HomeलखनऊLucknow news - NCT बिल पर UP में 'आप' का प्रदर्शन: लखनऊ...

Lucknow news – NCT बिल पर UP में ‘आप’ का प्रदर्शन: लखनऊ में प्रदर्शनकारी कार्यकर्ताओं पर पुलिस ने किया लाठीचार्ज; 12 से अधिक लोगों को हिरासत में लेकर छोड़ा

पुलिस ने आप कार्यकर्ताओं को डंडों से पीटा।

बुधवार को आम आदमी पार्टी कार्यकर्ताओं ने केंद्र सरकार के बिल के खिलाफ लखनऊ समेत कई जगहों पर किया प्रदर्शन

NCT (नेशनल कैपिटल टेरीटरी) ऑफ दिल्ली (अमेंडमेंट) बिल, 2021 को लेकर केंद्र की भाजपा सरकार और दिल्ली की आम आदमी पार्टी की सरकार आमने-सामने है। बुधवार को इस बिल के खिलाफ लखनऊ में आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया। इस दौरान लखनऊ के 1090 चौराहे पर कार्यकर्ताओं के द्वारा सड़क जाम करने पर पुलिस से झड़प हो गई। पुलिस ने लाठीचार्ज करते हुए कार्यकर्ताओं वहां से खदेड़ा। इस 12 से अधिक कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया गया। हालांकि करीब 1 घंटे के बाद कार्यकर्ताओं को छोड़ भी दिया गया।

प्रदेश की राजधानी से देश की राजधानी दिल्ली तक जारी रहेगा विरोधप्रदेश अध्यक्ष सर्वजीत सिंह ने कहा कि प्रदेश की राजधानी लखनऊ समेत अन्य जिलों में भी अधिकार छीने जाने वाले काले कानून के खिलाफ आप के कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया है और हम दिल्ली सरकार के खिलाफ लगातार विरोध करते रहेंगे। प्रदेश प्रवक्ता वैभव महेश्वरी ने आरोप लगाया पुलिस प्रदर्शन करने से रोकना चाहती थी। जबकि कार्यकर्ता शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन कर रहे थे। पुलिस ने धक्का-मुक्की की लाठीचार्ज भी किया गया। इससे कई कार्यकर्ता चोटिल हुए हैं।

वहीं पुलिस का तर्क रहा कि प्रदर्शन के कारण 1090 चौराहे पर आवागमन बाधित हो रहा था। इसके कारण 20 मिनट से अधिक तक जाम लगा रहा। कार्यकर्ताओं को सड़क से हटाने के लिए हल्के बल का प्रयोग करना पड़ा।

पुलिस ने प्रदर्शनकारी कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया।

पुलिस ने प्रदर्शनकारी कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया।

केंद्र के अधीन हो जाएगी दिल्ली सरकारप्रदेश प्रवक्ता सभाजीत सिंह ने कहा कि केंद्र सरकार दिल्‍ली सरकार के अधिकार छीनने के बाद पूरी तरह उपराज्यपाल के अधीन हो जाएगी। सरकार ने लोकसभा में सोमवार को एक विधेयक पेश किया है। जिसमें उप-राज्‍यपाल को ज्‍यादा अधिकार दिए जाने का प्रावधान है। इसके अलावा यह भी स्‍पष्‍ट किया गया है कि राज्‍य कैबिनेट या सरकार के किसी भी फैसले को लागू करने से पहले उप-राज्‍यपाल की ‘राय’ जरूरी होगी। इसमें हर विकास कार्य का अनुमोदन लेने के लिए उपराज्यपाल के पास पत्र बनाकर भेजना पड़ेगा जो केंद्र के अधीन होगा। कुल मिलाकर केंद्र सरकार के अधीन दिल्ली सरकार हो जाएगी।

कार्यकर्ताओं को हिरासत में लेने के बाद रिहा किया गया।

कार्यकर्ताओं को हिरासत में लेने के बाद रिहा किया गया।

प्रदर्शन के दौरान हुई धक्का-मुक्की।

प्रदर्शन के दौरान हुई धक्का-मुक्की।

1090 चौराहे पर जाम लगाकर बैठ गए थे कार्यकर्ता।

1090 चौराहे पर जाम लगाकर बैठ गए थे कार्यकर्ता।

खबरें और भी हैं…

Most Popular