Home लखनऊ Lucknow news - मुख्यमंत्री ने बांटे नियुक्ति पत्र: CM योगी ने UP...

Lucknow news – मुख्यमंत्री ने बांटे नियुक्ति पत्र: CM योगी ने UP में 3,209 नलकूप चालकों को नियुक्ति पत्र वितरित किया, बोले- किसानों की आय दोगुना करने में मजबूती मिलेगी

यूपी के सीएम आदित्यनाथ ने बुधवार को नियुक्ति पत्र बांटा।

उत्तर प्रदेश में 23 लाख हेक्टेयर जमीन की सिंचाई नलकूपों के द्वारा की जाती है

उत्तर प्रदेश में जल शक्ति विभाग द्वारा 3209 नलकूप चालकों को नियुक्ति पत्र वितरित किया। योगी ने वर्चुअल संवाद के जरिए प्रदेश के सभी जिलों में नियुक्त हुए नलकूप चालकों का नियुक्ति पत्र वितरित किया। सीएम योगी ने कहा कि नलकूप चालकों से किसानों की आय दोगुना करने में मजबूती मिलेगी और जल संरक्षण पर सभी को ध्यान देना होगा।

सीएम योगी ने कहा कि, मिशन रोजगार के अंतर्गत प्रदेश के 3209 नलकूप चालकों की नियुक्ति पत्र वितरण के लिए सभी को बधाई देता हूं। अधीनस्थ सेवा चयन आयोग और विभाग को भी बधाई देता हूं। प्रदेशभर में हमारे किसान भाइयों की आय की वृद्धि करने के लिए आप बहुत बड़ी भूमिका निभाने वाले हैं। उत्तर प्रदेश में 2022 तक किसानों की आय को दोगुना करने के लिए या एक महत्वपूर्ण कदम है।

यूपी में 23 लाख हेक्टेयर जमीन पर होती है सिंचाई

उत्तर प्रदेश में 23 लाख हेक्टेयर जमीन की सिंचाई नलकूपों के द्वारा की जाती है। जैसा कि सिंचाई मंत्री ने बताया पहले नलकूप संचालन में दिक्कतें होती थी अब भर्ती प्रक्रिया होने के बाद उन दिक्कतों से भी मुक्ति मिलेगी ल। प्रदेश में पानी फालतू बहा करता है उसे रोकने में नलकूप चालकों की अहम भूमिका रहेगी। जल संरक्षण पर भी जोर देना चाहिए इसके लिए सभी नवनियुक्त नलकूप चालकों को विशेष ध्यान रखना होगा लोगों को जागरूक करना होगा।

बीते तीन साल में ढाई नए नलकूप लगेजल शक्ति मंत्री महेंद्र सिंह ने कहा कि, उत्तर प्रदेश में कुल 34401 लगे हुए हैं। बीते तीन साल में कुल ढाई हजार नलकूप नए लगवाए गए। पम्प ऑपरेटर की 18811 होने की क्षमता थी आज 9198 ही नल ऑपरेटर थे, 3209 नए लोग जुड़ने पर 12407 नलकूप चालक हो जाएंगे। अब तक जो नलकूप चालक से उनको दिन भर में 4 से 5 नलकूप चलाने की जिम्मेदारी मिलती थी लेकिन अब एक 3200 नए नलकूप चालक जुड़ जाएंगे तब एक से दो नलकूप की जिम्मेदारी होगी। जिससे निश्चित रूप से अच्छे ढंग से काम किया जा सकेगा। उत्तर प्रदेश में 23 लाख जमीन रवि और खरीफ की फसलें सिंचाई की जाती है।

Input – Bhaskar.com

Most Popular