HomeलखनऊLucknow news- मोहर सिंह ने जब तोमर को मारी गोली तो गुस्साकर...

Lucknow news- मोहर सिंह ने जब तोमर को मारी गोली तो गुस्साकर उसने दोबारा अजीत पर बरसाई थीं गोलियां

लखनऊ। मऊ के मुहम्मदाबाद गोहना के पूर्व उप ज्येष्ठ प्रमुख अजीत सिंह हत्याकांड के आरोपी शूटर राजेश तोमर से बृहस्पतिवार को पुलिस ने पूछताछ की। उसने बताया कि वारदात केदौरान मोहर सिंह की गोली से वह घायल हो गया था। वहीं गोलियों से छलनी अजीत सिंह सड़क पर तड़प रहा था। भागते समय उसने मोहर की तलाश की लेकिन वह नहीं मिला। उसने बाइक से उतरकर अजीत पर दोबारा पांच से सात राउंड गोलियां बरसाई थीं। राजेश ने कहा कि मोहर दिख जाता तो उसे भी मार डालता। इसके बाद वह अपने साथी के साथ भाग निकला। पुलिस के सामने कुबूल किया कि वह मुन्ना बजरंगी की हत्या के आरोपी सुनील राठी गिरोह का सदस्य है।

पुलिस केमुताबिक, अजीत सिंह की 6 जनवरी को गोलियों से भूनकर हत्या कर दी गई थी। इस हत्याकांड के दौरान घायल श्ूाटर राजेश तोमर उर्फ जय के कस्टडी रिमांड का बृहस्पतिवार को पहला दिन था। पुलिस की पूछताछ में उसने कुबूला कि वारदात के दिन विपुल ही उसे फॉर्च्यूनर से सुल्तानपुर के एक निजी अस्पताल में ले गया था। वहां दो दिन तक इलाज कराने के बाद विपुल ही उसे अलीगढ़ लेकर गया। अलीगढ़ में कुछ दिन अपने घर में रुका था। इसके बाद सुनील राठी ने उसके लिए टैक्सी भेजी जिससे वह मेरठ, नोएडा होते हुए दिल्ली पहुंचा।

वारदात के एक माह पहले बाहर जाना कम कर दिया

राजेश ने बताया कि गिरधारी उर्फ कन्हैया के कहने पर सभी शूटरों ने एक महीने पहले से ही अपार्टमेंट से बाहर जाना बंद कर दिया था। गिरधारी ही एक महीने में दो से तीन बार बाहर गया। इस दौरान वह सिर्फ आजमगढ़ जेल में बंद कुंटू सिंह व अखंड सिंह से मिलने गया था। वह दोनों के नाम मुलाकात कर वापस आने के बाद लेता था। लखनऊ में उसने दो से तीन बार जौनपुर के पूर्व सांसद व बाहुबली नेता धनंजय सिंह से मिलने की बात भी कही थी। राजेश तोमर के पुलिस कस्टडी रिमांड के पहले दिन प्रभारी निरीक्षक विभूतिखंड चंद्रशेखर सिंह, डीसीपी संजीव सुमन, एडीसीपी एसएम कासिम आबिदी ने काफी देर तक पूछताछ की। इस दौरान उसने कई अहम जानकारियां दीं। पुलिस अधिकारियों ने इन जानकारियों को पुष्ट करने के लिए टीम लगा दी है। पूछताछ के बाद शाम को उसे जिला जेल भेज दिया गया। शुक्रवार को उससे दोबारा पूछताछ की जाएगी।

Most Popular