HomeलखनऊLucknow news - पूर्व मंत्री पंडित सिंह नहीं रहे: खाता न बही,...

Lucknow news – पूर्व मंत्री पंडित सिंह नहीं रहे: खाता न बही, जो हम कहे वो सही… ये बात कहने वाले पूर्व मंत्री की कोरोना से मौत, आखिलेश यादव ने जताया शोक

विनोद कुमार सिंह उर्फ पंडित सिंह तीन बार विधायक चुने गए थे।- फाइल फोटो

सपा सरकार में मंत्री रहे विनोद कुमार सिंह उर्फ पंडित सिंह की शुक्रवार को कोरोना संक्रमण से मौत हो गई। वे 63 साल के थे। उनका लखनऊ में इलाज चल रहा था। पंडित सिंह 21 अप्रैल को संक्रमित हुए थे। इसके बाद उन्हें लखनऊ में भर्ती करवाया गया था। जहां कुछ सुधार होने के बाद उन्हें गोंडा के एससीपीएम अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। हालत बिगड़ने पर फिर से लखनऊ शिफ्ट कर दिया गया था। पंडित सिंह गोंडा जिले के एक बाहुबली नेता थे। उनकी एक मशहूर कहवात थी कि खाना न बही, जो पंडित सिंह कहे वो सही..।

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव सिंह ने पूर्व मंत्री विनोद कुमार सिंह के निधन पर शोक जताया है। अखिलेश ने लिखा, ‘अत्यंत दुःखद! सपा के वरिष्ठ नेता, पूर्व मंत्री विनोद कुमार सिंह “पंडित सिंह” जी का निधन, अपूरणीय क्षति। दिवंगत आत्मा को शांति दे भगवान। शोकाकुल परिजनों के प्रति संवेदना। भावभीनी श्रद्धांजलि।

1996 में पहली बार सदन पहुंचे थे पंडित सिंह

विनोद सिंह उर्फ पंडित सिंह का जन्म 7 जनवरी 1962 को गोंडा जिले के बल्लीपुर में हुआ था। उनकी शिक्षा स्नातक तक हुई। साल 1996 में वे पहली बार सपा के टिकट पर गोंडा सदर विधानसभा सीट से चुनाव जीतकर विधानसभा पहुंचे थे। इसके बाद वह 2002 में समाजवादी पार्टी से दोबारा विधायक चुने गए। 2003 में वे मुलायम सिंह मंत्रिमंडल में चिकित्सा एवं शिक्षा राज्यमंत्री बनाए गए।

इसके बाद विधानसभा चुनाव 2012 में तीसरी बार वह फिर सपा से विधायक चुने गए। उन्होंने गोंडा सीट पर भाजपा के महेश नारायण तिवारी को 15 हजार से ज्यादा मतों से हराया था। इसके बाद उन्हें मार्च 2012 में अखिलेश मंत्रिमंडल में राजस्व, अभाव , सहायता एवं पुनर्वासन राज्यमंत्री बनाया गया। वर्ष 2017 में संपन्न हुए विधानसभा चुनाव में तरबगंज विधानसभा सीट से सपा के टिकट पर चुनाव लड़े। लेकिन भाजपा की लहर होने के कारण इन्हें पराजय का सामना करना पड़ा।

पार्टी के लिए अपूर्णनीय क्षति

सपा के पूर्व जिला अध्यक्ष महफूज खान ने बताया कि सरल व्यक्तित्व के धनी पंडित सिंह ने अपने राजनैतिक कैरियर की शुरुआत सपा से की थी। वह कभी किसी पार्टी में ना तो गए ना कभी मन में सोचा। वह हमेशा समाजवादी पार्टी का परचम लहराते रहे। पार्टी को उनकी कमी हमेशा खलती रहेगी। गोंडा में नवाबगंज के बल्लीपुर स्थित उनके पैतृक गांव में अंतिम संस्कार किया जाएगा।

खबरें और भी हैं…

Most Popular