HomeलखनऊLucknow news - मां ने भूखी बच्ची को जिंदा दफना दिया: हरदोई...

Lucknow news – मां ने भूखी बच्ची को जिंदा दफना दिया: हरदोई में मां और दो बच्चियों को कई दिन से नहीं मिल रहा था खाना, दो साल की छोटी बेटी बीमार हुई तो उसे जिंदा दफना दिया, ग्रामीणों ने निकाला

ये वो मजबूर मां जिसने बच्ची को दफना दिया था। ग्रामीणों ने उसे बाहर निकाल लिया। - Dainik Bhaskar

ये वो मजबूर मां जिसने बच्ची को दफना दिया था। ग्रामीणों ने उसे बाहर निकाल लिया।

उत्तर प्रदेश के हरदोई जिले में समाज को झकझोर देने वाला मामला सामने आया है। यहां एक मां ने अपनी दो साल की बच्ची को सिर्फ इसलिए जिंदा दफना दिया क्योंकि वह उसको खाना नहीं दे पा रही थी। यह महिला गांव में अपनी दो बेटियों के साथ रह रही थी और पिछले कई दिनों उसके खाने पीने का सही इंतजाम नहीं था। वह खुलकर गांव वालों को कुछ बता भी नहीं रही थी। ग्रामीणों को जैसे ही बच्ची को दफनाने की सूचना मिली तो उन्होंने तत्काल मौके पर पहुंचकर बच्ची को बाहर निकाला। बच्ची जीवित है, तीनों को चाइल्डलाइन की टीम को सौंप दिया गया है। महिला भी बदहवास सी हालत में है कुछ बता भी नहीं पा रही है।

कई दिन से नहीं मिल रहा था खाना

मामला हरदोई जिले के लोनार थाना सकरौली गांव का है। यहां के भगवानदीन की 02 वर्ष पहले मौत हो गई थी। भगवान दीन अपने पीछे तीन बच्चे और पत्नी को छोड़ गया था। भगवानदीन की मौत के बाद उसकी पत्नी एक बेटा और दो बेटियां गांव में मांगकर और कुछ छोटा मोटा काम करके गुजारा करने लगी। खाने पीने की व्यवस्था न देखकर भगवान दीन बहन उसके बेटे को लेकर अपने साथ ले गई। यहां भगवान दीन की पत्नी और सात साल की बेटी नंदिनी और 2 साल की बेटी मधु रह गईं। जैसे, तैसे इन तीनों का गुजारा चल रहा था, लेकिन पिछले कुछ दिनों से उनके खाने का कोई इंतजाम नहीं हो पा रहा था। महिला ने ग्रामीणों को भी अपनी समस्या नहीं बताई थी।

इस महिला की दो बच्चियां एक की उम्र 5 साल और दूसरी की दो साल है।

इस महिला की दो बच्चियां एक की उम्र 5 साल और दूसरी की दो साल है।

छोटी बच्ची को हो गया कुपोषण

गांव में कई दिनों तक खाना नहीं मिल पाने के कारण छोटी बच्ची कुपोषण का शिकार हो गई। वह कई दिनों से लगातार कमजोर होती चली जा रही थी। महिला के पास न तो दवा कराने के पैसे थे और न खाना ही खिलाने का इंतजाम था। ऐसे में बेबस मां ने मजबूर होकर गांव के नजदीक ही एक तालाब के पास गड्ढा खोदकर अपनी कुपोषित बच्ची को दफना दिया। इसी बीच किसी तरह गांव वाले मौके पर पहुंच गये व उन्होंने बच्ची को जिंदा बाहर निकाल लिया, चाइल्डलाइन को सूचना दी। चाइल्ड लाइन की टीम ने मौके पर पहुंचकर मां व उसकी दोनों बच्चियों को अपने संरक्षण में ले लिया है। चाइल्डलाइन हरदोई केंद्र के समन्वयक अनूप तिवारी ने बताया की मां व बच्चियों को बाल संरक्षण समिति के समक्ष पेश किया जाएगा व उनकी देखभाल के लिए पूरी व्यवस्था की जाएगी।

खबरें और भी हैं…

Most Popular