HomeMotivationalसीडीएस बिपिन रावत से मिलकर सेना में जाने का फैसला किया यह...

सीडीएस बिपिन रावत से मिलकर सेना में जाने का फैसला किया यह लड़का,पांच सितारा होटल की नौकरी छोड़ बना सैन्य अफसर

कुछ दिन पहले ही हेलीकॉप्टर क्रैश में सीडीएस बिपिन रावत शहीद हो गए.सीडीएस बिपिन रावत के साथ और भी सेना के जवान इस हेलीकॉप्टर क्रैश में शहीद हो गए. बिपिन रावत के शहीद होने के बाद पूरे देश में शोक की लहर दौड़ गई. बिपिन रावत के कार्यकुशलता का कायल पूरा देश है और इसे कार्यकुशलता का एक उदाहरण सेना के पासिंग आउट परेड में देखने को मिला.

हम आपको बताने वाले हैं नैनीताल के गौरव जोशी के बारे में.अंतिम तक भरकर गौरव जोशी भारतीय सेना के सैन्य अफसर के कैटेगरी में शामिल हो गए हैं. गौरव जोशी ने सीडीएस बिपिन रावत से प्रभावित होकर पांच सितारा होटल के नौकरी ठुकरा कर सेना में जाने का फैसला लिया.

नैनीताल के रहने वाले हैं गौरव –

शनिवार के दिन आई एम ए के पासिंग आउट परेड में नैनीताल जिले के रामनगर के निवासी गौरव कुमार जोशी ने भी अंतिम पग भरा.गौरव के पिता सेना में अफसर थे और उन्होंने होटल मैनेजमेंट का कोर्स किया. गौरव का शुरुआती पढ़ाई सैनिक स्कूल से हुआ लेकिन वह होटल मैनेजमेंट की पढ़ाई के लिए चंडीगढ़ चले गए.

अचानक बदल गया जिंदगी का सपना-

गौरव पहले तो होटल मैनेजमेंट कर के एक बड़े होटल में काम करना चाहते थे,लेकिन एकाएक उनका सपना बदल गया. सीडीएस बिपिन रावत को देखकर वह उनके कायल हो गए और सेना में जाने का फैसला कर लिया.

पहले प्रयास में पास किया सीडीएस की परीक्षा –

उसके बाद वो रात दिन पढ़ाई करने लगे और सीडीएस की तैयारी करने लगे.लगातार कड़ी मेहनत के कारण उन्होंने सीडीएस में सफलता हासिल कर ली.उनके इस सफलता पर उनकी मां बहन और उनके पूरे परिवार को नाज है. गौरव का कहना है कि उन्होंने बिपिन रावत को देखकर सेना में जाने का फैसला लिया.

Most Popular