कहते हैं जब इंसान पूरे दिल से कुछ करने की ठान लेता है तो कायनात भी उसकी कामयाबी में उसका साथ देने लगती है. बिना मेहनत की है आपका भी सफलता हासिल नहीं कर सकते. सफल होने के लिए आपको कड़ी मेहनत और सही रणनीति को अपनाना पड़ेगा और साथ ही साथ आत्मविश्वास भी होना आवश्यक है. एक सकारात्मक व्यक्ति अपनी मंजिल तक पहुंच पाता है.

आज हम आपको बताने वाले हैं सिमरी प्रखंड के बलिहार पुर पंचायत के निवासी राहुल चौबे के बारे में. राहुल ने इंडियन एयरफोर्स में पायलट बनकर पूरे जिले का नाम रोशन किया है. राहुल जब एयरफोर्स में पायलट बंद कर अपने जिला बक्सर लौटे तब पूरे जिले के लोग स्टेशन पर उनका गाजे-बाजे के साथ स्वागत किए.

जब राहुल अपने घर जाने के लिए स्टेशन से रवाना हुए तक भारी संख्या में लोग उनके पीछे चलने लगे. राहुल की ट्रेन जैसे ही आई और राहुल ट्रेन से उतरे वैसे ही लोग राष्ट्रभक्ति के नारे लगाने लगे. पूरा स्टेशन भारत माता की जय नारे से गूंज उठा. ऐसा लग रहा था मानो पूरा स्टेशन देश भक्ति के रंग में रंग गया हो.

जैसे ही राहुल चौबे बक्सर रेलवे स्टेशन पर पहुंचे पूरा स्टेशन मानो उनके स्वागत के लिए खड़ा हो. दर्जनों युवा के साथ कई जनप्रतिनिधि भी उनके स्वागत के लिए स्टेशन पहुंचे थे. वहां पहुंचे लोगों ने कहा कि हमारे लिए गर्व की बात है कि हमारे जिले का बेटा आज इंडियन एयर फोर्स में पायलट बन गया. हर साल हमारे यहां के लड़कों का चयन फौज में होता है और यह हमारे लिए गर्व की बात है.

राहुल चौबे ने बताया कि वह शुरू से ही पायलट बनने का सपना रखते थे. उन्होंने अपनी सफलता का श्रेय अपने माता-पिता और अपनी अच्छी शिक्षा को दिया. उन्होंने कहा कि मेरे माता-पिता ने मेरा सपोर्ट किया और साथ ही साथ मेरे भाई बहनों ने भी मेरा काफी सपोर्ट किया. आज इन सब के सपोर्ट से मैं यहां तक पहुंचा हूं.

राहुल ने कहा कि कभी असफलताओं से घबराना नहीं चाहिए. लगातार कोशिश करते रहिए जब तक आप सफल नहीं होते. उन्होंने कहा कि मैंने 8 बार असफलता का सामना किया है. लेकिन मैंने कभी हार नहीं मानी और आज मैं यहां तक पहुंच पाया हूं.