HomeलखनऊLucknow news- ठहाके लगाते हुए व्यवसायी की पत्नी की हत्या करने वाला...

Lucknow news- ठहाके लगाते हुए व्यवसायी की पत्नी की हत्या करने वाला सिरफिरा गया जेल

लखनऊ। गोमतीनगर के विश्वास खंड में बुधवार को व्यापारी डॉ. हर्ष अग्रवाल की पत्नी रुचि अग्रवाल (38) का ठहाके लगाते हुए बेरहमी से कत्ल करने वाले बढ़ई गुलफाम को गुरुवार को पुलिस ने कोर्ट में पेश किया। वहां से उसे न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया गया। इससे पहले पुलिस ने गुलफाम की निशानदेही पर आला कत्ल भी बरामद कर लिया।

मालूम हो कि अमीनाबाद के गणेशगंज के मूल निवासी डॉ. हर्ष अग्रवाल दीपावली पर 1/39 विश्वास खंड, गोमतीनगर के अपने नए मकान में शिफ्ट हुए थे। हर्ष मकान की दूसरी मंजिल पर रहते हैं। जबकि पहली मंजिल पर उनके भाई अमित अग्रवाल उर्फ मंटू के रहने के लिए कई महीने से फिनिशिंग का काम चल रहा है। ठेकेदार इम्तियाज ने हर्ष के यहां लकड़ी का काम करने के लिए कारपेंटर गुलफाम निवासी फरीदीपुर, थाना ठाकुरगंज व इम्तियाज निवासी मड़ियांव को लगाया था। दोनों कारपेंटर करीब ढाई महीने से हर्ष के यहां काम कर रहे थे। बुधवार दोपहर गुलफाम अचानक बरमा (लकड़ी में छेद करने का औजार) लेकर रुचि के हॉल में आया और उनकी छोटी बेटी वामिका गले पर रखकर जान से मारने की धमकी दी। रुचि ने बेटी से कमरे में भागने को कहा तो कारपेंटर ने बरमा से उन पर हमला कर दिया। रुचि ने बचाव में काफी संघर्ष किया, लेकिन आरोपी ठहाके लगाते हुए उन पर वार करता रहा। उसने हॉल में तोड़फोड़ करने के साथ ही पालतू कुत्ते को भी हमला करके घायल कर दिया। रुचि को लोहिया अस्पताल पहुंचाया गया, जहां कुछ देर बाद ही उनकी मौत हो गई थी। पुलिस ने कुछ घंटे में ही आरोपी कारपेंटर गुलफाम को ठाकुरगंज के फरीदीपुर से दबोच लिया था। पूछताछ में पता चला कि बिजनेस करने के लिए रकम देने से मना करने से वह नाराज था और इसी वजह से उसने डॉ. हर्ष की पत्नी रुचि की हत्या की है। एडीसीपी पूर्वी एसएम कासिम आब्दी ने बताया कि आरोपी गुलफाम की निशानदेही पर आला कत्ल बरामद कर लिया गया है। गुरुवार को गुलफाम को कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उसे न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया गया।

अपने किए पर पछता रहा गुलफाम

एडीसीपी पूर्वी एसएम कासिम आब्दी के मुताबिक पूछताछ में गुलफाम ने बताया कि वह करीब ढाई महीने से डॉ. हर्ष अग्रवाल के यहां काम कर रहा था। वह उसके साथ बड़ा ही अच्छा बर्ताव करते थे। रुचि भी मृदुभाषी थीं और उसके साथ अच्छा व्यवहार करतीं थीं। फिर भी न जाने क्या जुनून सवार हो गया कि वह इतनी जघन्य वारदात कर बैठा। पुलिस के मुताबिक गुलफाम अब अपने किए पर पछता रहा है।

भैंसाकुंड पर हुआ अंतिम संस्कार

रुचि के पोस्टमार्टम के बाद गुरुवार को भैंसाकुंड पर उनका अंतिम संस्कार किया गया। इस दौरान रिश्तेदारों व परिचितों समेत बड़ी संख्या में व्यापारी भी मौजूद रहे।

वामिका के पैर में निकला फ्रैक्चर

वारदात के वक्त वामिका गिर गई थी। इससे उसके बाएं पैर में चोट आई थी। डॉ. हर्ष के मित्र मनोज गोयल ने बताया कि गुरुवार को डॉक्टर को दिखाने पर पता चला कि वामिका के पैर में फ्रैक्चर है। पैर में प्लास्टर चढ़ाया गया है।

घर में मातम, परिचितों का लगा तांता

वारदात की जानकारी पर बुधवार शाम से ही डॉ. हर्ष के घर पर रिश्तेदारों, परिचितों व व्यापारियों का तांता लगा रहा। पोस्टमार्टम के बाद रुचि का शव घर पहुंचा तो पति व दोनों बेटियों के साथ ही रिश्तेदार भी बिलख पड़े। वारदात से बेटी प्रियांशी (16) व वामिका (13) बुरी तरह से सहमी हैं। मां को याद करके दोनों सिसकियां भर रहीं हैं। परिवार की महिलाएं दोनों बेटियों को सदमे से उबारने की कोशिश कर रहीं हैं।

Most Popular