Home लखनऊ Lucknow news- कोविड रिपोर्ट निगेटिव दिखाने के बाद मिलेगा माघ मेले और...

Lucknow news- कोविड रिपोर्ट निगेटिव दिखाने के बाद मिलेगा माघ मेले और संत समागम में प्रवेश, सीएम योगी ने की समीक्षा

प्रयागराज के माघ मेले और फरवरी-मार्च में वृंदावन में होने वाले संत समागम में श्रद्धालुओं को कोविड-19 की निगेटिव रिपोर्ट दिखाने के बाद ही मेला क्षेत्र में प्रवेश दिया जाएगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को माघ मेले और संत समागम की तैयारियों की वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए समीक्षा करते हुए कहा कि श्रद्धालु मेला क्षेत्र में आने से पहले अपना कोविड टेस्ट अवश्य करा लें, ताकि कोविड की नेगेटिव रिपोर्ट के आधार पर वे मेला क्षेत्र में आसानी से प्रवेश कर सकें। उन्होंने मेला क्षेत्र में श्रद्धालुओं और संतों के प्रवेश से पहले आरटीपीसीआर पद्धति से कोविड टेस्ट अनिवार्य रूप से कराने और उनके बाद मेला क्षेत्र में रैपिड इंटीजन टेस्ट के जरिए श्रद्धालुओं की जांच कराने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा माघ मेले और संत समागम में प्रयागराज कुंभ-2019 की तरह बेहतर व्यवस्थाएं की जाएगी।  श्रद्धालुओं और संतों के स्वास्थ्य के प्रति सरकार संवेदनशील है, मेला क्षेत्र में कोविड प्रोटोकॉल का पालन किया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने अपने सरकारी आवास पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से तैयारियों की समीक्षा करते हुए कहा कि प्रयागराज में जनवरी-फरवरी में माघ मेला आयोजित किया जाएगा। वृंदावन में 16 फरवरी से 28 मार्च तक माघ मेले का आयोजन किया जाएगा। उन्होंने माघ मेले के लिए  प्रयागराज मेला विकास प्राधिकरण और उत्तर प्रदेश बृज क्षेत्र तीर्थ विकास परिषद को संत समागम की तैयारियां तेज करने के निर्देश दिए। उन्होंने मुख्य सचिव स्तर पर दोनों आयोजनों की साप्ताहिक और मासिक समीक्षा करने के निर्देश दिए। उन्होंने कल्पवासियों व साधु-संतों के लिए उच्च स्तर की व्यवस्था करते हुए सभी सुविधाएं उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। कहा कि मेला क्षेत्र में सुविधाओं और सुरक्षा से किसी भी प्रकार का समझौता बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

मुख्यमंत्री  ने कहा कि प्रदेश में कोविड-19  नियंत्रण की स्थिति में है, लेकिन इसका खतरा अभी टला नहीं है। मेलों जैसे बड़े आयोजनों में सतर्कता, बचाव और सावधानी आवश्यक है। उन्होंने कहा कि मेला क्षेत्र में कोई भी व्यक्ति कोरोना संक्रमित पाया जाता है उसे तुरंत अस्पताल में भर्ती कराकर कांट्रेक्ट ट्रैसिंग कराकर संबंधित लोगों को क्वारंटाइन किया जाए। उन्होंने  बेहतर सर्विलांस और नियंत्रण के लिए प्रयागराज के इंटीग्रेटेड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर की तरह वृन्दावन में भी सेंटर स्थापित  करने के निर्देश दिए। उन्होंने मेला क्षेत्रों में अनावश्यक भीड़ को नियंत्रित करने, शुद्ध पेयजल, खाद्यान्न की उपलब्धता, विद्युत आपूर्ति,  चिकित्सालयों और एम्बुलेंस की उचित व्यवस्था करने के निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री ने प्रयागराज में एक जनवरी से 16 फरवरी तक गंगा नदी और वृंदावन में 1 फरवरी से 28 मार्च तक यमुना नदी के जल को निर्मल और अविरल बनाने के निर्देश दिए। उन्होंने नदियों में गिरने वाले अवशेष सीवर और नालों को टैप करने का कार्य समय पर पूरा करने और आयोजनों की अवधि के दौरान सफाई की पुख्ता इंतजाम करने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने माघ मेले और संत समागम के आयोजन से जुड़ी सभी विभागों को आपसी समन्वय से काम करने के निर्देश दिए।  बैठक में माघ मेला 2020-21 तथा संत समागम-2021 की तैयारियों का प्रस्तुतीकरण भी किया गया।

Most Popular