HomeलखनऊLucknow news - पुलस्त तिवारी एनकाउंटर केस: आठ माह बाद इंस्पेक्टर-दरोगा समेत...

Lucknow news – पुलस्त तिवारी एनकाउंटर केस: आठ माह बाद इंस्पेक्टर-दरोगा समेत पांच पुलिसकर्मियों पर FIR दर्ज; मां ने CJM कोर्ट में दायर की थी याचिका

पुलस्त तिवारी। - Dainik Bhaskar

पुलस्त तिवारी।

9 अगस्त 2020 को लखनऊ के आशियाना थाना क्षेत्र में मुठभेड़ का किया गया था दावामां मंजुला तिवारी का आरोप- पुलिस वाले घर से पकड़कर बेटे को अपने साथ ले गए थे

आठ माह पहले लखनऊ में हुए पुलस्त तिवारी एनकाउंटर केस में पांच पुलिसकर्मियों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। यह केस CJM के आदेश पर आशियाना थाने में दर्ज हुआ है। पुलस्त की मां ने कोर्ट में याचिका दायर कर आरोप लगाया था कि पुलिसकर्मियों ने उनके बेटे को घर से पकड़ा था। बाद में मुठभेड़ में गोली लगने से घायल होने का दावा किया गया। बता दें कि इस प्रकरण में सोशल एक्टिविस्ट नूतन ठाकुर ने भी शिकायत की थी। उन्होंने पुलिस एनकाउंटर को फेक बताया था।

परिवार ने लगाए थे ये आरोप

सर्वोदय नगर निवासी मंजुला तिवारी ने अधिवक्ता डॉ नूतन ठाकुर के माध्यम से कोर्ट में दायर अपने वाद में कहा था कि 9 अगस्त की शाम करीब 6:30 बजे दो पुलिस वाले उनके घर आए और वे पुलस्त को अपने साथ ले गए। इनमे एक दरोगा महेश दूबे था। पुलस्त की बहन ने इस संबंध में पुलिस कमिश्नर के PRO से भी फोन पर बात की। इसके अलावा पुलस्त को ले जाते समय का CCTV रिकॉर्डिंग भी है। पुलिस ने उसी रात पुलस्त को भागता हुआ दिखा कर उसके पैर में गोली मारी थी।

पुलिस ने यह किया था दावा

तत्कालीन DCP पूर्वी चारु निगम ने दावा किया था कि आशियाना पुलिस 9 अगस्त की रात जोन-8 दफ्तर के पास चेकिंग कर रही थी। इसी बीच एक बिना नंबर प्लेट की काले रंग की बाइक सवार युवक आता दिखा। पुलिस को देखते ही वह बाइक मोड़कर गली की तरफ से रत्नखंड की ओर भागने लगा। इस पर पुलिस टीम ने उसका पीछा किया। लेकिन पुलिस को पीछे आते देख उसने फायर किया। जवाबी फायरिंग में बाइक सवार के दाहिने पैर में गोली लगी।

पूछताछ में आरोपित का नाम आशियाना सेक्टर आई निवासी पुलस्त तिवारी पता चला। वह आशियाना में दर्ज गैंगस्टर और कृष्णानगर थाने में साल 2019 में दर्ज हत्या के मुकदमे में वांछित चल रहा था। उसकी गिरफ्तारी पर 25 हजार का इनाम घोषित था। मौके से एक बाइक और तमंचा मिला। उस पर आशियाना थाने में चार व कृष्णानगर में एक आपराधिक मामला दर्ज है।

इन पुलिसकर्मियों पर दर्ज हुआ केस

कोर्ट के आदेश पर तत्कालीन इंस्पेक्टर संजय राय, दरोगा महेश दुबे, सिपाही मोहित सोनी, राकेश सिंह और बलवंत सिंह पर केस दर्ज कर लिया गया है। पांच पुलिस कर्मियों पर जानलेवा हमले साजिश रचने, साक्ष्य छुपाने जैसे मामले में केस दर्ज किया गया है।

खबरें और भी हैं…

Most Popular