HomeलखनऊLucknow news - लखनऊ में 'कर्फ्यू की पहली नाइट' की रिपोर्ट: एक...

Lucknow news – लखनऊ में ‘कर्फ्यू की पहली नाइट’ की रिपोर्ट: एक घंटे पहले से ही बंद होना शुरू हो गई दुकानें, सड़कों पर दिखी पुलिस की सख्ती; दुकानदार बोले- बस लॉकडाउन न लगे

गाजीपुर थाना क्षेत्र के पॉलिटेक्निक चौराहे पर नाइट कर्फ्यू के दौरान रोड पर निकले लोगों से पूछताछ करते हुए पुलिस टीम। - Dainik Bhaskar

गाजीपुर थाना क्षेत्र के पॉलिटेक्निक चौराहे पर नाइट कर्फ्यू के दौरान रोड पर निकले लोगों से पूछताछ करते हुए पुलिस टीम।

लखनऊ के नगर निगम क्षेत्र में रात 9 बजे से सुबह 6 बजे तक नाइट कर्फ्यू की घोषणा होते ही शहर में लॉकडाउन लगने की चर्चा होने लगी। लोगों को आशंका होने लगी है कि कोरोना के हालात जल्द न सुधरे तो लॉकडाउन भी लग सकता है। वहीं, पुलिस ने भी अपनी तैयारियां पूरी कर ली थी। शहर के बड़े बाजार के दुकानदारों को ताकीद कर दिया गया था कि 9 बजे दुकानें हर हाल में बंद हो जाए। जिसका असर भी दिखा। रात 9 बजे ही लखनऊ में सन्नाटा सा पसर गया। हां… सड़कों पर छोटे-बड़े वाहन जरूर फर्राटा भरते नजर आए। दैनिक भास्कर ने नाइट कर्फ्यू के पहले दिन राजधानी के 7 इलाकों का निरीक्षण कर वहां का हाल जाना। एक रिपोर्ट….

हजरतगंज: बाजार में दिखी पुलिसवालों की गश्त, 9 बजे ही मार्केट में पसरा सन्नाटा

गुरुवार रात 9 बजे राजधानी लखनऊ का दिल कहे जाने वाले हजरतगंज की मार्केट देखते ही देखते पूरी तरह से बंद हो गई। यहां आम दिनों में लोग 11 बजे तक घूमते और शॉपिंग किया करते हैं। ADCP चिरंजीवी नाथ सिन्हा और हजरतगंज कोतवाल श्याम बाबू शुक्ला महिला फोर्स के साथ पैदल गस्त करते हुए बाजार बंद करवाने माइक से एनाउंसमेंट करते हुए निकले। कोतवाली से पैदल पुलिस टीम जैसे ही हलवासिया चौराहा, मेफेयर चौराहा होते हुए साहू सिनेमा की तरफ आगे बढ़ी, वैसे ही दोनों तरफ की दुकानें बंद होते हुए दिखाई दी। चौराहे से सिर्फ आने जाने वाले वाहन अपने गंतव्य तक पहुंचने के लिए बेताब नजर आ रहे थे।

हजरतगंज में जनपथ मार्केट।

हजरतगंज में जनपथ मार्केट।

नरही की गली वाली बाजार में बिल्कुल सन्नाटा पसर गया। इक्का-दुक्का दुकानें खुली थीं तो पुलिस ने उन्हें समझाते हुए दुकान जल्दी बन्द करने की बात कही। हजरतगंज चौराहे पर 40 साल पुरानी दुकान न्यू सिंधु स्टॉल के मालिक श्रीचंद तिलोनी का कहना है कि सख्ती तो होनी ही चाहिए तभी कोरोनावायरस से बचा जा सकता है, लेकिन यह सख़्ती हम लोगों के लिए परिवार चलाने में दिक्कत देती है। एक बार फिर से नाइट कर्फ्यू देखने को मिल रहा है। बस ऊपर से वाले से यही दुआ है कि लॉकडाउन न लगे और कोरोना से जो हालात बिगड़े हैं फिर से सुधर जाएं।

गस्त करते हुए हजरतगंज पुलिस टीम।

गस्त करते हुए हजरतगंज पुलिस टीम।

चारबाग रेलवे स्टेशन, बस स्टेशन का हाल

रंग बिरंगी लाइटों से सजे चारबाग रेलवे स्टेशन के बाहर ऑटो-टेंपो और आने जाने वाले यात्री ही दिखाई पड़ रहे थे। फिलहाल वह भीड़ तो नहीं दिखाई पड़ रही थी जो आम दिनों में चारबाग रेलवे स्टेशन पर देखी जा रही थी। चारबाग रेलवे स्टेशन की तरफ मुड़ने वाली सड़क पर ही पुलिसकर्मी खड़े हुए थे, जो आने-जाने वाले लोगों से स्टेशन आने की वजह पूछ रहे थे। चारबाग टेंपो स्टैंड पर बिल्कुल सन्नाटा था, कुछ यात्री जो ट्रेन से आए वह ऑटो बुक कर अपने घर जा रहे थे। इसी तरह से चारबाग बस स्टेशन पर यात्री दिखाई पड़ रहे थे। चारबाग से पान दरीबा जाने वाली मार्केट के बीच पड़ने वाले करीब 60 से ज्यादा होटल रेस्टोरेंट जो देर रात तक खुले रहते थे वह 9 बजे तक बंद हो गए थे। यह वह मार्केट है, जहां रात 3 बजे तक यात्री और लखनऊ के लोग भोजन करने आया करते हैं।

चारबाग रेलवे स्टेशन का दृश्य।

चारबाग रेलवे स्टेशन का दृश्य।

कैसरबाग की मंडी, अमीनाबाद की मेडिसिन मार्केट का हाल

शहर का सबसे पॉश इलाका कहे जाने वाले अमीनाबाद की मार्केट गुरुवार होने के बावजूद समय से पहले बंद हो गई थी। जहां दिन में पैर न रखने की जगह वाली बाजार में रात 9 बजे से पहले ही सन्नाटा सा हो गया था। यहां की मेडिसिन मार्केट भी बंद हो गई, जोकि 11:00 से 12:00 बजे तक बंद होती थी। हीवेट रोड, श्री राम रोड, अमीनाबाद पार्क के बाजार की सड़कें पूरी तरीके से सन्नाटे में तब्दील हो गई थी। कैसरबाग चौराहे पर पुलिस के अलावा आवागमन करने वाली गाड़ियां ही आते जाते दिखाई पड़ रही थी। आनंद सिनेमा हॉल व शुभम सिनेमा हॉल के बाहर नाम मात्र की गाड़ियां भी नहीं खड़ी थीं।

मेडिसिन मार्केट, कैसरबाग, अमीनाबाद।

मेडिसिन मार्केट, कैसरबाग, अमीनाबाद।

भूतनाथ बाजार में भी छाया था सन्नाटा

इंदिरानगर का भूतनाथ बाजार मिनी हजरतगंज कहलाता है। दोपहर में यहां भीड़ ही भीड़ दिखाई पड़ती है, लेकिन नाइट कर्फ्यू की वजह से समय से पहले ही दुकाने बंद हो गयी। दुकानदारों का मानना है कि लगन का समय है, अभी रात में सख्ती तो ठीक है। लेकिन दिन का लॉकडाउन लगा तो पिछली बार की तरह कई काफी घाटा होगा। बहरहाल, यहां आने जाने वाले बहुत ही कम संख्या में दिखायी पड़ी। वहीं जुगौली क्रासिंग पर पुलिसकर्मी बैरिकेडिंग लगाकर चेकिंग करते दिखाई पड़े। पुलिसकर्मियों का मानना है कि अभी जागरूकता नहीं दिख रही है। इसलिए जांच करना जरूरी है। हालांकि ज्यादातर वही लोग निकल रहे हैं जो जरूरी काम से बाहर निकले हैं।

भूतनाथ मार्केट में पसरा सन्नाटा।

भूतनाथ मार्केट में पसरा सन्नाटा।

गोमतीनगर इलाके में भी समय से पहले बंद हो गयी चहल पहल

गोमतीनगर के पत्रकारपुरम चौराहे पर बने मनीष ईटिंग पॉइंट पर नॉनवेज लवर्स की भीड़ रात 12 बजे तक अमूमन रहती है तो वहीं पत्रकारपुरम बाजार भी बंद होते होते 11 बज जाते हैं। लेकिन गुरुवार को रात 9 बजे से पहले ही सड़क पर सन्नाटा पसर गया। जैसे रात के 1 बज रहे हो। पुलिस चौकी पर खड़े कुछ पुलिसकर्मी आने जाने वालों से पूछताछ करते दिखाई दिए। इसी तरह हुसदिया और हैनिमैन चौराहे के भी हाल रहा। सभी दुकाने बंद ही रहीं। गोमतीनगर इलाके में रात 11 बजे तक वॉक करने वाले भी आज गायब ही रहे।

गोमती नगर के 1090 चौराहे पर सेल्फी प्वाइंट पर पूरी तरह पसरा सन्नाटा।

गोमती नगर के 1090 चौराहे पर सेल्फी प्वाइंट पर पूरी तरह पसरा सन्नाटा।

चिनहट बाजार से लेकर बीबीडी तक छाया सन्नाटा

लखनऊ का चिनहट बाजार जहां गोमतीनगर इलाके की सबसे बड़ी सब्जी मंडी लगती है। रात 11 बजे तक यहां लोग खरीदारी करते रहते हैं। यहां भी समय से पहले ही बाजार बंद हो गया था। एक दुकानदार ने बताया कि चिनहट की सब्जी मंडी शाम को ही सजती है। लोग कामधाम से लौट कर सब्जी खरीदते हुए घर जाते हैं, लेकिन आज जल्दी बंद करना पड़ा। हालांकि यह रोक अभी 8 दिन के लिए ही है, लेकिन देखिए कहीं आगे न बढ़ जाए। वहीं कठौता झील पर बना शॉपिंग काम्प्लेक्स जहां शाम को युवकों की बैठकी होती है। वहां भी सन्नाटा ही था। पुलिसकर्मी चेकिंग भी करते नजर आए।

पॉलीटेक्निक चौराहे पर वाहन का इंतजार करते यात्री।

पॉलीटेक्निक चौराहे पर वाहन का इंतजार करते यात्री।

गाजीपुर थाना क्षेत्र के पॉलिटेक्निक चौराहे पर एसएचओ द्वारा पूरी फोर्स के साथ में चेकिंग करते हुए।

गाजीपुर थाना क्षेत्र के पॉलिटेक्निक चौराहे पर एसएचओ द्वारा पूरी फोर्स के साथ में चेकिंग करते हुए।

सिर्फ बड़ी गाड़ियों की आवाजाही ही दिखी

फैजाबाद रोड स्थित बीबीडी यूनिवर्सिटी के सामने बनी मार्किट जहां युवाओं का हमेशा ही 12 बजे तक जमावाड़ा होता था वहां रात 8.30 पर ही सन्नाटा पसर गया। दरअसल, यह एरिया स्टूडेंट बाहुल्य है। जिसकी वजह से बीबीडी मार्किट पर देर रात तक भीड़ रहती है। वेज और नॉनवेज की दुकानों के अलावा कई चाइनीज और कई तरह के खाने पीने और अन्य दुकाने हैं साथ ही एक क्राउन मॉल भी है। जहां युवा आउटिंग करते रहते हैं लेकिन आज यहां सन्नाटा ही रहा। फैजाबाद रोड पर सिर्फ बड़े छोटे वाहनों की आवाजाही ही दिखी।

सूनी पड़ी बीबीडी मार्केट। हाइवे पर वाहन दौड़ते नजर आए।

सूनी पड़ी बीबीडी मार्केट। हाइवे पर वाहन दौड़ते नजर आए।

शहर का हाल जानने देर रात निकले पुलिस कमिश्नर

शहर में नाइट कर्फ्यू की पहली रात को लखनऊ के पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर व लखनऊ के मंडलाआयुक्त समेत कई अधिकारी हजरतगंज चौराहा, 1090 चौराहा व गोमती नगर का निरीक्षण करने निकले। पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर का कहना है कि शासन के द्वारा बढ़ते कोरोना महामारी को देखते हुए नाइट कर्फ्यू लगाए जाने का फैसला किया गया है। जिसके अनुपालन कराने के लिए लखनऊ नगर निगम की परिक्षेत्र में आने वाले चौराहे और बाजारों को पुलिस के द्वारा 9:00 बजे से सुबह 6:00 बजे तक की बंद कराए जाने के लिए टीम लगाई गई है। शांतिपूर्वक शहर के सभी मार्केट बंद हो गई कहीं पर किसी भी तरीके का कोई भी शिकायत सामने नहीं आई है।

खबरें और भी हैं…

Most Popular