Homeलखनऊइतिहास में पहली बार भारतीय वायुसेना में पिता और बेटी ने एक...

इतिहास में पहली बार भारतीय वायुसेना में पिता और बेटी ने एक साथ उड़ाया फाइटर जेट,जानिए एक पिता की गर्वभरी कहानी

भारतीय वायुसेना में इस बार कुछ ऐसा हुआ है जो कि आज तक इतिहास में पहले कभी नहीं हुआ है। एक ऐसी तस्वीर सामने आई है जिसकी चर्चा पूरे देश में हो रही है। तस्वीर को देख और उसके बारे में जानकर आपको भी गर्व होगा। एक पिता और पुत्री की जोड़ी (Father Daughter Duo Creates History) अपनी खास उपलब्धि के लिए चर्चा में है।

फ्लाइंग ऑफिसर अनन्या शर्मा अपने पिता के साथ फाइटर प्लेन उड़ाने वाली भारत की पहली महिला बन गई हैं।

भारतीय वायुसेना का हॉक-132 एयरक्राफ्ट उड़ाने वाली पहली पिता-पुत्री की जोड़ी है। अपने पिता के पद चिन्हों पर चलते हुए अनन्या शर्मा ने बड़ी उपलब्धि हासिल की है जिस पर उनके पिता को आज बहुत गर्व है।

एयर कमोडोर संजय शर्मा और उनकी बेटी अनन्या शर्मा ने 30 मई को यह उड़ान भरी। भारतीय वायुसेना में यह पहला मौका है और पिता-पुत्री की जोड़ी ने इतिहास रच दिया है। भारतीय वायुसेना के मुताबिक कर्नाटक के बीदर में एक हॉक-132 एयरक्राफ्ट से उड़ान भरी। सोशल मीडिया पर पिता और बेटी की तस्वीर वायरल हो रही है।

अनन्या शर्मा बड़े होते हुए अपने पिता को भारतीय वायुसेना में फाइटर पायलट के तौर पर देखा। उनकी दूसरे पायलट के साथ जैसी बॉन्डिंग को देखा।

भारतीय वायुसेना के इस माहौल में में पली-बढ़ी अनन्या ने किसी दूसरी नौकरी की कल्पना नहीं की थी। आगे चलकर उन्होंने जो सोचा वही हुआ। इन सबके बीच कुछ ऐसा हुआ जो पहले कभी नहीं हुआ था। आपको बता दें कि अनन्या शर्मा 2016 में पहली बार भारतीय वायुसेना में शामिल हुई और तब से उनका यही सपना था कि वह अपना और अपने पिता का नाम रोशन करेगी।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular