HomeलखनऊLucknow news - कागजों में `स्वर्गवासी` विश्वनाथ कह रहे मैं जिंदा हूं:...

Lucknow news – कागजों में `स्वर्गवासी` विश्वनाथ कह रहे मैं जिंदा हूं: हरदोई में सिस्टम की लापरवाही, खुद को जिंदा साबित करने के लिए 20 साल से लगा रहे चक्कर, पीड़ित बोला मेरे नाम पर किसी ने बनवा लिया मृत्यु प्रमाण पत्र

जिंदा साबित करने के लिए रोज अधिकारियों के दफ्तरों के चक्कर लगा रहा है। यह सिलसिला साल दो साल से नही बल्कि 20 साल से लगा चला आ रहा है। - Dainik Bhaskar

जिंदा साबित करने के लिए रोज अधिकारियों के दफ्तरों के चक्कर लगा रहा है। यह सिलसिला साल दो साल से नही बल्कि 20 साल से लगा चला आ रहा है।

उत्तर प्रदेश के हरदोई में आम और छोटी-छोटी समस्याओं को लेकर अधिकारियों के दफ्तरों के बाहर तमाम लोगों के भटकते देखा जाना आम बात है, लेकिन टड़ियावां थाना क्षेत्र के बहोरवा गांव का रहने वाला विश्वनाथ उर्फ सिमरन पांडेय अपने आप को जिंदा साबित करने के लिए रोज अधिकारियों के दफ्तरों के चक्कर लगा रहा है। यह सिलसिला साल दो साल से नही बल्कि 20 साल से लगा चला आ रहा है और सिस्टम की लापरवाही के कारण दस्तावेज़ में ‘स्वर्गवासी’ खुद को ज़िंदा साबित करने की जद्दोजहद में जुटा हुआ है।

टड़ियावां थाना क्षेत्र के बहोरवा गांव के रहने वाले विश्वनाथ उर्फ सिमरन पांडेय का कहना है कि उसके माता पिता दिव्यांग थे। उसकी देखभाल उसकी बुआ ने की और वह काफी समय से हरदोई के एक टेंट हाउस में काम करके अपना पेट भर रहा है।

कागजों में मरा दिखा हड़प ली जमीनउसके मां बाप की दिव्यांगता का फायदा उठाकर और मौत के बाद उसके ही गांव के कुछ लोगों ने उसको भी कागजों में मृत घोषित कर दिया और उसकी गांव की 13 बीघा जमीन पर कब्जा कर लिया।आरोप है कि इन लोगों ने फर्जी बैनामा भी करा लिया है।

पीड़ित व्यक्ति का कहना है कि वह दफ्तरों के चक्कर काट रहा है कि जिन लोगों ने उसके साथ ऐसा किया है, उन पर कार्रवाई की जाए। उसको या तो जमीन वापस दिलाई जाए अन्यथा उस जमीन का पैसा दिलाया जाए।

कागजों में जिंदा नहीं, इसलिए हक नहीं मिल रहास्वर्गवासी शख्स अधिकारियों के दफ्तरों के चक्कर इस उम्मीद में लगा रहे हैं कि कोई उन्हें कागजों में जिंदा कर दे और उसको उसका हक मिल सके। उप जिलाधिकारी सौरभ दुबे ने बताया मामला संज्ञान में आया है, सेक्रटरी के ख़िलाफ़ विभागीय जांच शुरू कर दी गई है।

खबरें और भी हैं…

Most Popular