HomeलखनऊLucknow news- नाइट कर्फ्यू का दूसरा दिन : रात नौ बजे बाजारों...

Lucknow news- नाइट कर्फ्यू का दूसरा दिन : रात नौ बजे बाजारों और सड़कों पर सन्नाटा

राजधानी में शुक्रवार को नाइट कर्फ्यू के दूसरे दिन शाम के सात बजते ही ज्यादातर इलाकों में कारोबारी दुकानें बढ़ाने लगे थे। साढ़े आठ बजते-बजते ज्यादातर इलाकों में शटर बंद हो चुके थे।

इक्का-दुक्का जो खुले रह गए थे, वे भी नौ बजे से पहले बंद हो गए। अमीनाबाद में सवा आठ बजे तक ज्यादातर दुकानदार घर जा चुके थे, चौक में भी साढ़े आठ से पहले शटर गिर चुके थे और रेस्टोरेंट खाली हो चुके थे।

डालीगंज में जरूरी सामानों की एक-दो दुकानें छोड़ सभी दुकानें बंद हो गई थीं। पौने नौ बजे अलीगंज की सड़कों पर सन्नाटा पसरा था। कानपुर रोड, चारबाग व कुछ इलाकों में गुमटी वाले भी नौ बजते ही दुकान बंद कर घर को जा चुके थे।

वहीं, गोमतीनगर व निशातगंज के कुछ कारोबारियों ने शुक्रवार सुबह से ही मेसेज कर ग्राहकों को दुकानों और स्टोरों के खुलने व बंद होने के बदले समय की जानकारी दी।

ऐसे स्टोर जहां एक ही छत के नीचे सारा सामान मिलता है, वहां सुबह सात से शाम सात बजे तक का समय कर दिया गया है। वहीं, निशातगंज में कुछ दुकानें आगामी सहालग को देखते हुए सुबह 9.30 बजे से खोली जाने लगी हैं।

कई इलाकों में देर रात तक खुली रहीं दुकानें

नाइट कर्फ्यू के दूसरे दिन शुक्रवार को देर रात को कई इलाकों में दुकानें खुली रहीं। खासकर कृष्णानगर व आशियाना इलाके में देर रात तक दुकानदार कारोबार करते रहें। आशियाना के पराग डेयरी इलाके में देर रात को सब्जी, जूस और अन्य सामानों की दुकानें खुली रहीं। वहीं, कृष्णानगर में थाने से महज चंद कदमों की दूरी फिनिक्स मॉल के करीब होटल व पान मसाले की दुकानें भी खुली रहीं। वहीं, पावर हाउस चौराहे पर भी दुकानें खुली मिलीं। इसके अलावा सरोजनीनगर और कैंट इलाके में भी कुछ जगहों पर दुकान खुलने की सूचनाएं थी।

नाइट कर्फ्यू में दोगुना हुआ किराया

नाइट कर्फ्यू के दौरान बाहर से आने वाले यात्रियों के लिए काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। कैसरबाग बस अड्डे से सवारियां मिली, लेकिन किराया आम दिनों के मुकाबले दोगुना हो गया था। ई-रिक्शा व ऑटो मनमाने तरीके से किराए मांग रहे थे। चारबाग से कैसरबाग तक का किराया सामान्य दिनों में 30 रुपये होते थे। वहीं शुक्रवार रात को यात्रियों से ऑटो व ई-रिक्शा चालकों ने 50 से 60 रुपये तक वसूले।

नौ बजते बजते सड़कों सन्नाटा

डालीगंज से मोहन मेकिंन फैक्टरी की तरफ जाने वाले मार्ग पर शुक्रवार रात नौ बजते बजते लगभग 100 दुकानें बंद हो गईं और सन्नाटा पसर गया। जबकि यह मार्ग रात 11 बजे तक गुलजार रहता था।

Most Popular