HomeलखनऊLucknow news - कोरोना का असर: आसमान छू रहे नींबू के दाम,...

Lucknow news – कोरोना का असर: आसमान छू रहे नींबू के दाम, एक सप्ताह में 5 गुना अधिक बढ़ गये दाम; आलू के भाव में भी हुआ इजाफा

यूपी में कोरोना की वहज से नीबू � - Dainik Bhaskar

यूपी में कोरोना की वहज से नीबू �

40 में बिकने वाला नींबू बिक रहा 200 रुपए किलो, मुनाफाखोरी में फुटकर दुकानदार सबसे आगे‚मोबाइल बंद रखते हैं मंड़ी प्रभारी

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में नींबू के दाम आसमान छू रहे हैं। एक सप्ताह पहले तक 30 से 40 रुपए किलो के भाव बिकने वाला नीबू इस समय फुटकर बाजार में 200 रुपये किलो बिक रहा है। व्यापारी बताते हैं कि नीबू के दामों में बेतहासा वृद्धि के पीछे कोरोना और नवरात्रि में इसकी भारी डिमांड होने के साथ ही फुटकर दुकानदारों द्वारा की जा रही मुनाफाखोरी भी जिम्मेदार है। नींबूू को बिटामिन सी का बेहतरीन स्रोत माना जाता है। वहीं नवरात्रि होने की वजह से आलू के दाम भी आसमान छू रहे हैं।

कोरोना काल में चिकित्सक भी संक्रमण से बचने के लिए बिटामिन सी का भरपूर प्रयोग करने की सलाह दे रहे हैं। इसके चलते लगभग सभी लोग नींबू का अधिक से अधिक उपयोग करने लगे हैं। इसके साथ ही नवरात्रि में भी नीबू की खपत में भारी बढ़ोतरी हो जाती है।

इन सभी कारणों के साथ ही व्यापारियों और बिचौलियों का भी खेल इसमें शामिल है। दुबग्गा थोक सब्जी मंड़ी और नवीन गल्ला मंड़ी के व्यापारी बताते हैं इस समय आंध्र प्रदेश का नींबू प्रदेश की मंडियों में आ रहा है। भारी मांग के बावजूद थोक में नीबू के दाम फुटकर की अपेक्षा काफी कम हैं।

थोक मंड़ी में नीबू की कीमत चार से पांच हजार रुपए क्विंटल (40 से 50 रुपए किलो) ही है। थोक के बाद सारा खेल फुटकर बाजार का ही है। फुटकर दुकानदार 50 रुपए किलो में नींबू खरीदकर चार गुना अधिक कीमत में बेच रहे हैं।

सब्जियां खरीदते ग्राहक। हालांकि इस दौरान मंडी में भीड़ काफी कम दिखाई दी।

सब्जियां खरीदते ग्राहक। हालांकि इस दौरान मंडी में भीड़ काफी कम दिखाई दी।

नवरात्रि की वजह से आलू के दाम भी बढ़ेनींबू के साथ ही आलू की कीमतें भी चार दिनों से अचानक बढ़ गयी हैं। थोक बाजार में आलू की कीमत 10 से 11 रुपए किलो तथा फुटकर बाजार में आलू 20 रुपए किलो तक पहुंच गया है। आलू की कीमतों में बढ़ोतरी का प्रमुख कारण भी नवरात्रि ही हैं। नवदुर्गा के वृती लोग खाने में आलू की ही अधिक प्रयोग करते हैं।

नीबू की आवक और चार गुना अधिक दामों की बाबत जब नवीन गल्ला मंड़ी के प्रभारी अमित यादव से बात करने का प्रयास किया गया तो उनका मोबाइल नम्बर बंद मिला। कोरोना संक्रमण के इस दौर में नवीन गल्ला मंड़ी के प्रभारी जैसे अहम पद की जिम्मेदारी वाले अधिकारी का मोबाइल बंद रखना भी आश्चर्यजनक है।

इस बाबत लखनऊ मंड़ी सचिव संजय सिंह से बात करने पर उन्होंने नींबू और आलू की आवक और बिक्री से संबंधित जानकारी दी। उन्होंने यह भी कहा कि वह निर्देश जारी करेंगे कि मंडियों में ड्यूटी कर रहे सभी अधिकारी/कर्मचारी किसी भी हालत में मोबाइल बंद नहीं नहीं रखें।

खबरें और भी हैं…

Most Popular