HomeMotivationalमां ट्यूशन पढ़ाकर भरती थी बेटे की फीस,बेटा Bhabha Research Center में...

मां ट्यूशन पढ़ाकर भरती थी बेटे की फीस,बेटा Bhabha Research Center में हुआ नियुक्त,पढ़िए गर्वित मित्तल की कहानी

कहते हैं इंसान जब पूरी शिद्दत के साथ कुछ पाने की कोशिश करता है तो सारी कायनात उसे उससे मिलाने में लग जाती है.सच्चे दिल से की हुई मेहनत कभी बेकार नहीं जाती है.आज हम आपको एक ऐसी कहानी बताने वाले हैं.

आज हम आपको बताने वाले हैं नसीराबाद के आवासन मंडल कॉलोनी के एक मिडिल क्लास फैमिली मे रहने वाले गर्वित मित्तल की कहानी. गर्वित 24 साल का एक लड़का है जो कई स्ट्रगल करने के बाद अपने सपने को पूरा कर दिखाएं. निरंतर मेहनत के मार्ग पर चलते हुए भाभा रिसर्च सेंटर (Bhabha Research Center) में सांइटिफिक ऑफिसर क्लास वन पर नियुक्ति पाकर शहर को गौरवान्वित किया है.

गर्वित के इस सफलता पर सिर्फ उसका परिवार और रिश्तेदारी नहीं बल्कि पूरा शहर खुश है.उन्होंने अपनी पढ़ाई साधारण स्कूल से किया. गर्वित के पिता अनिल मित्तल और मां संतोष मित्तल अपने सारे शौक को त्याग कर अपने बेटे को उसके सपने को पूरा करने में लगे रहे.अपने बेटे के सपने को पूरा करने के लिए उनकी मां ने छोटे बच्चों को ट्यूशन तक दिया. जयपुर से बीटेक करने के बाद गर्वित ने 2 साल तक एलएनटी कंपनी में काम भी किया.

गर्वित को फोटोग्राफी और शतरंज खेलने का शौक है. उन्हें टीवी सीरियल देखना बिल्कुल पसंद नहीं है बल्कि उसके जगह पर वह देश-दुनिया की खबरों को देखना पसंद करते हैं. उनके चाचा चाची ने बताया कि उनके पढ़ने का कमरा बाथरूम से भी छोटा है.जिसमें पढ़कर वह आज इतना बड़ा मुकाम हासिल किए.

गर्वित के इस उपलब्धि पर उनके मां-बाप काफी ज्यादा खुश ह.गर्वित ने कहा कि किसी भी परिस्थिति में अपने सपने को नहीं छोड़ना चाहिए और लगातार कोशिश करते रहना चाहिए तभी एक दिन आप सफल हो पाएंगे.उनके सफलता पर उनके भाई बहनों ने खूब आतिशबाजी की.

Most Popular