देश में कोरोनावायरस का संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है. बढ़ते संक्रमण को देखते हुए इस बार मकर संक्रांति में विशेष सतर्कता बरतने का उत्तर प्रदेश सरकार की तरफ से अपील किया गया है. उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्रा ने मकर संक्रांति स्नान पर जाने वाले लोगों से विशेष सतर्कता बरतने की अपील की है.

जिसके तहत नदियों व तालाबों में सार्वजनिक मकर संक्रांति स्नान तथा प्रयागराज माघ मेले में उन्हीं लोगों को अनुमति दी जाएगी, जिन्होंने कोविड वैक्सीन की दोनों डोज ली है. मुख्य सचिव ने डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट से इसके लिए आम जनता से अनुरोध करने का अपील की है.

कोविड के लक्षण दिखने पर तत्काल जांच कराने के निर्देश-

जहां मकर संक्रांति का स्नान होगा वहां थर्मल स्क्रीनिंग की व्यवस्था की जाएगी. हिंदी व्यक्ति को सर्दी जुकाम खांसी की शिकायत होगी उसे तुरंत जांच कराने का आदेश दिया जाएगा. जिस व्यक्ति को सर्दी खांसी बुखार होगी उसे माघ मेले में एंट्री नहीं दी जाएगी.

ऐसे लोगों का तत्काल आरटीपीसीआर, टूनाट और एंटीजन टेस्ट कराने के निर्देश दिए गए हैं. जहां मेला लगेगा वहां स्वास्थ्य विभाग की टीम उपस्थित रहेगी ताकि लोगों को चिकित्सीय सुविधा दिया जा सके. सर्दी खांसी बुखार वाले लोगों को तुरंत जांच का आदेश दिया जाएगा और स्वास्थ्य विभाग की टीम के द्वारा उसका जांच कराया जाएगा.

बीमार, बुजुर्ग, गर्भवती महिलाएं ना जाएं इसके लिए अनुरोध करने का है निर्देोश-

मेले व स्नान वाले स्थलों पर जिला प्रशासन, नगर विकास, पंचायती राज, ग्राम्य विकास और स्वास्थ्य विभाग के साथ समन्वय स्थापित करते हुए साफ सफाई और सेनिटाइजेशन की व्यवस्था करने के निर्देश दिए गए हैं. जारी किए गए निर्देश में कहा गया है कि जिन भी लोगों को सर्दी खांसी बुखार हो या किसी गरिस्ट बीमारी से ग्रसित बुजुर्ग और गर्भवती महिलाएं, बच्चे इस मेले में ना जाए. जारी निर्देश में कहा गया है कि लोगों से कोविड-19 के नियमों का पालन करने का अपील किया जाए और साथ ही साथ मास्क लगाने का अपील किया जाए.