Home लखनऊ Lucknow news - कानपुर का बिकरू कांड: गैंगस्टर विकास दुबे के भाई...

Lucknow news – कानपुर का बिकरू कांड: गैंगस्टर विकास दुबे के भाई का मकान कुर्क; उसके खिलाफ दो FIR, पुलिस की गिरफ्तार नहीं कर पाई

यूपी की राजधानी लखनऊ के कृष्णा नगर में विकास दुबे के भाई दीप प्रकाश दुबे के घर को पुलिस ने कुर्क कर लिया है। वह घटना के बाद से ही फरार है।

50 हजार इनामी दीप प्रकाश बिकरू कांड के बाद से ही फरार हैलखनऊ के कृष्णानगर कोतवाली में दीप प्रकाश पर दो मुकदमे दर्ज हैं

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के कृष्णा नगर थाना क्षेत्र स्थित इंद्रलोक कॉलोनी में बिकरु कांड के मास्टर माइंड विकास दुबे के भाई दीप प्रकाश दुबे के घर पर कुर्की की कार्रवाई की गई। दीप प्रकाश दुबे पर लखनऊ के कृष्ण नगर थाना में दो FIR दर्ज हैं और पुलिस ने उसके ऊपर 50 हजार का इनाम घोषित कर रखा है। दीप प्रकाश दुबे कानपुर में हुए बिकरु कांड के बाद से फरार है।

कानपुर के बिकरु गांव में 2 जुलाई 2020 को हुए कांड में दीप प्रकाश दुबे के भाई विकास दुबे ने 8 पुलिसकर्मियों की हत्या कर दी थी। उसके बाद से दीप प्रकाश दुबे लगातार फरार चल रहा है। दीप प्रकाश दुबे के खिलाफ कृष्ण नगर थाने में धमकाकर एंबेसडर कार छीनने सहित अन्य कई धाराओं में मुकदमा पंजीकृत है। इसे लेकर पुलिस लगातार दीप प्रकाश दुबे को पकड़ने के लिए छापेमारी कर रही है। लेकिन, अभी तक दीप प्रकाश दुबे पुलिस की गिरफ्त में नहीं आया है।

पुलिस ने दीप प्रकाश दुबे के घर पर कुर्की की एक नोटिस भी चस्पा कर दी थी। इसके बाद शुक्रवार को दीप प्रकाश के घर पर पुलिस कुर्की की कार्रवाई कर रही है। दीप प्रकाश पर 50 हजार का इनाम विकास दुबे के सहयोगियों के खिलाफ पुलिस लगातार एक्शन ले रही है।

दीप प्रकाश दुबे के खिलाफ कई मुकदमे दर्ज

शुक्रवार को विकास दुबे के भाई दीप प्रकाश दुबे के लखनऊ के इंद्रलोक कॉलोनी स्थित घर पर जहां पर प्रकाश दुबे की पत्नी बच्चे व मां रहती हैं। वहां कुर्की की कार्रवाई के लिए पुलिसकर्मी तैनात है. दीप प्रकाश दुबे के ऊपर लखनऊ के कृष्ण नगर थाना दो मुकदमे पंजीकृत हैं। पुलिस ने दीप प्रकाश दुबे के ऊपर 50 हजार रुपये का इनाम भी घोषित किया हुआ है। बिकरु कांड में 6 महीने बीत जाने के बाद भी अभी तक पुलिस दीप प्रकाश दुबे को गिरफ्तार नहीं कर पाई है।

एडीसीपी सेंट्रल चिरंजीवी सिन्हा का कहना है कि, दीप प्रकाश दुबे फरार है। जिनके संपत्ति को कुर्क करने की कार्यवाही कोर्ट के आदेश के बाद कि गई है।

Most Popular