HomeलखनऊLucknow news - UP में CM कार्यालय में कोराना की दस्तक: राज्य...

Lucknow news – UP में CM कार्यालय में कोराना की दस्तक: राज्य में एक दिन में 18,021 केस मिले: CM के OSD हुए कोरोना पॉजिटिव, योगी ने खुद को किया आइसोलेट

यूपी में कोरोना ने सीएम कार्यालय तक दस्तक दे दी है। - Dainik Bhaskar

यूपी में कोरोना ने सीएम कार्यालय तक दस्तक दे दी है।

3474 मरीज सही हुए तो 85 मौत के बाद प्रदेश में आंकड़ा 5309 हो गया है, लखनऊ मरने वालों कुल संख्या 1371 हो गई है

उत्तर प्रदेश में कोरोना के केस दिनों दिन बढ़ते जा रहे हैं। हालत यह है कि राजधानी लखनऊ समेत प्रदेश के 12 जिलों में स्वास्थ्य व्यवस्थाएं चरमरा गई हैं। आखिरकार आज कोरोना ने योगी आदित्यनाथ के कार्यालयत तक दस्तक दे दी। बताया जा रहा है कि मुख्यमंत्री के सचिव अमित सिंह और OSD अभिषेक कौशिक कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। यही नहीं सीएम के प्रमुख सचिव एसपी गोयल भी संक्रमित पाए गए हैं। इसकी जानकारी होने पर योगी ने खुद को आइसोलेट करने की सूचना सोशल मीडिया के माध्यम से दी।

सीएम योगी ने ट्वीट कर जानकारी देते हुए कहा कि, मेरे कार्यालय के कुछ अधिकारी कोरोना से संक्रमित हुए हैं। यह अधिकारी मेरे संपर्क में रहे हैं, अतः मैंने एहतियातन अपने को आइसोलेट कर लिया है। सभी कार्य वर्चुअली प्रारम्भ कर रहा हूं।

UP में एक दिन में 18,021 नए केस आए

वहीं, प्रदेश में कोरोना संक्रमण के 24 घंटे में यूपी में 18,021 नए केस आए हैं। लखनऊ में रिकॉर्ड 24 घंटे में 5382 नए केस शामिल हैं। प्रदेश में 85 मौत हुई तो लखनऊ में 18 मौतें हुई हैं। आंकड़ों पर अगर गौर करें तो 5 से 11 अप्रैल के बीच यूपी में 281% कोरोना केस बढ़े हैं।

वहीं हरिद्वार कुंभ में अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि के संपर्क में आने के बाद आज पूर्व मुख्यमंत्री सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कोविड-19 करवाया। अखिलेश यादव कोविड रिपोर्ट अभी आई नहीं है, पूर्व सीएम ने घर पर खुद को आइसोलेट कर रखा है। उन्होंने सोशल मीडिया पर पोस्ट कर कर इसकी जानकारी दी।

लखनऊ के हालात दिनों दिन हो रहे और खराबलखनऊ में 5382 नए करो ना कि केक मिले हैं बीते 24 घंटे के अंदर 1066 मरीजों को डिस्चार्ज किया गया है। अट्ठारह मौत के बाद लखनऊ में मरने वालों का आंकड़ा 1371 पहुंच गया है मौजूदा समय में 27385 कोविड केस सक्रिय हैं। इसके अलावा प्रयागराज में 1856, कानपुर में 1271 केस, वाराणसी में 1404 नए कोविड के मामले आए हैं।

कोरोना केस के हालात पर जानकारी देते हुए

ACS स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि, यूपी में कोरोना टेस्टिंग कार्य तेजी से हो रहा है और कोरोना वैक्सीनेशन तेजी से किया जा रहा हैं। यूपी में कोरोना के केस तेजी से बढ़ रहे हैं इसलिए कोरोना प्रोटोकॉल का पालन बेहद जरूरी साथ ही घर से बाहर जाते समय मास्क जरूर लगाएं इसके अलावा सोशल डिस्टेंसिंग का कड़ाई से पालन करें।

सीएम योगी ने मुख्यमंत्री ने ‘टेस्ट, ट्रेस, ट्रीट’ के लक्ष्य के अनुरूप कोविड-19 के नियंत्रण की प्रभावी कार्यवाही को जारी रखने के निर्देश दिए हैं। सभी जनपदों में कोविड बेड तथा आॅक्सीजन की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित की जाए, कोविड चिकित्सालयों की व्यवस्थाओं को चुस्त-दुरुस्त रखा जाए। कोरोना मरीजों के लिए एम्बुलेंस सेवाओं के सुचारु संचालन के निर्देश दिये हैं।

डेढ़ लाख से ज्यादा किए जाएं टेस्टसीएम योगी ने कहा कि, आरटीपीसीआर टेस्ट बढ़ाए जाने के निर्देश देते हुए सीएम योगी ने 24 घंटे के में डेढ़ लाख के करीब आरटीपीसीआर टेस्ट किए जाने के निर्देश दिए हैं। जनपद लखनऊ, कानपुर नगर, वाराणसी तथा प्रयागराज पर विशेष ध्यान देते हुए चिकित्सा व्यवस्था को बेहतर किया जाए। हर जनपद में एल-2 तथा एल-3 कोविड बेड्स की संख्या बढ़ाएं, सभी जिलों में आक्सीजन की सुचारु उपलब्धता हर हाल में बनी रहे।

निजी मेडिकल काॅलेजों में कोविड चिकित्सालयों के संचालन के लिए नियमित माॅनिटरिंग की जाए, इन अस्पतालों के लिए आवश्यकतानुसार चिकित्साकर्मियों के साथ-साथ अन्य मेडिकल संसाधनों की भी व्यवस्था करायी जाए। मुख्य सचिव, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य तथा प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा नियमित तौर पर कोविड अस्पतालों की व्यवस्थाओं तथा विभिन्न मेडिकल संसाधनों की उपलब्धता की समीक्षा करें।

सीएम ने कहा कि, प्रदेश में स्थित विभिन्न केन्द्रीय संस्थानों से संवाद बनाकर इन प्रयोगशालाओं में उपलब्ध आरटीपीसीआर क्षमता का पूरा उपयोग किया जाए। कोविड जांच के लिए ट्रूनैट मशीनों का भी उपयोग किया जाए।

12 जिलों में सुविधाएं बढ़ाई जाएआरटीपीसीआर टेस्ट की संख्या में वृद्धि के लिए 12 जनपदों में प्रयोगशालाएं प्राथमिकता पर स्थापित की जाएं। यह प्रयोगशालाएं जनपद अमेठी, औरैया, बिजनौर, कुशीनगर, देवरिया, मऊ, सिद्धार्थनगर, सोनभद्र, बुलन्दशहर, सीतापुर, महोबा तथा कासगंज में स्थापित की जाएंगी। स्वच्छता, सैनिटाइजेशन एवं फाॅगिंग के कार्य को युद्ध स्तर पर संचालित करने के निर्देश, इस कार्य में चीनी मिलों में उपलब्ध संसाधनों का भी उपयोग किया जाए।

प्रमुख चौराहें एवं अन्य सार्वजनिक स्थानों पर पब्लिक एड्रेस सिस्टम के माध्यम से जागरूकता का कार्य प्रभावी ढंग से किया जाए, पब्लिक एड्रेस सिस्टम से प्रसारित किए जाने वाले संदेशों को ऐसा बनाएं, जिससे लोग ध्यान से सुन सके। काॅन्टैक्ट ट्रेसिंग का कार्य पूरी सक्रियता से किया जाए और निगरानी समितियां तेजी से कार्य करें।

खबरें और भी हैं…

Most Popular