Home लखनऊ Lucknow news- उप मुख्यमंत्री ने दिए निर्देश, सड़कों से जल्द जुड़ेंगे 250...

Lucknow news- उप मुख्यमंत्री ने दिए निर्देश, सड़कों से जल्द जुड़ेंगे 250 तक की आबादी के सभी गांव

उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि 250 तक की आबादी के सभी असेवित गांवों को संपर्क मार्गों से जोड़ने के हरसंभव प्रयास किए जाएं। इसके लिये बजट की कमी हो, तो उसका भी प्रावधान सुनिश्चित कराया जाएं। उन्होने कहा कि ग्रामीण मार्ग जहां कहीं भी क्षतिग्रस्त हैं, अभियान चलाकर उनकी मरम्मत कराई जाए। उपमुख्यमंत्री अपने सरकारी आवास पर आयोजित बैठक में लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को दिशा-निर्देश दे रहे थे। उन्होंने कहा कि पूर्वांचल विकास निधि व बुंदेलखंड विकास निधि के कार्य तेजी से कराए जाएं। इन क्षेत्रों के लिए बजट में विशेष व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। जोन, सर्किल व खंडवार व्यय की गई राशि की रैंकिंग करायी जाएं। जहां खर्च में लापरवाही की गई हो, उनसे संबंधित अधिकारियों व कर्मचारियों के विरुद्ध कार्रवाई के निर्देश भी दिए। कहा कि अवर अभियंताओं की भी इसमें जवाबदेही तय की जाए।

उप मुख्यमंत्री ने कहा कि 250 की आबादी के जो गांव किसी भी योजना से सड़कों से संतृप्त हो गए हैं, उनको सूची से अलग किया जाए और वास्तविक बचे असेवित गांवों को संतृप्त किया जाय। मौर्य ने कहा कि पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के 5 किमी के अंदर के गांवों को सर्विस रोड से जोड़ने की कार्ययोजना बनाई जाए। प्रदेश में लोक निर्माण विभाग, सेतु निगम व राजकीय निर्माण निगम ने उत्कृष्ट कार्य किए हैं, इन सभी कार्यों की एक डाक्यूमेंट्री फिल्म बनाई जाए और उसके माध्यम से विभाग के कार्यों का व्यापक स्तर पर प्रचार-प्रसार सुनिश्चित कराया जाए। जो परियोजनाएं पूरी हो चुकी हैं, उनके लोकार्पण का कार्य 15 दिन में सुनिश्चित किया जाए। 

कांवड़ पथ, अयोध्या फ्लाई ओवर व प्रयागराज को जोड़ने वाले मार्ग के आगणन तत्काल शासन को उपलब्ध कराने को कहा। जो नए राजमार्ग घोषित हुए हैं, उनकी मरम्मत और चौड़ीकरण के आगणन तत्काल दें। कुंडा से मनगढ़ मार्ग को 4 लेन किए जाने की कार्यवाही तत्काल सुनिश्चित की जाए। उन्होने कहा कि परियोजनाओं की निगरानी के लिए शासन स्तर और विभाग से एक-एक नोडल अफसर की तैनाती भी हो।  ओवरलोडिंग से खराब हो रही सड़कों पर कहा कि परिवहन आयुक्त व गृह विभाग को इसके बारे में पत्राचार कर कार्रवाई की जाए।

Most Popular