Home लखनऊ Lucknow news - कोरोना के नए वर्जन को लेकर UP में अलर्ट:...

Lucknow news – कोरोना के नए वर्जन को लेकर UP में अलर्ट: CM योगी ने दिए सतर्कता के निर्देश, पिछले 15 दिनों के भीतर प्रदेश में आए लोगों की होगी कान्टेक्ट ट्रेसिंग

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ब्रिटेन में कोरोना के नए वायरस के सामने आने के बाद यूपी में अधिकारियों को अलर्ट जारी किया है।

इस वक्त प्रदेश में एक्टिव केसों की कुल संख्या 16,691 हैकल प्रदेश में अब तक 2,26,92,833 सैंपल की जांच की जा चुकी है

उत्तर प्रदेश में कोरोना मरीजों की संख्या में तेजी से सुधार हो रहा है। वहीं पिछले कुछ दिनों में मौतों की संख्या में भी कमी देखने को मिली है। अपर मुख्य सचिव अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि इस समय में उत्तर प्रदेश में एक्टिव केसों की संख्या केवल 16691 बची है। 24 घंटे के अंदर प्रदेश में 1330 मरीजों ठीक होकर घर गए हैं।

उन्होंने बताया कि प्रदेश में एक दिन पहले एक लाख 27 हजार 219 सैंपल की जांच की गई थी। अब तक दो करोड़ 26 लाख 92 हजार 833 सैंपल यूपी में की जा चुकी है। उन्होंने बताया कि यूपी में 1277 नए पॉजिटिव मिले हैं। अब तक 8224 मरीज कोरोना से दम तोड़ चुके हैं।

ब्रिटेन में कोरोना के नए वायरस स्ट्रेन को लेकर सीएम योगी ने यूपी में सतर्कता बरतने के निर्देश दिए हैं। सीएम ने कहा कि जिन देशों में वायरस का नया स्वरूप सामने आया है, ऐसे देशों से पिछले 15 दिन में प्रदेश में आए लोगों की कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग तथा क्वारैंटाइन की प्रभावी व्यवस्था सुनिश्चित की जाए।

पिछले 24 घंटों में प्रदेश में कोरोना के 1,277 नए मामले सामने आए और 1,330 लोग डिस्चार्ज हुए। अब तक संक्रमण से 8,224 लोगों की मौत हो चुकी है: अमित मोहन प्रसाद, उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य #COVID19 pic.twitter.com/ZDz3ngkChi

— ANI_HindiNews (@AHindinews) December 22, 2020

मंगलवार को लोकभवन में हुई उच्च स्तरीय बैठक

मुख्यमंत्री योगी मंगलवार को लोक भवन में आयोजित एक उच्चस्तरीय बैठक में अनलॉक व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने निर्देश दिए कि प्रत्येक जिले में स्थानीय प्रशासन यह सुनिश्चित करें कि विदेश से आए लोगों की कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग अनिवार्य रूप से की जाए।

उन्होंने कहा कि कोरोना के नए स्वरूप को ध्यान में रखते हुए विगत 15 दिनों के दौरान प्रदेश में विदेश से आए लोगों की जांच की जाए। उन्होंने इस सम्बन्ध में स्वास्थ्य विभाग को एक हेल्पलाइन नम्बर जारी करने के निर्देश दिए हैं।

Most Popular