HomeलखनऊLucknow news - UP में आज से नई पाबंदियां: अब वीकेंड लॉकडाउन...

Lucknow news – UP में आज से नई पाबंदियां: अब वीकेंड लॉकडाउन के साथ सभी जिलों में नाइट कर्फ्यू; शुक्रवार की रात से सोमवार सुबह तक 59 घंटे रहेगा प्रतिबंध

यह फोटो वाराणसी की है। यहां नाइट कर्फ्यू पहले से चल रहा है। - Dainik Bhaskar

यह फोटो वाराणसी की है। यहां नाइट कर्फ्यू पहले से चल रहा है।

संक्रमण के मामले में महाराष्ट्र के बाद उत्तर प्रदेश ऐसा राज्य है, जहां सबसे अधिक कोरोना के केस मिल रहे हैं। ऐसे में मंगलवार को योगी सरकार ने रविवार को लगने वाले लॉकडाउन को अब शनिवार को भी लागू करने का निर्णय लिया है। वहीं, राज्य के सभी जिलों में अब रात 8 बजे से सुबह सात बजे तक नाइट कर्फ्यू भी लगेगा। इस तरह शुक्रवार की रात 8 बजे से सोमवार सुबह 7 बजे तक 59 घंटे लोगों को बेवजह घर से बाहर निकलने पर पाबंदी रहेगी। इसे प्रदेश में लागू कर दिया गया है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रत्येक प्रदेशवासी के जीवन और जीविका की सुरक्षा के लिए हम प्रतिबद्ध हैं। लॉकडाउन के कारण किसी के भी सामने आजीविका का संकट उत्पन्न न हो। इसीलिए वर्तमान परिस्थितियों के आधार पर हमने ‘कोरोना कर्फ्यू’ को पूरी सख्ती से लागू करने का निर्णय लिया है।

सिर्फ इमरजेंसी सेवाओं को मिलेगी छूट

गृह विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी ने कहा कि उत्तर प्रदेश में शनिवार और रविवार को वीकेंड लॉकडाउन को प्रभावी कर दिया गया है। यह लॉकडाउन शुक्रवार रात 8 बजे से लागू होगा और सोमवार सुबह 7 बजे तक जारी रहेगा। इसके अलावा सभी जिलों में रात का कर्फ्यू लगाया जाएगा।

अवनीश अवस्थी ने कहा कि वीकेंड लॉकडाउन और नाइट कर्फ्यू के दौरान केवल आवश्यक सेवाओं को छूट रहेगी। सभी साप्ताहिक बाजार, शॉपिंग कॉम्पलेक्स बंद रहेंगे। इस लाॅकडाऊन के दौरान सैनटाइजेशन का काम होगा और आवश्यक सेवाएं बाधित नहीं होंगी।

टीम-11 बैठक में ये प्रमुख लिए गए निर्णय

महाराष्ट्र, राजस्थान और दिल्ली से प्रवासियों की वापसी हो रही है। सीमावर्ती जिलों में विशेष सतर्कता बरते जाते की आवश्यकता है। इन प्रवासी कामगार/श्रमिक जनों के सुगमतापूर्ण आवागमन की व्यवस्था की जाए। गृह विभाग और परिवहन विभाग समन्वय बनाकर आवश्यक कार्यवाही करें। इन प्रवासी श्रमिक जनों की टेस्टिंग और आवश्यकतानुसार ट्रीटमेंट की समुचित व्यवस्था होनी चाहिए।लखनऊ, कानपुर नगर, प्रयागराज, वाराणसी, झांसी, गोरखपुर, मेरठ जनपदों सहित प्रदेश के सभी जिलों में कोविड बेड की संख्या को दोगुना करने की आवश्यकता है। फौरी तौर पर सभी जिलों में 200-200 बेड का विस्तार किया जाए। यह बेड ऑक्सीजन की सुविधा से लैस हों। इस प्रकार से 75 जिलों में तत्काल करीब 15,000 बेड का इजाफा हो सकेगा।प्रदेश में 104 निजी प्रयोगशालाएं तथा 125 सार्वजनिक क्षेत्र की प्रयोगशालाएं कोविड टेस्ट कार्य में लगी हैं। अब तक कुल 03 करोड़ 84 लाख से अधिक कोविड टेस्ट हो चुके हैं। 18 अप्रैल, 2021 को निजी प्रयोगशालाओं द्वारा लगभग 19 हजार से अधिक RTPCR टेस्ट किए गए हैं। टेस्टिंग क्षमता में और बढ़ोतरी आवश्यक है। इस संबंध में सभी जरूरी प्रयास किए जाएं।मास्क की महत्ता के बारे में लोगों को जगरूक किया जाए। अपील से न मानने वाले लोगों के खिलाफ जुर्माना लगाने की कार्रवाई हो। कंटेनमेंट जोन और क्वारैंटाइन सेंटर के प्राविधानों को सख्ती से लागू करें। निगरानी समितियों से संवाद बनाकर उनसे फीडबैक प्राप्त किया जाए।पंचायत चुनावों में कार्यरत पुलिस बल व अन्य कार्मिकों की सुरक्षा के सभी जरूरी इंतज़ाम किए जाएं। पंचायत चुनाव में एक साथ 05 से अधिक लोग एकत्रित न हों।खबरें और भी हैं…

Most Popular