HomeगोरखपुरGorakhpur news- गोरखपुर: रामगढ़ताल में उतराया मिला प्राइवेट बस चालक का शव,...

Gorakhpur news- गोरखपुर: रामगढ़ताल में उतराया मिला प्राइवेट बस चालक का शव, जांच में जुटी पुलिस

विस्तार

गोरखपुर के कैंट इलाके के भैरोपुर महटोलिया के पास शुक्रवार की शाम छह बजे रामगढ़ताल में उतराया प्राइवेट बस चालक बबलू पांडेय (36) का शव मिला। सूचना पर सीओ कैंट अजय कुमार सिंह, इंस्पेक्टर अनिल उपाध्याय मौके पर पहुंच गए। बस चालक के सिर व कनपटी के पास चोट के निशान है जिससे उसकी हत्या की आशंका जताई जा रही है। हालांकि अभी परिजनों ने कोई तहरीर नही दी है। पुलिस का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद ही मौत की वजह स्पष्ट हो पाएगी।

बबलू पांडेय मूल रूप से झंगहा के बरही चौकी के मिश्रवलिया गांव के निवासी थे। वह पत्नी प्रियंका और चार बच्चों के साथ आरकेवीके के पास एक कमरे में रहते थे। बबलू प्राइवेट बस चलाते थे अक्सर व दस से पंद्रह दिन बाहर ही रहते थे। पत्नी के मुताबिक, 25 मार्च की शाम वह घर पर मीट लाए और दोस्त बुलाने की बात कहकर निकले थे तभी से लापता थे।

इधर, पत्नी ने देर रात तक वापस न आने पर अपने ससुर को फोन की तो उन्होंने कहा कि घबराओ मत अक्सर वह बाहर रहते है बस चलाने गए होंगे। शुक्रवार को भैरोपुर के महटोलिया में सुबह से दुर्गंध फैल रही थी। शाम को ताल के पास रहने वाले परिवार के बच्चे गेंद खेल रहे थे।

गेंद तालाब के पास गया वह गेंद लाने गए तो देखा की शव पानी में उतरा रहा था। लोगों ने सूचना पार्षद पुत्र संजय, परवीन व भाजपा के अभिलाष शाही को दी। इन लोगों ने सूचना पुलिस को दी। जिसके बाद पुलिस पहुंची और शव निकलवाई। सूचना पाकर बबलू की पत्नी भी पहुंची और  फोटो के माध्यम से अपने पति बबलू के रूप में उसकी पहचान की। बबलू तीन भइयों में बड़ा है।

 

लापता होने के बाद से गुमसुम थी पत्नी

बेटे अभय ने बताया कि मां प्रियंका पापा के लापता होने के बाद से ही गुमसुम रहती थीं। वह अक्सर पास के शनिदेव मंदिर जाती और भगवान से पापा के लौटने की मनुहार करती। साथ ही पंडित व ज्योतिष से मिली। कुछ दिन पहले तारामंडल इलाके में शव मिलने की सूचना पर वहां पहुंची थी। लेकिन वह कोई दूसरा ही था। लेकिन कही भी पुलिस के पास गुमशुदगी नहीं दर्ज करायी।

बच्चों के सर से उठा पिता का साया
सूचना के बाद बबलू की पत्नी अपने सभी बच्चों के साथ मौके पर पहुंच गयी। वह पूरे समय रोती रही। बड़ी बेटी पूजा कभी खुद रोती कभी रिश्तेदारों का फोन आने पर उन्हें शव मिलने की जानकारी दे रही थी। तो वही कभी वह बाद में बात करने की बात करते करते रोने लगती। कुछ इसी तरह की हालत अभय, ज्योति व शुभम की भी थी। वे सब भी लोगों के सवालों का जवाब देते और कभी मां को चुप कराते तो कभी खुद रोने लगते। यह देख आसपास के लोगों की आंखों में भी आंसू आ गए।

भाई से उस दोस्त का पुलिस ने लिया नंबर
मृतक के भाई प्रेम से पुलिस ने उस दोस्त का नंबर भी लिया जिसने उसे बुलाया था। लेकिन पुलिस अभी खुलकर कुछ नहीं बोल रही है। वह पीएम रिपोर्ट के आने का इंतजार कर रही है। परिजनों ने भी अभी तक तहरीर नहीं दी है न ही कोई आरोप लगाया है।

कैंट इंस्पेक्टर अनिल उपाध्याय ने कहा कि मामले की जांच की जा रही है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद स्थिति स्पष्ट होगी। युवक कई दिनों से लापता था, सिर पर चोट के निशान है लेकिन वह गिरने से आया है फिर कोई और वजह जांच में पता चल जाएगा।
 

लापता होने के बाद से गुमसुम थी पत्नी

Most Popular