Home लखनऊ Lucknow news - देवोत्थान एकादशी पर्व पर पंचकोसी परिक्रमा: अयोध्या में संत-महंतों...

Lucknow news – देवोत्थान एकादशी पर्व पर पंचकोसी परिक्रमा: अयोध्या में संत-महंतों के अलावा स्थानीय श्रद्धालु उमड़े, हवा में उड़े कोरोना से बचाव के नियम

यह फोटो अयोध्या की है। बुधवार को यहां पंचकोसी परिक्रमा शुरू हुई है।

सुबह शुभ मूहुर्त में श्रद्धालुओं ने परिक्रमा शुरू की, बड़ी संख्या में महिलाएं भी शामिलबिना मास्क के हजारों लोग करते दिखे परिक्रमा, सोशल डिस्टेंसिंग भी नदारद

यूं तो व्रत व त्यौहारों पर धार्मिक नगरी अयोध्या गुलजार ही रहती है, लेकिन कार्तिक माह में इसकी आध्यात्मिक आभा और रोशन हो उठती है। दीपोत्सव, 14 कोसी परिक्रमा के बाद आज देवोत्थानी एकादशी पर पंच कोसी परिक्रमा हो रही है। सुबह शुभ समय में श्रद्धालुओं ने परिक्रमा शुरू की। इस बार बाहरी जिलों के श्रद्धालुओं को जिले में एंट्री नहीं दी गई। बड़ी संख्या में स्थानीय लोग व संत महंत परिक्रमा कर रहे हैं। परिक्रमा पथ पर पुलिस और प्रशासन की टीमों द्वारा लोगों को कोरोना से बचाव के उपाय का खास ख्याल रखने के लिए प्रेरित किया जा रहा है।

परिक्रमा करते स्थानीय लोग व संत।

परिक्रमा करते स्थानीय लोग व संत।

इस साल सीमित संख्या में लोग परिक्रमा करने पहुंचे

अयोध्या में 14 कोसी परिक्रमा के बाद देवोत्थानी एकादशी पर पांच कोसी परिक्रमा होती है। बुधवार को एकादशी के शुभ मुहूर्त 4.11 बजे परिक्रमा शुरू हो गई। इसमें अयोध्या व फैजाबाद नगरों के शहरी लोग, महिलाएं व छात्र छात्राएं ज्यादा हिस्सा ले रहें हैं। पिछले साल अयोध्या नगर की 5 कोस लंबी सीमा पर बने परिक्रमा मार्ग पर नंगे पांव चल कर करीब 15 लाख श्रद्धालुओं ने परिक्रमा पूरी की थी। लेकिन इस साल कोविड संक्रमण के चलते इसमें लोगों को सीमित संख्या में हिस्सा लेने की अपील प्रशासन ने किया है। वहीं, रामादल ट्रस्ट ने परिक्रमा में आने वाले श्रद्धालुओं को आज नयाघाट चौराहा, गोलाघाट सहित परिक्रमा मार्ग पर 10 हजार से अधिक मास्क का वितरण किया।

कोविड प्रोटोकॉल का पालन करवाने के लिए कोविड जांच व सैनिटाइजर मास्क आदि की व्यवस्था के लिए कैंप लगाए गए हैं। इसके बावजूद बडी संख्या में लोग परिक्रमा में बिना मास्क लगाएं चल रहे हैं। प्रशासन का दावा है कि मुफ्त में मास्क देने की व्यवस्था की गई है।

नंगे पांव परिक्रमा करता बुजुर्ग संत।

नंगे पांव परिक्रमा करता बुजुर्ग संत।

19 चेक पोस्ट पर हो रही चेकिंगडीएम एके झा ने बताया कि जिले के बार्डर पर यहां 19 चेक पोस्ट बनाए गए हैं। वहां बाहर की भीड़ को रोकने के लिए चेकिंग की जा रही है। उनकी रैंडम थर्मल स्कैनिंग व कोविड लक्षण पाए जाने पर जांच भी करवाने की व्यवस्था की गई है।

सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम

डीआईजी दीपक कुमार के मुताबिक पांच कोसी परिक्रमा क्षेत्र को 3 जोन में बांट कर संरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। इसके अलावा कार्तिक पूर्णिमा मेला का समापन 30 नवंबर को सरयू स्नान से होगा। इसको लेकर भी पुलिस विभाग ने पुख्ता इंतजाम किया है।

Input – Bhaskar.com

Most Popular