HomeलखनऊLucknow news - UP में आज 9,695 केस मिले: योगी सरकार का...

Lucknow news – UP में आज 9,695 केस मिले: योगी सरकार का फैसला- सरकारी-निजी दफ्तरों में 50% कर्मचारी ही काम करेंगे; KGMU में पोस्टमार्टम बंद

गोरखपुर जिला अस्पताल में कोरोना की पहली डोज लगवाते सांसद रवि किशन। - Dainik Bhaskar

गोरखपुर जिला अस्पताल में कोरोना की पहली डोज लगवाते सांसद रवि किशन।

उत्तर प्रदेश में कोरोना के बढ़ते संक्रमण के चलते शुक्रवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लखनऊ, वाराणसी, प्रयागराज और कानपुर नगर में सभी सरकारी और गैर सरकारी कार्यालयों में सुविधानुसार वर्क फ्रॉम होम की अनुमति देने की बात कही है। यह भी कहा कि यदि कर्मचारी कार्यालय आ रहे हैं तो एक शिफ्ट में 50 फीसदी कर्मचारी आएं। उधर, KGMU लखनऊ के पोस्टमार्टम हाउस के 10 कर्मचारी पॉजिटिव पाए गए, इसके बाद शवों का पोस्टमार्टम ठप हो गया है।

बता दें कि प्रदेश में सबसे ज्यादा केस इन्हीं चार जिलाें में हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी अधिकारी इस बात को तय करें कि सभी कार्यालयों में कोविड-19 प्रोटोकॉल का पूरी तरीके से अनुपालन किया जाए। इस बीच गोरखपुर में वैक्सीन की शॉर्टेज का मामला सामने आया है। हालांकि सांसद रवि किशन का दावा है कि कल तक 1 लाख डोज आ जाएगी।

प्रदेश में कोरोना के आज 9 हजार से अधिक केस आए

24 घंटे में नए केस9,69524 घंटे में डिस्चार्ज5,83अब तक कुल डिस्चार्ज6,06,64624 घंटे में मौत37अब तक कुल मौत9,039वर्तमान में एक्टिव केस48,306

लखनऊ पोस्टमार्टम हाउस में 10 कर्मचारी पॉजिटिव, काम ठप्पKGMU, राम मनोहर लोहिया और PGI समेत अन्य सरकारी व प्राइवेट हॉस्पिटलों में स्वास्थ्य कर्मियों के संक्रमित होने की संख्या लगातार बढ़ रही है। KGMU के पोस्टमार्टम हाउस में कार्य करने वाले 10 कर्मचारी पॉजिटिव हुए हैं। इसके बाद पोस्टमार्टम हाउस को सैनिटाइजेशन कराया जा रहा है। आज एक भी शव का पोस्टमार्टम कर्मचारियों के पॉजिटिव होने की वजह से नहीं हो सका है। करीब 1 दर्जन से ज्यादा मृतकों के परिजन पोस्टमार्टम का इंतजार कर रहे हैं। कर्मचारियों के इंतजार में 48 घंटे तक पोस्टमार्टम हाउस को सील कर दिया गया है।

ई-संजीवनी OPD ऐप के जरिए किया जाएगा इलाजकोरोना मरीजों की संख्या बढ़ने और डॉक्टरों के संक्रमित होने के बाद की KGMU के VC में नॉर्मल OPD को बंद करने का फैसला किया है। 12 अप्रैल तक की डिस्टल OPD, ई-संजीवनी के जरिए मरीजों का इलाज किया जाएगा। एक दिन में करीब 30 मरीज ही डिस्टल OPD के जरिए रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं। किडनी की नोडल इंचार्ज टेलीमेडिसिन डॉ शीतल वर्मा ने बताया कि ई-संजीवनी OPD के जरिए मरीजों का इलाज किया जाएगा। ऐप के जरिए मरीज मुफ्त में अपना इलाज और सलाह ले सकते हैं।

प्रदेश में अब 11 शहरों में नाइट कर्फ्यू

वहीं, शुक्रवार को प्रदेश के चार और जिलों में 16 अप्रैल तक के लिए नाइट कर्फ्यू लगा दिया गया है। ये बरेली, सहारनपुर, मुरादाबाद और झांसी जनपद हैं। इसके बाद प्रदेश में नाइट कर्फ्यू वाले जिलों की संख्या 11 हो गई है। इससे पहले गुरुवार को लखनऊ, प्रयागराज, कानपुर, वाराणसी, मेरठ, गाजियाबाद और गौतमबुद्धनगर में नाइट कर्फ्यू लगाया गया था। इस दौरान 12वीं तक के स्कूल व अन्य शिक्षण संस्थान बंद रहेंगे। सिर्फ इमरजेंसी सेवाएं चलेंगी।

शीर्ष 5 जनपद जहां कोरोना के सबसे अधिक केस

शहरसंक्रमितों की संख्यालखनऊ10,749प्रयागराज4,517वाराणसी3,726कानपुर नगर1,975गोरखपुर1,004

अब तक 9039 संक्रमितों की मौत

कोविड-19 संक्रमण से अब तक प्रदेश में 9,039 लोगों की मृत्यु हो चुकी है। कल प्रदेश में 1,97,479 सैंपल की जांच की गई। जिसमें से 86,000 सैंपल की जांच RT-PCR के जरिए की गई है। अब तक प्रदेश में 3,63,44,993 सैंपल की जांच हो चुकी है। अब तक प्रदेश में 69,68,387 लोगों को वैक्सीन की पहली डोज़ दी जा चुकी है। इसी प्रकार 11,97,401 लोगों को वैक्सीन की दूसरी डोज दी जा चुकी है। 11 अप्रैल से 14 अप्रैल तक टीका उत्सव मनाया जाएगा। जिसमें व्यापक स्तर पर टीका लगाने का काम किया जाएगा।

सांसद रवि किशन ने कराया टीकाकरण, कहा- अफवाहों पर ध्‍यान न दें

गोरखपुर के सांसद रवि किशन शुक्रवार को गोरखपुर के नेताजी सुभाष चंद्र बोस जिला चिकित्सालय में पहुंचे। उन्होंने कोरोना वैक्सीन का पहला डोज लिया। इस दौरान लोगों से अपील करते हुए कहा कि जब पहली बार कोरोना संक्रमण फैले तो उस समय हम हमारे पास किसी तरह के फैसिलिटी नहीं थी। वेंटिलेटर और वैक्सीन नहीं थी। लोग जागरुक नहीं थे। लेकिन उसके बावजूद भी हम लोगों ने पहले चरण में कोरोना को मात दिया।

फिर से कोरोना का संक्रमण फैलने लगा है। आज हमारे अपने भारत देश की बनी हुई वैक्सीन है। वेंटिलेटर सारी सुविधाएं हैं। इसलिए अब दूसरों के कहने पर उनके बहकावे में न जाएं। रजिस्ट्रेशन कराएं और अपनी बारी का इंतजार करें। एक-एक कर बारी-बारी आकर कोरोना वैक्सीन लगवाएं। कल एक लाख डोज आ जाएगी।

रवि किशन को वैक्सीनेशन का सर्टिफिकेट दिया गया।

रवि किशन को वैक्सीनेशन का सर्टिफिकेट दिया गया।

काफी देर तक किया इंतजार, नंबर आया तो वैक्सीन खत्म

गोरखपुर जिला चिकित्सालय में वैक्सीनेशन कराने पहुंचीं गीता श्रीवास्‍तव ने बताया कि काफी देर से वे लाइन में खड़ी थीं। लेकिन नंबर आने के पहले ही पता चला कि वैक्‍सीन खत्‍म हो गई है। इतनी दूर से आने के बाद उन्‍हें परेशानी उठानी पड़ी है। उन्‍हें फिर कल आना पड़ेगा। वे कहना चाहती है कि इतनी पर्याप्‍त डोज रहे कि सभी को टीका लग जाए। यहां पर बार-बार आने की परेशानी नहीं उठानी पड़े। इन्‍द्रजीत सिंह भी वैक्‍सीन की दूसरी डोज लगवाने आएं हैं। वैक्‍सीन खत्‍म हो गई है।

खबरें और भी हैं…

Most Popular