Home लखनऊ Lucknow news- भाजपा ने झूठ, नफरत व भय से फैलाया सियासी प्रदूषण...

Lucknow news- भाजपा ने झूठ, नफरत व भय से फैलाया सियासी प्रदूषण : अखिलेश

सपा अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि स्वतंत्रता सेनानियों के आदर्शों व संविधान में शामिल लोकतंत्र, समता एवं पंथनिरपेक्षता की रक्षा में अधिवक्ताओं को अहम भूमिका निभानी होगी। सच को सच और झूठ को झूठ बताने तथा अन्याय के विरोध की क्षमता अधिवक्ताओं में ही होती है। सत्ताधारी भाजपा ने झूठ, नफरत और भय-भ्रम के जरिए जो राजनीतिक प्रदूषण फैला रखा है, उसे अधिवक्ता समाज ही समाप्त कर सकता है।

 अखिलेश पार्टी मुख्यालय में बृहस्पतिवार को देश के प्रथम राष्ट्रपति डॉ. राजेंद्र प्रसाद के जन्मदिन को अधिवक्ता दिवस के रूप में मनाने के दौरान पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे थे। अखिलेश ने डॉ. राजेंद्र प्रसाद की सादगी, त्याग व समर्पण भरे जीवन के कई प्रसंगों की चर्चा की। साथ ही अधिवक्ताओं का आह्वान किया कि वे भाजपा की कलाकारी को पराजित करने के लिए सभी वर्गों को साथ लेकर एकजुट हों। जीवन मूल्यों व आदर्शों को तिलांजलि देकर सत्ता धारी दल का नेतृत्व इवेंट मैनेजमेंट जैसी चीजों में अपने दिन बिता रहा हैं। जनता का ध्यान भटकाने के लिए आए दिन समारोह, लोकार्पण और उत्सव किए जाते हैं। इस मौके पर राजेंद्र चौधरी, प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल, पूर्व मंत्री इकबाल महमूद तथा एमएलसी उदयवीर सिंह, अरविंद कुमार सिंह व संजय लाठर के अलावा सपा अधिवक्ता सभा के प्रदेश अध्यक्ष प्रदीप कुमार, सिकंदर विजय कुमार, शुभांगी द्विवेदी, अब्दुल रब और धीरेंद्र सिंह मौजूद रहे।

भाजपा नेता कलाकार न बनें

अखिलेश ने कहा, मुख्यमंत्री लगातार राष्ट्रीय पर्यटन पर रहते हैं। विकास के काम ठप हैं, पर वे फिल्म सिटी जल्द बना लेना चाहते हैं। भाजपा नेता कलाकार न बनें, अपने संवैधानिक दायित्व का निर्वाह करें।

सपा 7 को निकालेगी किसान यात्रा
अखिलेश यादव ने केंद्र सरकार की कृषि नीतियों के विरोध और किसान आंदोलन के समर्थन में 7 दिसंबर को प्रदेश के सभी जिलों में किसान यात्रा निकालने का आह्वान किया है। उन्होंने कहा कि ‘किसानों की आय बढ़ाओ, खेती किसानी बचाओ’ की मांग को लेकर किसान यात्राओं में कार्यकर्ता, पैदल या साइकिल, मोटरसाइकिल जैसे वाहनों से शामिल होंगे। इन यात्राओं के दौरान किसानों के मुद्दों पर जनता को जागरूक किया जाएगा। उन्होंने कार्यकर्ताओं व आम लोगों से अपील की है कि वे अन्नदाताओं के लिए आटा, दाल, चावल और दूध की कमी न होने दें।

Most Popular