HomeगोरखपुरGorakhpur news- कोरोना अलर्ट: नेपाल सीमा पर रोके गए भारतीय पर्यटक, नहीं...

Gorakhpur news- कोरोना अलर्ट: नेपाल सीमा पर रोके गए भारतीय पर्यटक, नहीं मिली एंट्री

विस्तार

भारत नेपाल सीमा सोनौली बॉर्डर से नेपाल जा रहे 50 भारतीय गुजराती पर्यटको को नेपाल पुलिस ने नेपाल प्रवेश के दौरान रोक दिया। उन्हें भारत में वापस भेज दिया। सभी पर्यटक नेपाल लुम्बिनी और पशुपतिनाथ मंदिर जाना चाहते हैं। इसके साथ ही नेपाल पुलिस ने भारत में बढ़ते कोरोना के मरीजों की संख्या को देखते हुए सीमा पर कड़ाई शुरू कर दी है।

नेपाल के महानगर काठमांडू पोखरा जाने वाले सीमावर्ती क्षेत्र के भारतीय लोगों को सरहद से वापस किया जा रहा है। नेपाल बेलहिया इंस्पेक्टर ईश्वरी अधिकारी के मुताबिक उच्चाधिकारियों के निर्देश पर पर्यटकों को रोका गया है। शुक्रवार की सुबह करीब दस बजे गुजरात से एक 50 पर्यटकों का समूह नेपाल के धार्मिक स्थलों के  लिए अहमदाबाद से सोनौली पहुंचा।

सोनौली में बस खड़ी कर सभी पैदल नेपाल जाने के लिए सरहद पर पहुंचे। नेपाल में इंट्री के दौरान गुजरात के पर्यटकों को बिना कोविड सर्टिफिकेट के इंट्री नहीं मिली। नेपाल पुलिस ने लॉकडाउन का हवाला देकर उन्हें भारत वापस भेज दिया। भारत में कोरोना के बढ़ते मरीजों को देखते हुए नेपाल प्रशासन ने गुजरात महाराष्ट्र दिल्ली सहित दूर दूर से आने वाले भारतीय पर्यटकों को सीमा से लौटा दिया।

अहमदाबाद निवासी रंजन कुमार और शीला ने बताया कि उन्हें पता था, बॉर्डर खुला है। पैदल आने जाने दे रहे हैं। भगवान पशुपतिनाथ के दर्शन के लिए गुजरात से चलकर यहां पहुंचे हैं। बहुत निराशा हुई है। 50 लोगों का एक दल है। बाबा पशुपतिनाथ के दर्शन की इचछा अधूरी रह गई।

सिद्धार्थ होटल एसोसिएशन लुंबिनी के अध्यक्ष सीपी श्रेष्ठ ने बताया कि नेपाल में कोविड न फैले जिससे प्रशासन सख्त है। यात्रियों के रोके जाने को लेकर डीएम से वार्ता की जाएगी। इसके बाद अनुमति मिलने पर ही पर्यटको को नेपाल जाने की अनुमति मिलेगी।

व्यापार मंडल नौतनवां तहसील अध्यक्ष सुभाष जायसवाल ने बताया कि एक वर्ष से सींमा बंद है। ब्यापार वैसे भी चौपट है। पैदल यात्री आवागमन से कुछ व्यापार बड़ा था। अब लगता है की फिरसे समस्या बढ़ेगी। टूर एंड ट्रेवल्स कारोबारी श्रीचंद्र गुप्ता ने कहा एक वर्ष बाद कुछ यात्री नेपाल के तरफ आ रहे थे, अब यात्रियों को रोकने के कारण भारतीय पर्यटक नेपाल आने से कतराएंगे।

Most Popular