HomeलखनऊLucknow news- कोविड-नॉन कोविड अस्पतालों में गहराया ऑक्सीजन संकट, भर्ती पर रोक

Lucknow news- कोविड-नॉन कोविड अस्पतालों में गहराया ऑक्सीजन संकट, भर्ती पर रोक

राजधानी में ऑक्सीजन का संकट गहराने से कोविड मरीजों की जान सांसत में है और अफसर ऑक्सीजन उपलब्धता के हवाई दावे कर रहे हैं।

बृहस्पतिवार को निजी कोविड अस्पतालों में ऑक्सीजन का बैकअप महज दो से तीन घंटे का रहा। इससे अस्पताल प्रशासन समेत अफसरों की सांसें थमी रहीं।

निजी अस्पतालों ने ऑक्सीजन न होने पर हाथ खडे़ कर लिए। प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग के अफसरों ने किसी तरह सभी निजी कोविड अस्पतालों को ऑक्सीजन दिलाकर राहत दिलवाई। अफसर पूरे दिन ऑक्सीजन को लेकर माथापच्ची करते रहे।

बीतें दिनों नॉन कोविड से कोविड में बदले गए 97 निजी अस्पतालों में मरीजों की भर्ती पर अभी भी संकट बना हुआ है। इसकी वजह है कि अस्पतालों में ऑक्सीजन की उपलब्धता नहीं हो पा रही है।

बृहस्पतिवार को कई निजी अस्पतालों में ऑक्सीजन संकट से कोविड कमांड से भी मरीजों की भर्ती नहीं की गई। इसके चलते कई मरीजों का ऑक्सीजन लेवल गिरने की स्थिति में उनकी जान चली गई।

कारर्पोरेट अस्पतालों में ही अभी ऑक्सीजन की सुविधा है। मंझोले व छोटे कोविड व नॉन कोविड अस्पतालों में भी ऑक्सीजन खत्म हो चुकी है।

प्रशासन के तमाम दावों के बाद भी इन अस्पतालों में ऑक्सीजन नहीं पहुंच पा रही है। जो मिल रही है वह कुछ घंटों में खत्म हो जा रही है।

मैकवेल अस्पताल में दोपहर में महज तीन घंटे का बैकअप ऑक्सीजन बचा था। कई प्रयासों के बाद भी ऑक्सीजन सरकारी स्तर पर नहीं मिल पाई।

इसी तरह शेखर हॉस्पिटल में ऑक्सीजन सिलेंडर गायब हो चुके हैं उनकी जगह पर ऑक्सीजन कंसरटरेटर की मदद से मरीजों को ऑक्सीजन दी जा रही है।

मेयो अस्पताल में दोपहर तीन बजे करीब दो घंटे तक का बैकअप बचा था। सभी निजी कोविड अस्पतालों की गाड़ियां ऑक्सीजन प्लांट पर सिलिंडर लेने के लिए दिन भर खड़ी रहीं।

यही स्थिति चरक अस्पताल की भी रही। सीएमओ डॉ. संजय भटनागर के मुताबिक, ऑक्सीजन का संकट जल्द खत्म होने वाला है।

सिविल अस्पताल में पुलिस अभिरक्षा में रखी गई ऑक्सीजन
सिविल अस्पताल में ऑक्सीजन सिलेंडर लेने के लिए बृहस्पतिवार दोपहर ऑक्सीजन स्टोर की तरफ भीड़ उमड़ पड़ी। इससे अस्पताल में हड़कंप मच गया। लोग रुपये देकर सिलेंडर ले जाना चाह रहे थे। इसे लेकर अस्पताल प्रशासन व लोगों के बीच काफी देर बहस हुई। मामला बिगड़ता देख अस्पताल प्रशासन ने पुलिस बुला ली। मौके पर आई पुलिस ने लाठी पटककर भीड़ को खदेड़ा। मामले की गंभीरता देख अस्पताल प्रशासन ने पुलिस बल की तैनाती ऑक्सीजन स्टोर बाहर करने की मांग की। इसके बाद ऑक्सीजन स्टोर बाहर पुलिस के जवान तैनात कर दिए गए हैं।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular