HomeलखनऊLucknow news- यूपी बाजार से दवा गायब, मेडिकल किट का भी...

Lucknow news- यूपी बाजार से दवा गायब, मेडिकल किट का भी अता पता नहीं, मरीजों के इलाज में मुश्किलें

विस्तार

कोरोना मरीजों को सुविधाएं मुहैया कराने की सरकारी कवायद केवल कागजों तक सिमट कर रह गई है। होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों को इलाज में खासी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। बाजार में दवाएं मिल नहीं रही हैं और सरकारी मेडिकल किट का कहीं कोई अता पता नहीं है। मरीजों के परिजनों को दवाओं के लिए मेडिकल स्टोर के चक्कर काटने पड़ रहे हैं। यही नहीं जांच में पॉजिटिव पाए जाने वाले मरीजों को पहले की तरह कंट्रोल रूम से फोन करके उनके स्वास्थ्य के बारे में जानकारी तक नहीं ली जा रही है।

कोरोना संक्रमण के तेजी से हो रहे प्रसार को देखते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों को होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों को कम से कम एक सप्ताह का मेडिकल किट उपलब्ध कराने को कहा है। साथ ही गंभीर मरीजों की सहूलियत के लिए 108 एम्बुलेंस की आधी संख्या केवल कोविड के लिए आरक्षित किए जाने के भी निर्देश दिए हैं।

सरकार के निर्देशानुसार होम आइसोलेशन में रहने वाले प्रत्येक व्यक्ति को मेडिकल किट की उपलब्ध करा कर उन्हें सभी सुविधाएं दी जानी हैं जिसमें मरीज की हालत गंभीर होने पर अस्पताल में भर्ती की व्यवस्था भी शामिल है। लेकिन वास्तव में न तो जांच में पॉज़िटिव आने के बाद होम आइसोलेशन में रह रहे लोगों से किसी तरह का संपर्क किया जा रहा है और न ही उन्हें मेडिकल किट या अन्य कोई सुविधा मुहैया कराई जा रही है।

स्वास्थ्य विभाग के सूत्रों की मानें तो मेडिकल किट बांटने काम विभागीय कर्मचारियों को ही करना है। ज्यादातर स्टाफ अस्पतालों में ड्यूटी पर है तथा बड़ी संख्या में कर्मचारी कोरोना से संक्रमित भी हो चुके हैं। ऐसे में होम आइसोलेशन में रह रहे सभी मरीजों तक मेडिकल किट पहुंचाना संभव नहीं हो पा रहा है। अलबत्ता अस्पताल में इलाज के बाद डिस्चार्ज होने वाले मरीजों को जरूर दवाएं उपलब्ध कराई जा रही हैं।

सूत्रों का कहना है स्टाफ की कमी भी कोरोना प्रबंधन में बड़ी बाधा बन रही है। एकाएक दबाव काफी बढ़ जाने की वजह से कंट्रोल रूम से सभी पॉज़िटिव मरीजों से संपर्क कर पाना भी संभव नहीं हो पा रहा है। स्वास्थ्य महानिदेशक डॉ. डीएस नेगी ने बताया कि मरीजों को मेडिकल किट उपलब्ध कराने के लिए अलग-अलग टीमें बनाई गई हैं। इस व्यवस्था को दिखवाया जाएगा और ठीक कराया जाएगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular