HomeलखनऊLucknow news- खास बातचीत: डीजीपी मुकुल गोयल बोले- प्रदेश में कानून का...

Lucknow news- खास बातचीत: डीजीपी मुकुल गोयल बोले- प्रदेश में कानून का राज और अपराधियों पर शिकंजा हमारी पहली प्राथमिकता

विस्तार

उत्तर प्रदेश के नए होने वाले डीजीपी मुकुल गोयल ने कहा है कि उनकी प्राथमिकता प्रदेश में कानून का राज स्थापित करने और अपराधियों पर शिकंजा कसना रहेगी। डीजीपी के पद पर नियुक्ति के फैसले के बाद गोयल ने अमर उजाला से खास बातचीत में कहा कि जो जिम्मेदारी मुझे दी गई है उसे पूरी ईमानदारी और मेहनत के साथ निभाऊंगा।

उन्होंने कहा कि प्रदेश में कानून को हाथ में लेने वालों के साथ कोई समझौता नहीं किया जाएगा। मुख्य फोकस अपराध नियंत्रण पर रहेगा। पुलिस को अपराधियों के खिलाफ कार्रवाई करने की पूरी छूट रहेगी।

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश एक बड़ा राज्य है। यहां दुनिया की सबसे बड़ी पुलिस फोर्स है। ऐसे में जिम्मेदारी भी बड़ी हो जाती है। उन्होंने कहा कि फोर्स के लोगों की जो जरूरतें हैं उन्हें पूरा करने की कोशिश होगी। आम लोगों की सुनवाई हो इसकी व्यवस्था सुनिश्चित की जाएगी।

उन्होंने कहा कि यूपी में पिछले दिनों अपराधियों के खिलाफ अभियान छेड़कर कार्रवाईयां की गई हैं। यह आगे भी जारी रहेंगी। पुलिस ने कई अच्छे काम किए हैं। उन्होंने कहा कि जो अच्छा काम करेगा उसे पुरस्कार मिलेगा और छवि खराब करने वालों को सजा मिलेगी।

मुकुल गोयल फिलहाल केंद्र में बीएसएफ में एडीजी हैं। शुक्रवार तक वह केंद्र से उत्तर प्रदेश के लिए कार्यमुक्त हो जाएंगे। इसी दिन प्रदेश के डीजीपी का चार्ज लेने की संभावना है।

इन जिलों में पहले रह चुके हैं तैनात

बता दें कि मंगलवार को संघ लोक सेवा आयोग ने यूपी के तीन वरिष्ठतम आईपीएस अधिकारियों का नाम तय कर प्रदेश सरकार को भेजा गया था। इसमें 1986 बैच के आईपीएस नासिर कमाल, 1987 बैच के मुकुल गोयल और इसी बैच के आरपी सिंह का नाम शामिल था। प्रदेश सरकार ने इन तीनों में से गोयल को डीजीपी नियुक्त करने का निर्णय लिया है। गोयल मूल रूप से शामली के रहने वाले हैं। वह 2016 से केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर हैं।

गोयल सपा शासनकाल में 27 सितंबर, 2013 से 8 मई, 2015 तक एडीजी कानून-व्यवस्था के पद पर रह चुके हैं। इसके अलावा अल्मोड़ा (अब उत्तराखंड में), जालौन, मैनपुरी, आजमगढ़, हाथरस, गोरखपुर, वाराणसी, सहारनपुर, मेरठ के एसएसपी और कानपुर, आगरा व बरेली रेंज के डीआईजी और बरेली जोन के आईजी रह चुके हैं।

इन जिलों में पहले रह चुके हैं तैनात

Most Popular