HomeलखनऊLucknow news - खास बना UP का ये स्कूल: चार करोड़ की...

Lucknow news – खास बना UP का ये स्कूल: चार करोड़ की लागत से संवर रहा बरेली का प्राथमिक स्कूल; क्लासरूम में प्रोजेक्टर-CCTV जैसी सुविधाएं, एडमिशन की मची होड़

बरेली में जसौली स्थित प्राथमिक स्कूल को संवार दिया गया है। यहां अपने बच्चों का दाखिला कराने के लिए अभिभावकों की हर दिन भीड़ जुट रही है। - Dainik Bhaskar

बरेली में जसौली स्थित प्राथमिक स्कूल को संवार दिया गया है। यहां अपने बच्चों का दाखिला कराने के लिए अभिभावकों की हर दिन भीड़ जुट रही है।

दिल्ली के स्कूलों को मात देगा बरेली का ये स्कूल, उद्योगपति ने दिल्ली सरकार की चुनौती को स्वीकार कर स्कूल को संवारा

उत्तर प्रदेश बनाम दिल्ली के प्राथमिक स्कूलों को लेकर योगी सरकार और केजरीवाल सरकार के बीच बीते दिनों जमकर वार-पलटवार देखने को मिला। यहां तक स्कूल के निरीक्षण का चैलेंज भी दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसौदिया ने UP के मंत्रियों को दिया था। नेताओं ने इस चुनौती को भले ही अपने नफा-नुकसान देखकर आंका हो, लेकिन बरेली में एक उद्योगपति शकील कुरैशी को यह बात चुभ गई। उन्होंने किला थाना क्षेत्र के जसौली में स्थित एक पुराने सरकारी विद्यालय को 4 करोड़ रुपए ऐसा संवारा है, जो आधुनिकता के दौड़ में किसी कॉन्वेंट या विदेशी स्कूल से कमतर नहीं है।

विद्यालय में क्या-क्या सुविधाएं

जसौली प्राथमिक विद्यालय के 24 क्लासरूम को प्रोजेक्टर से लैस किया गया है। सभी क्लासों में CCTV कैमरे लगाए गए हैं। विद्यालय में बच्चों के खेलने के लिए 6 पार्क बनाए गए। साथ ही स्कूल के पार्को को सुंदर बनाने के लिए अमेरिकन घास को लगाया गया है। बच्चों की सुरक्षा के लिए यहां सुरक्षा गार्ड का भी इंतजाम किया गया है। स्कूल में साफ सफाई के मकसद से आधुनिक टॉयलेट, मिड-डे-मिल के लिए अलग रसोई की व्यवस्था की है।

अमेरिकन घास से पार्क बनाया गया है।

अमेरिकन घास से पार्क बनाया गया है।

वहीं, पढ़ाई की बात की जाए यहां 20 टीचरों को अपॉइंट किया जाएगा। स्कूल के सभी क्लास फुल AC और डिजिटल होंगे। सभी क्लास रूम में विषय की पेंटिंग भी कराने के इंतजाम किए गए हैं। प्रधानाध्यापक का कक्ष भी किसी अधिकारी की तरह होगा। विद्यालय को देखकर आप यह महसूस कर सकते हैं कि यह स्कूल गरीब बच्चों के लिए 5 स्टार होटल जैसा ही होगा। फिलहाल विद्यालय का निर्माण अप्रैल माह के अंत में पूरा होने की उम्मीद है।

क्लासरूम में कुर्सी-मेज व प्रोजेक्टर लगाया गया है।

क्लासरूम में कुर्सी-मेज व प्रोजेक्टर लगाया गया है।

क्या कहते हैं यहां के प्रधानाध्यापक?जसौली प्राथमिक विद्यालय के प्रधानाध्यापक हरीश बाबू कहते हैं कि उनके स्कूल का निर्माण लगभग 3 से 4 करोड़ रुपए की लागत से उद्योगपति शकील कुरेशी द्वारा कराया जा रहा है। विद्यालय के स्थानीय प्रशासन से लेकर शासन के लोग बराबर नजर बनाए हुए हैं। उन्हें उम्मीद है उनका विद्यालय यूपी में रोल मॉडल साबित होगा। विद्यालय को देखने के लिए केंद्रीय मंत्री संतोष गंगवार के साथ प्रदेश सरकार के विशेष सचिव भी आ चुके हैं।

दीवारों को भी सुंदर बनाया गया है।

दीवारों को भी सुंदर बनाया गया है।

जसौली स्कूल में अभिभावकों की लगने लगी लाइन

विद्यालय के प्रधानाध्यापक हरीश बाबू बताते हैं कि विद्यालय में करीब 600 विद्यार्थी पढ़ते हैं। लेकिन इस बार यह संख्या काफी बढ़ने वाली है। यहां निजी स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों के अभिभावक रोज स्कूल में अपने बच्चों के एडमिशन के लिए पहुंच रहे है।

पूरे परिसर को हरा भरा बनाया गया है। साथ ही टाइल्स लगाए गए हैं।

पूरे परिसर को हरा भरा बनाया गया है। साथ ही टाइल्स लगाए गए हैं।

जिले में कई विद्यालयों का हो चुका है कायाकल्प

बरेली में कई विद्यालयों का कायाकल्प योजना के अंतर्गत विकास हुआ है। माना जाता है कि डीएम नितीश कुमार की दूरदृष्टि के चलते यह संभव हुआ है। इसके बावजूद शहर के कुछ प्राथमिक स्कूलों की हालत दयनीय है।

टॉयलेट को आधुनिक तरीके से बनाया गया है।

टॉयलेट को आधुनिक तरीके से बनाया गया है।

अप्रैल के अंत तक निर्माण कार्य पूरा हो जाएगा।

अप्रैल के अंत तक निर्माण कार्य पूरा हो जाएगा।

खबरें और भी हैं…

Most Popular