Home लखनऊ Lucknow news - मिशन 2022 की तैयारी: UP प्रभारी राधा मोहन सिंह...

Lucknow news – मिशन 2022 की तैयारी: UP प्रभारी राधा मोहन सिंह लखनऊ पहुंचे, प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह समेत भाजपा कार्यकर्ताओं ने किया स्वागत

यूपी के प्रदेश प्रभारी राधा मोहन सिंह मंगलवार को लखनऊ पहुंचे। वह यहां बुधवार को संगठन के पदाधिकारियों के साथ बैठक करेंगे।

प्रदेश प्रभारी राधामोहन सिंह दो दिसंबर को पार्टी मुख्यालय पर प्रदेश पदाधिकारियों के साथ बैठक करेंगेदो सह प्रभारी समेत रहेगी पूरी टीम, 2022 विधानसभा चुनाव को लेकर पहली बैठक करेंगे राधा मोहन सिंह

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राधा मोहन सिंह पहली बार यूपी के प्रभारी बनने के बाद लखनऊ पहुंचे हैं। एयरपोर्ट पर प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह, कैबिनेट मंत्री समेत भाजपा के कार्यकर्ताओं ने स्वागत है। एयरपोर्ट से वह शहर के वीवीआईपी गेस्ट हाउस के लिए रवाना हो गए।

प्रदेश प्रवक्ता नवीन श्रीवास्तव ने बताया कि, प्रदेश प्रभारी राधामोहन सिंह दो दिसंबर को पार्टी मुख्यालय पर प्रदेश पदाधिकारियों के साथ बैठक करेंगे। उत्तर प्रदेश में वर्ष 2022 में होने वाला विधानसभा चुनाव सत्ताधारी भाजपा के लिए बेहद महत्वपूर्ण है।

यूपी की सियासी नब्ज टटोलेंगे राधा मोहन

भाजपा के प्रदेश सह प्रभारी रह चुके राधा मोहन सिंह उत्तर प्रदेश की सियासी नब्ज को पहचानने के साथ पार्टी में अपनी सांगठनिक क्षमता के लिए जाने जाते हैं। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और जनसंघ से ताल्लुक रखने वाले राधा मोहन छह बार सांसद चुने जाने के अलावा बिहार भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष भी रह चुके हैं। प्रदेश प्रभारी बनाए जाने के बाद पहली संगठन की बैठक लखनऊ मुख्यालय में करेंगे।

केंद्रीय कृषि मंत्री रहे, संगठन के हैं जानकारकेंद्रीय कृषि मंत्री के रूप में यादगार पारी खेलने वाले राधा मोहन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बेहद करीबी और विश्वसनीय भी रहे हैं। प्रभारी के तौर पर उनकी नियुक्ति कर भाजपा आला कमान अगले विधानसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश सरीखे कृषि प्रधान प्रदेश में उनके लंबे राजनीतिक अनुभव, सियासी सूझबूझ और खेती-किसानी पर उनकी पकड़ का लाभ लेना चाहेगी।

सह प्रभारियों की टीम भी रहेगी मौजूदसुनील ओझा भी उत्तर प्रदेश के सह प्रभारी रहे हैं। भाजपा के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने उनकी सांगठनिक क्षमता को पहचानते हुए उन्हें प्रदेश का सह प्रभारी बनाया था। 2014 और 2019 के लोकसभा चुनावों में नरेंद्र मोदी के चुनाव अभियान को संभालने में ओझा की अहम भूमिका रही है। कर्नाटक निवासी सत्या कुमार भाजपा के राष्ट्रीय मंत्री, जबकि संजीव चौरसिया बिहार के दीघा विधानसभा क्षेत्र के तेजतर्रार विधायक हैं।

Input – Bhaskar.com

Most Popular