HomeलखनऊLucknow news- सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड चुनाव में अब नही होगा मतदान,...

Lucknow news- सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड चुनाव में अब नही होगा मतदान, सभी कैटेगरी में प्रत्याशी जीते निर्विरोध

उतर प्रदेश सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड के चुनाव में विधानमंडल सदस्य कोटे के दो प्रत्याशी विधायक इकबाल महमूद और एमएलसी परवेज अली ने शुक्रवार को नाम वापस ले लिया। इसके बाद सांसद, मुतवल्ली, बार काउंसिल कोटे के साथ ही विधानमंडल सदस्य कोटे के प्रत्याशी भी निर्विरोध चुनाव जीत गए। अमर उजाला ने कल ही इन्ही दो प्रत्याशियों के नाम वापस लेने की उम्मीद जता दी थी। सभी कैटेगरी में प्रत्याशियों के निर्विरोध जीतने से अब 7 मार्च को होने वाला मतदान भी नही होगा। प्रत्याशियों को प्रमाण पत्र दिये जाने की तैयारी की जा रही है।

सुन्नी वक्फ बोर्ड के सांसद, विधायक, मुतवल्ली और बार काउंसिल कोटे में दो दो सदस्यों के चुनाव के लिये उतने ही नामांकन दाखिल होने से सभी निर्विरोध चुने जा चुके है। सिर्फ विधानमंडल सदस्य कोटे के दो सदस्यों के चुनाव के लिए चार नामांकन दाखिल हुए थे। चुनाव अधिकारी शिवाकांत द्विवेदी (विशेष सचिव अल्पसंख्यक कल्याण एवं वक़्फ़ विभाग, उतर प्रदेश सरकार) ने बताया कि विधानमंडल सदस्य कोटे से आजमगढ़ से विधायक नफीस अहमद, सुल्तानपुर से अबरार अहमद, संभल से इकबाल महमूद और अमरोहा से एमएलसी परवेज अली ने अपना नामांकन किया था। इनमें से इकबाल महमूद और परवेज अली ने आज नामांकन वापस ले लिया है। विधायक नफीस अहमद और अबरार अहमद अब निर्विरोध जीत गए है। उन्होंने बताया कि सभी सदस्यों के निर्विरोध होने की वजह से अब मतदान नही होगा। सभी प्रत्याशियों को शनिवार तक प्रमाण पत्र वितरित कर दिये जायेंगे।

बोर्ड के 6 सदस्य पहले ही चुके है निर्विरोध

नामांकन प्रक्रिया पूरी होने के बाद बृहस्पतिवार को मुतवल्ली कोटे से बोर्ड के पूर्व चैयरमैन जुफर फारूकी और गोरखपुर के अदनान फर्रुख शाह, सांसद कोटे से अमरोहा से सांसद कुंवर दानिश अली और मुरादाबाद से एसटी हसन, बार काउंसिल सदस्य कोटे से इमरान माबूद खां और अब्दुल रज्जाक खान का निर्विरोध जितना तय हो चुका था। 

सुन्नी वक्फ बोर्ड में भाजपा का नही होगा सदस्य

सुन्नी वक्फ बोर्ड में सताधारी भाजपा से एक भी सदस्य नही होगा। जबकि सांसद सदस्य कोटे में कुँवर दानिश अली बसपा से एक और एसटी हसन सहित विधानमंडल सदस्य कोटे में आजमगढ़ से विधायक नफीस अहमद, सुल्तानपुर से अबरार अहमद के जितने के बाद अब सपा से तीन सदस्य होंगे। दरअसल विधानमंडल में भाजपा से एक भी सुन्नी मुस्लिम सदस्य नही है, जबकि राज्यसभा मे भाजपा के एक मात्र सदस्य जफरूल इस्लाम है जो बिना प्रस्तावक के अपना नामांकन दाखिल नही कर सकते, क्योंकि प्रस्तावक भी उसी कैटेगरी का होना जरूरी है जिस कोटे में नामांकन किया जाना है।

Most Popular