HomeगोरखपुरGorakhpur news- गोरखपुर: माफिया सुधीर सिंह का मकान होगा जब्त, नोटिस चस्पा

Gorakhpur news- गोरखपुर: माफिया सुधीर सिंह का मकान होगा जब्त, नोटिस चस्पा

विस्तार

गोरखपुर जिले के पिपरौली के ब्लॉक प्रमुख व माफिया सुधीर सिंह का गीडा के कालेसर स्थित आलीशान मकान भी जब्त होगा। बुधवार को गीडा पुलिस व राजस्व विभाग की टीम ने घर पर जब्ती का नोटिस चस्पा किया है। इससे पहले अपराध से अर्जित सुधीर सिंह की संपत्ति को जब्त किया जा चुका है, जिसमें शाहपुर में स्थित आवास भी शामिल है।

गीडा थानेदार सुधीर कुमार सिंह ने बताया कि शाहपुर एल्युमुनियम फैक्ट्री निवासी सुधीर सिंह पुत्र स्व सुरेंद्र वर्तमान में पिपरौली का ब्लॉक प्रमुख है। साथ ही गैंगस्टर का आरोपी है। उस पर दर्जनों केस दर्ज हैं। अपराधियों का संगठित गिरोह है।

उसने गिरोह के गुर्गों के साथ अनुचित लाभ एवं भौतिक सुख के लिए जघन्य अपराधों में लिप्त रहकर धन अर्जित किया है। गिरोह हत्या, लूट, डकैती, धोखाधड़ी करके दहशत फैलाता है। साथ ही जमीन कब्जा करना, विवादित जमीन पर धमका कर अवैध रूप से धन प्राप्त करना भी पेशा है।

थानेदार ने बताया कि सुधीर सफेदपोश माफिया एवं जिलाबदर है। गैंगस्टर एक्ट के 14 (1) के तहत जब्तीकरण के क्रम में उसकी शेष संपत्ति कालेसर स्थित गांव का आलीशान मकान, जिसकी कीमत करीब एक करोड़ के आसपास है, को भी जब्त करने के लिए नोटिस तामील कराया गया है। जल्द ही जब्तीकरण की कार्रवाई की जाएगी। सुधीर की शाहपुर स्थित संपत्ति पहले ही जब्त हो चुकी है।

 

दिसंबर में किए गए थे देवरिया जिला बदर

शाहपुर पुलिस ने माफिया सुधीर सिंह को सात दिसंबर 2020 को छह महीने के लिए जिला बदर करते हुए देवरिया पहुंचाया था। उसके खिलाफ गुंडा एक्ट की कार्रवाई की गई थी, जिसके बाद जिला बदर किया गया।

सुधीर पर दर्ज हैं 20 मुकदमे
सुधीर सिंह पर गोरखपुर और लखनऊ में हत्या व हत्या की कोशिश सहित 20 मुकदमे दर्ज हैं। इसमें शाहपुर में 917/04 : लूट का एक, डकैती का एक, 2009 में गैंगस्टर एक्ट, फिर गुंडा एक्ट, हत्या की कोशिश, 9सीएलए एक्ट, 2010 में दोबारा गैंगस्टर, हत्या की कोशिश, आपराधिक साजिश के मुकदमे दर्ज हैं।

गुलरिहा थाने में हत्या की कोशिश का केस दर्ज है। कैंट में हत्या, 7सीएलए एक्ट, गैंगस्टर, हत्या की कोशिश का एक, आर्म्स एक्ट, डकैती, हत्या की कोशिश, मारपीट, सहजनवां में गैंगस्टर, लखनऊ के विकासनगर थाने में हत्या, हत्या की कोशिश और आपराधिक साजिश का केस दर्ज हैं।

दिसंबर में किए गए थे देवरिया जिला बदर

Most Popular