रेलवे यात्रियों की सुविधाओं को बढ़ाने के लिए हर संभव प्रयास कर रहा है। अब रेल प्रोटेक्शन फोर्स यात्रियों के रक्षा करने के साथ-साथ यात्रियों के सामानों की भी रक्षा करेंगे। आरपीएस के द्वारा मिशन अमानत शुरू की गई है। रेलवे प्रोटेक्शन फोर्स के द्वारा शुरू किए गए मिशन अमानत के तहत आप अपना खोया सम्मान वापस पा सकते हैं। इस मिशन के शुरू होने के बाद अब यात्री आसानी से सफर कर पा रहे हैं। रेलवे यात्रियों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए यह सुविधा शुरू किया है।

सोशल मीडिया से दी जा रही है जानकारी-

भारतीय रेलवे ने मिशन अमानत पहल के तहत फोटो के साथ खोए हुए सामान का विवरण पश्चिम रेलवे की आधिकारिक वेबसाइट पर पोस्ट किया जाता है। यात्री मिशन अमानत- आरपीएफ वेबसाइट http://wr.indianrailways.gov.in पर पोस्ट किए गए चित्रों के साथ खोए हुए सामान का विवरण देख सकते हैं। यात्री अपना खोया हुआ सामान संबंधित विभाग की वेबसाइट पर फोटो देखकर पहचान पाएंगे उसके बाद विभाग में जाकर वह अपना सामान वापस पा सकते हैं।

इतने करोड़ का सामान किए गए वापस-

रेलवे मिशन अमानत के तहत खोए हुए सामान यात्रियों को वापस दिला रहा है। रेलवे के अधिकारियों ने बताया कि रेलवे के द्वारा अभी तक 13017 यात्रियों के सामान वापस किए जा चुके हैं।योजना के तहत वेरिफिकेशन के बाद यात्रियों का सामान वापस कर दिया जाता है।

भारतीय रेलवे हमेशा से यात्रियों की सुविधा के लिए कई प्रयास कर रही है। आरपीएफ के जवान 24 घंटा यात्रियों की सुरक्षा का ख्याल रखते हैं। अगर किसी व्यक्ति का सामान सफर के दौरान खो जाता है तो आरपीएफ के जवान मिशन अमानत के तहत उस सामान को खोज कर यात्रियों को वापस लौटा देते हैं।