HomeलखनऊLucknow news- यूपी में अलर्ट : पांच दिन के नोटिस पर शुरू...

Lucknow news- यूपी में अलर्ट : पांच दिन के नोटिस पर शुरू होंगे कोविड अस्पताल, स्वास्थ्य विभाग ने दिए निर्देश

विस्तार

उत्तर प्रदेश में शुक्रवार को 393 नए केस आने के बाद प्रशासन अलर्ट मोड में आ गया है। संक्रमण के रोज बढ़ते दायरे को देखते हुए जिलों में लेवल वन कोविड अस्पतालों को पांच दिन की नोटिस पर तैयार रहने के निर्देश दिए गए हैं। स्वास्थ्य विभाग ने सभी सीएमओ, सीएमएस को इस बाबत निर्देश दे दिए हैं। विभाग ने प्रदेश में संक्रमितों की संख्या कम होने पर लगभग 1.30 लाख से अधिक कोविड बेड की व्यवस्था खत्म कर दी थी। गत तीन फरवरी से इन अस्पतालों में सामान्य ओपीडी भी शुरू की गई थी। अब लगभग डेढ़ माह बाद फिर कोविड अस्पताल संचालन की तैयारियां शुरू कर दी गई हैं।

प्रदेश में कोविड संक्रमित मरीजों को भर्ती करने के लिए लेवल टू के 68 अस्पताल और लेवल थ्री के 15 अस्पताल चल रहे हैं। इनमें लगभग 17235 बेड पर भर्ती की व्यवस्था है। अन्य राज्यों में संक्रमण के बढ़ते हुए प्रकोप को देखते हुए उप्र सरकार ने भी तैयारियां शुरूकर दी हैं। दूसरे राज्यों से आने वाले लोगों की एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन और बस स्टेशन पर जांच के लिए 24 घंटे व्यवस्था शुरू कर दी गई है। जिससे संदिग्ध मरीजों को चिन्हित किया जा सके। मरीजों की बढ़ती संख्या और उनके कांटैक्ट को काबू में करने के लिए अस्पतालों को तैयार रहने के लिए कहा गया है।

महानिदेशक चिकित्सा स्वास्थ्य डॉ. डीएस नेगी ने बताया कि जिन अस्पतालों को नॉन कोविड किया गया था, उन्हें पहले ही बताया गया था कि जरूरत पडऩे पर पांच दिन की नोटिस में दोबारा कोविड मरीजों को भर्ती की सुविधा शुरू करनी होगी। नए केस बढ़ने पर अस्पतालों को फिर से तैयार रहने के लिए कहा गया है। 15 फरवरी से प्रदेश में एक्टिव क्वारंटीन की व्यवस्था खत्म करने के निर्देश भी दिए गए थे। उसे भी फिर से शुरू किया जा सकता है।

मरीजों की मैपिंग और 25 कांटैक्ट की होगी जांच

महानिदेशक चिकित्सा स्वास्थ्य डॉ. डीएस नेगी ने बताया कि जिन जिलों में अधिक मरीज आ रहे हैं, वहां मरीजों की मैपिंग करने के निर्देश दिए गए हैं। साथ ही एक मरीज के संपर्क में आने वाले कम से 25 लोगों के नमूने लेकर जांच की जा रही है। जिससे कोई भी संभावित संक्रमित छूटने न पाए। उन्होंने बताया कि नए मरीज लक्षण विहीन हैं। इसलिए कम से कम 50 फीसदी नमूनों की आरटीपीसीआर जांच की जा रही है। इससे किसी भी हालत में संक्रमित मरीज की पहचान हो जाएगी।

50 से अधिक उम्र वालों का टीकाकरण करने के लिए तैयार

कोरोना से बचाव के लिए 50 से अधिक उम्र वाले लोगों के टीकाकरण की मांग की जा रही है। इसके लिए भारत सरकार के दिशा-निर्देश पर फैसला किया जाएगा। प्रदेश में हर स्तर पर टीकाकरण की पूरी तैयारी है। जैसे ही भारत सरकार से दिशा-निर्देश मिलेंगे, टीकाकरण शुरू कर दिया जाएगा। गौरतलब है कि प्रधानमंत्री के साथ राज्यों वीडियो कांफ्रेंसिंग में पंजाब के मुख्यमंत्री ने युवा वर्ग को भी टीका लगवाने की अनुमति देने की मांग की थी। उनके अनुसार पंजाब में युवा अधिक कोरोना संक्रमण की चपेट में आ रहे हैं। इसलिए उनका भी टीकाकरण शुरू किया जाए। इससे संक्रमण को रोकने में मदद मिलेगी।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular