित पत्रकार फैसल वारसी की तलाश में शनिवार रात एसीपी गोसाईंगंज की टीम ने हरियाणा पुलिस के साथ विभूतिखंड के पार्श्वनाथ प्लेनेट अपार्टमेंट पर छापा मारा। इस दौरान आरोपी के न मिलने पर पुलिस टीम अपार्टमेंट के कुछ लोगों व सिक्योरिटी गार्डों से उसके बारे में पूछताछ कर लौट गई।

विभूतिखंड स्थित पार्श्वनाथ प्लेनेट के टावर नंबर चार के फ्लैट नंबर 1104 में किराए पर रहने वाले फैसल वारसी की तलाश में शनिवार देर शाम एसीपी गोसाईंगंज स्वाति चौधरी ने सुशांत गोल्फ सिटी थाने की पुलिस व हरियाणा पुलिस के साथ छापा मारा। खुद को एक चैनल का पत्रकार बताने वाला फैसल वारसी मूल रूप से बाराबंकी के देवां का रहने वाला है और लखनऊ में वह न्यूज पोर्टल भी चलाता है। दबिश के दौरान फैसल के फ्लैट में न मिलने पर पुलिस टीम लौट गई। मगर कुछ देर बाद ही अपार्टमेंट की पार्किंग में फैसल की गाड़ी खड़ी होने की सूचना मिली तो पुलिस टीम ने दोबारा छापा मारा। हालांकि वहां फैसल का गाड़ी भी नहीं मिली। पुलिस टीम ने अपार्टमेंट के कुछ लोगों व सिक्योरिटी गार्डों से फैसल के बारे में पूछताछ की मगर सभी ने उसके बारे में कोई भी जानकारी न होने की बात कही। छानबीन में पता चला है कि फैसल कुछ महीनों से अपार्टमेंट में किराए पर फ्लैट लेकर रह रहा था। जबकि गोमतीनगर विस्तार के सरस्वती अपार्टमेंट में भी फैसल का फ्लैट होेने की जानकारी मिली है।

एसीपी गोसाईंगंज स्वाति चौधरी ने बताया कि पानीपत की एक निजी कंपनी से सरकारी खरीद के नाम पर 9.62 करोड़ रुपये की पीपीई किट व मास्क सप्लाई कराकर हड़प लिए गए थे। इस मामले में शनिवार को सुशांत गोल्फ सिटी थाने में उत्तर प्रदेश मेडिकल सप्लाइज कॉर्पोरेशन के महाप्रबंधक की ओर से अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया था। एसीपी ने बताया कि छानबीन में फैसल वारसी का नाम उजागर होने पर उसकी तलाश में दबिश दी गई थी।

इंदिरानगर व गोमतीनगर में भी फैसल पर दर्ज हैं केस

लखनऊ। इंदिरानगर के पानी गांव में फ्लैट दिलाने के नाम पर हमीरपुर निवासी मो. इकरार से 18 लाख रुपये ठगने, फिर उसे अगवा कर बंधक बनाकर पीटने के मामले में भी फैसल वारसी व उसके भाई फहद वारसी, महमूद वारसी आदि आरोपी हैं। पीड़ित मो. इकरार ने इन सभी के खिलाफ इंदिरानगर थाने में मुकदमा दर्ज कराया था। इसके अलावा विभूतिखंड की समिट बिल्डिंग स्थित माय बार में युवक-युवतियों को पीटने के मामले में भी कुछ दिन पहले फैसल वारसी व उसके साथियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज हुई थी। इस घटना में युवक-युवतियों की पिटाई का वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था।

Most Popular