HomeगोरखपुरGorakhpur news- Exclusive: भाजपा ने साधा मिशन 2022 का चुनावी गणित, हिंदुत्व...

Gorakhpur news- Exclusive: भाजपा ने साधा मिशन 2022 का चुनावी गणित, हिंदुत्व को दी धार

विस्तार

गोरखपुर जिला पंचायत वार्डों के टिकट बंटवारे से भाजपा ने मिशन 2022 का चुनावी गणित भी साधा है। एक तरफ जहां सामाजिक व जातीय संतुलन साधा गया है, वहीं हिंदुत्व को भी धार दी गई है। पार्टी ने आधिकारिक तौर पर 67 वार्डों से प्रत्याशी उतारे हैं, इनमें एक भी मुस्लिम प्रत्याशी नहीं है। पार्टी ने पदाधिकारी व कार्यकर्ताओं को टिकट देकर संदेश दिया है कि वह संगठन में काम करने वालों का खास ख्याल रखती है।

गोरखपुर में विधानसभा की नौ सीटें हैं। चिल्लूपार विधानसभा सीट (बसपा) को छोड़ दिया जाए तो आठ सीटें भाजपा के पास हैं। जिला पंचायत वार्ड इन्हीं क्षेत्रों से जुड़े हैं। लिहाजा, पार्टी ने आगामी विधानसभा चुनाव के हिसाब से जिला पंचायत वार्डों की प्रत्याशिता तय की है। सपा के वोट बैंक में भी सेंधमारी की कोशिश हुई है।

जंगल कौड़िया द्वितीय से बलबीर यादव, भरोहिया कैंपियरगंज से विजय शंकर यादव और ब्रह्मपुर प्रथम से विपिन उर्फ शैलेश यादव को टिकट दिया गया है। पार्टी नेताओं का कहना है कि इस प्रयोग के जरिए सपा का भ्रम तोड़ा जाएगा। संदेश दिया जाएगा कि भाजपा जाति-धर्म की राजनीति नहीं करती है। टिकट बंटवारे में ज्यादातर वर्गों का ख्याल रखती है।

 

निषादों को तवज्जो, निशाना आगामी विधानसभा चुनाव

मिशन 2022 नजदीक है। लिहाजा, निषाद मतदाताओं को रिझाया गया है। जिला पंचायत के सात वार्डों से निषादों को टिकट दिया गया है। इसमें दो महिलाएं (राजकुमारी निषाद व कलावती निषाद) भी शामिल हैं। रमेश निषाद, पप्पू निषाद, अंगद निषाद, बाबूराम निषाद व ब्रह्मदेव निषाद को टिकट मिला है।

दरअसल, गोरखपुर में नौ विधानसभा सीटें हैं। भाजपा के पास उपलब्ध आंकड़ों के मुताबिक नौ विधानसभा क्षेत्रों में साढ़े चार लाख से ज्यादा निषाद मतदाता हैं, जो किसी भी पार्टी या प्रत्याशी की जीत-हार में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। इससे पहले भाजपा ने जय प्रकाश निषाद को राज्यसभा भेजा है। 2019 के लोकसभा चुनाव से निषाद पार्टी भाजपा की सहयोगी है। अब जिला पंचायत वार्डों में निषादों को प्रतिनिधित्व देकर भाजपा इनके बीच मजबूत पैठ बनाने में जुटी है।   

आधी आबादी पर ज्यादा भरोसा
जिला पंचायत वार्डों के टिकट बंटवारे में भाजपा ने आधी आबादी पर ज्यादा भरोसा दिखाया है। 67 वार्डों के प्रत्याशियों की जो सूची जारी हुई है, उसमें 25 महिलाओं के नाम हैं। तकरीबन हर तबके की महिलाओं को प्रतिनिधित्व मिला है। वार्ड नंबर-19 से टिकट नहीं जारी किया गया है। इस सीट से पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष साधना सिंह चुनाव की तैयारी कर रही हैं। अगर भाजपा ने साधना को प्रत्याशी बनाया तो यह संख्या बढ़कर 26 हो जाएगी।

 

पार्टी पदाधिकारी और कार्यकर्ताओं को खुश किया

टिकट बंटवारे में संगठन को तवज्जो दी गई है। निवर्तमान जिला पंचायत सदस्य व भाजपा प्रदेश कार्य समिति के सदस्य माया शंकर शुक्ला को फिर चुनाव मैदान में उतारा गया है। जिला उपाध्यक्ष मनोज कुमार शुक्ला वार्ड-56 कौड़ीराम प्रथम से प्रत्याशी बनाए गए हैं। वार्ड नंबर-10 चरगांवा द्वितीय से जिला मंत्री नरेंद्र सिंह सैंथवार चुनाव लड़ रहे हैं।

भारतीय जनता युवा मोर्चा (भाजयुमो) के जिला मंत्री रवि प्रताप सोलंकी को वार्ड नंबर-23 पाली व सहजनवां से प्रत्याशी बनाया गया है। उरुवा मंडल के अध्यक्ष अमित चंद पांडेय वार्ड नंबर-39 उरुवा प्रथम से प्रत्याशी बनाए गए हैं। मंडल, बूथ और वार्ड स्तरीय संगठन के पदाधिकारियों को भी प्रत्याशी बनाया गया है। जिलाध्यक्ष युधिष्ठिर सिंह सैंथवार का कहना है कि संगठन में काम करने वाले पदाधिकारी, कार्यकर्ताओं को ही आगे बढ़ाया जाता है। यही भाजपा की विशेषता है।

2017 के विधानसभा चुनाव में इन सीटों पर भाजपा को मिली थी जीत: गोरखपुर शहर, गोरखपुर ग्रामीण, पिपराइच, कैंपियरगंज, सहजनवां, खजनी, बांसगांव और चौरीचौरा।

भाजपा क्षेत्रीय उपाध्यक्ष विश्वजितांशु सिंह आशु ने कहा कि जिला पंचायत वार्डों के टिकट बंटवारे में सामाजिक, जातीय समीकरण का ख्याल रखा गया है। हर वर्ग को साधकर आगे बढ़ना अच्छा रहता है। पंचायत चुनाव की तैयारी पूरी है। आगामी विधानसभा चुनाव भी दमदारी से लड़ा जाएगा।
 

निषादों को तवज्जो, निशाना आगामी विधानसभा चुनाव

Most Popular