प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और योगी की अध्यक्षता में उत्तर प्रदेश को कई एक्सप्रेस वे का अभी तक सौगात मिल चुका है. आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश को जल्द एक और एक्सप्रेसवे का सौगात मिलने वाला है. जल्दी प्रदेश में 500 किलोमीटर लंबा गोरखपुर से शामली तक एक्सप्रेसवे बनेगा.

आपको बता दें कि गोरखपुर से शामली तक बनने वाला यह एक्सप्रेसवे 20 जिलों से होकर गुजरेगा और यह पूरी तरह से ग्रीन फील्ड होगा. इस एक्सप्रेस-वे के निर्माण के लिए नए सिरे से जमीन का अधिग्रहण किया जाएगा. आपको बता दें कि यह गोरखपुर से शुरू होने वाला तीसरा एक्सप्रेसवे होगा.

20 जिलों से होकर गुजरेगा एक्सप्रेस-वे-

आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश के गोरखपुर से सोनौली फोरलेन पर पीपीगंज के पास से शुरू होकर संतकबीरनगर, बस्ती, सिद्धार्थनगर होते हुए करीब 20 जिलों से क्या एक्सप्रेसवे गुजरेगा.

आपको बता दें कि इस एक्सप्रेस-वे के निर्माण के लिए
नेशनल हाइवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने इसका डीपीआर बनाने के लिए कंसलटेंट की नियुक्ति भी कर दी है. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार यह एक्सप्रेसवे 2024 तक पूरा हो जाएगा.

एक्सप्रेस-वे के जाल से पूर्वांचल का होगा विकास-

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के द्वारा उत्तर प्रदेश की सत्ता संभालने के बाद पूर्वांचल के विकास में काफी ज्यादा तेजी आई है. आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में बनने वाला यह तीसरा स्थान हासिल हो गया जो 2024 तक बनकर तैयार हो जाएगा.

अभी कुछ समय पहले ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तर प्रदेश को गंगा एक्सप्रेस वे का सौगात दिया.गंगा एक्सप्रेस-वे पूर्वी यूपी को पश्चिमी यूपी से सीधे जोड़ेगा.मेरठ से शुरू होकर हापुड़, बुलंदशहर, अमरोहा, संभल, बदायूं, शाहजहांपुर, हरदोई, उन्नाव, रायबरेली, प्रतापगढ़ होते हुए प्रयागराज तक का सफर आसान हो जाएगा. गंगा एक्सप्रेसवे भारत का सबसे लंबा एक्सप्रेसवे होगा.