Home लखनऊ Lucknow news- यूपी में मिला जुला रहा बंद का असर, विपक्षी नेताओं...

Lucknow news- यूपी में मिला जुला रहा बंद का असर, विपक्षी नेताओं को किया गया नजरबंद, सड़कों पर उतरे किसान

कृषि कानूनों के विरोध में किसान संगठनों के आह्वान पर किए गए भारत बंद का उत्तर प्रदेश में मिलाजुला असर देखने को मिला। प्रदेश के शहरों में बाजार खुले। हालांकि, व्यापारियों ने किसानों की मांगों का खुलकर समर्थन किया और कहा कि सरकार को किसानों की बातें सुननी चाहिए। वहीं, यूपी में समाजवादी पार्टी व कांग्रेस के कार्यकर्ता सड़कों पर उतरे जिन्हें पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

इसके अलावा, अयोध्या, बाराबंकी, बलरामपुर, मेरठ, बागपत, सहारनपुर व सीतापुर में सपा व कांग्रेस के नेताओं को पुलिस ने नजरबंद कर दिया। इस दौरान प्रशासन पूरी तरह मुस्तैद नजर आया। प्रदेश में कहीं पर भी उपद्रव होने की कोई खबर नहीं है। मेरठ में किसान आंदोलन को समर्थन देने की आड़ में उन्माद फैलाने की आशंका में 14 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

अलीगढ़ में भाकियू भानु कार्यकर्ताओं ने लगाया बोनेर चौराहे पर जाम

किसान यूनियनों के भारत बंद के आह्वान पर भारतीय किसान यूनियन भानु के कार्यकर्ताओं ने मंगलवार को बोनेर पर जाम लगाया। कार्यकर्ता अलीगढ़ कानपुर मार्ग की एक सड़क को करीब दो घंटे तक घेर कर बैठे रहे। दोपहर 12.38 बजे दूसरी सड़क भी जाम कर दी। करीब 5 मिनट जाम के बाद सभी पैदल ही नारेबाजी करते हुए धनीपुर मंडी रवाना हो गए। मंडी के गेट पर कुछ देर धरना देने के उपरांत एसीएम प्रथम अंजुम बी को ज्ञापन सौपा। इस दौरान आह्वान के बाद भी मंडी बंद न करने पर मंडी व्यापारी किसान नेताओं के निशाने पर रहे। किसानों ने ऐलान किया कि जब तक उनकी मांगें पूरी नहीं होती, तब तक आंदोलन जारी रहेगा।

बंद का नहीं दिखा कोई असर, कई संगठनों ने धरना देकर किया प्रदर्शन
हाथरस में भारत बंद का कोई असर नहीं दिखाई दिया और सभी प्रमुख बाजार खुले। किसान संगठनों और कई राजनीतिक दलों ने जरूर जिले के तहसील मुख्यालयों पर प्रदर्शन किए और धरना दिया। इस दौरान पुलिस फोर्स काफी सतर्क रहा और अधिकारी भ्रमण करते रहे। वकीलों ने भी हड़ताल कर प्रदर्शन किया।

लखनऊ में कई जगह हिरासत में लिए गए किसान नेता व कार्यकर्ता

लखनऊ के कई इलाकों में किसान नेताओं व समर्थकों को पुलिस ने हिरासत में लिया। माल में  किसान यूनियन लोकतांत्रिक प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह चौहान, जिला उपाध्यक्ष अतुल कुमार, बाबी सिंह, अर्जुन सिंह, सज्जन सिंह सहित सैकड़ों किसानो को पुलिस ने हिरासत में लिया। वहीं, रोड जाम करने पर भी पुलिस ने किसान नेताओं को हिरासत में ले लिया।

– इटौंजा में राष्ट्रीय जनता दल के कार्यकर्ताओं ने जलाया किसान बिल का पुतला।राष्ट्रीय जनता दल के जिला अध्यक्ष राकेश यादव को पुलिस ने किया गिरफ्तार।

पुलिस की सख्ती से नहीं दिख रहे किसान
बरेली में पुलिस की सख्ती से किसान अभी सड़कों पर नहीं दिख रहे हैं। एकता संघ के नेता को रात ढाई बजे ही पुलिस ने नजरबंद कर दिया। सपा के बड़े नेताओं को उन्हीं के घरों में नजरबंद कर दिया गया है। चौकी चौराहा की ओर जाने वाले टेम्पो, ई रिक्शा को कंपनी गार्डन से पुलिस रोक रही है। दामोदर पार्क का रास्ता बंद कर दिया गया है। चौकी चौराहा से बेरिकेडिंग कर सभी वाहनों को रोका जा रहा है। दामोदर पार्क में पुलिस के साथ प्रशासन के अधिकारी भी भारी फोर्स के साथ मौजूद हैं।

अयोध्या में दो दर्जन से अधिक कांग्रेस कार्यकर्ता गिरफ्तार
किसानों के समर्थन में प्रदर्शन कर रहे दो दर्जन से अधिक कांग्रेस कार्यकर्ता गिरफ्तार। हाउस अरेस्ट तोड़कर कांग्रेस के जिला अध्यक्ष अखिलेश यादव पहुंचे कांग्रेस कार्यालय। शहर के नेहरू भवन कांग्रेस कार्यालय पर प्रदर्शन करते हुए पुलिस ने सभी कांग्रेसी कार्यकर्ताओं को लिया कस्टडी में। भेजे गए पुलिस लाइन।

किसानों के समर्थन में भारतीय किसान यूनियन ने गांधी पार्क व तिकोनिया पार्क में प्रदर्शन किया। गांधी पार्क का गेट खोलकर भारतीय किसान यूनियन के कार्यकर्ता निकले बाहर। सड़क पर दिया धरना। सरकार विरोधी नारे लगाए। भारतीय किसान यूनियन की महिला कार्यकर्ताओं की पुलिस से भिड़ंत हुई। बैरिकेडिंग हटाकर किसान यूनियन की महिला कार्यकर्ता सड़कों पर उतरीं।

मेरठ में उन्माद फैलाने की आड़ में 14 लोगों को गिरफ्तार किया गया

मेरठ में किसान आंदोलन की आड़ में जिले में उन्माद फैलाने की आशंका के चलते 14 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया। जिनको अलग-अलग थानों में रखा गया है। बताया गया कि 8 लोगों को पुलिस ने कोर्ट में पेश कर दिया। जहां से उनको न्यायिक हिरासत में लेकर जेल भेज दिया गया। एसएसपी अजय कुमार साहनी के मुताबिक, किसानों के भारत बंद आव्हान का असर मेरठ में नहीं है। मेरठ की सभी दुकानें व सभी बाजार खुले हुए हैं।

एनएच 58 हाईवे पर कंकरखेड़ा थाना क्षेत्र के जटोली और परतापुर थाना क्षेत्र के घोपला गांव के सामने किसानों ने जाम लगाया हुआ है। इसके अलावा भी कई जगहों पर किसानों ने शांतिपूर्ण तरीके से जाम लगाकर प्रशासनिक अधिकारियों को ज्ञापन दिया है। हाईवे पर जाम लगाने वाले किसानों से लगातार पुलिस प्रशासन के अधिकारियों की बातचीत चल रही है।

उन्होंने शांतिपूर्वक तरीके से जाम लगाकर अपनी मांगों से संबंधित ज्ञापन देने की बात कही है। एसएसपी अजय साहनी ने बताया कि किसानों के आंदोलन की आड़ में कुछ लोग माहौल खराब करना चाहते थे। इसका इनपुट मिलने पर पुलिस ने सुबह ही अलग-अलग जगह से 14 लोगों को गिरफ्तार कर लिया जिसमें मेरठ व्यापार मंडल के जिलाध्यक्ष जीतू नागपाल और उनके साथी शैंकी वर्मा भी शामिल है।

बताया गया कि जीतू नागपाल और शैंकी वर्मा के खिलाफ 306 (आत्महत्या करने के उकसाने) की धारा के मामले में मुकदमा दर्ज है। बताया यह भी गया है कि वह कई दिनों से किसान आंदोलन को समर्थन करने की पोस्ट सोशल मीडिया पर वायरल कर रहे। पुलिस सोशल मीडिया पर किसान आंदोलन को लेकर भड़काऊ पोस्ट और वीडियो पर भी नजर रख रही है।

जाम लगा रहे किसानों ने तहसीलदार की गाड़ी को वापस भेज दिया

मेरठ में जिटौली कट के नजदीक जाम लगा रहे किसानों ने तहसीलदार की गाड़ी को वापस भेज दिया। तहसीलदार सदर शिल्पा एरन सरकारी गाड़ी से जानी में किसानों से ज्ञापन लेने के लिए जा रही थीं कि किसानों ने उनकी गाड़ी को रास्ते में ही रोक लिया।

तहसीलदार सदर शिल्पा गाड़ी से उतरीं और कहने लगीं, भाई मैं तहसीलदार हूं, मेरी गाड़ी को तो निकलने दो। आप लोगों ने रास्ता क्यों रोका है?  सरकारी गाड़ी तो जाने दो। काफी देर तक तहसीलदार बोलती रहीं लेकिन किसी ने एक न सुनी। किसानों ने उन्हें सड़क पर ही रोके रखा।

गजरौला में स्टेट हाइवे पर धरने पर बैठे किसान
गजरौला में दिल्ली जा रहे हैं भारतीय किसान यूनियन टिकैत के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष चौधरी विजय पाल सिंह समेत तमाम किसानों को पुलिस प्रशासन ने रोक दिया है। किसान स्टेट हाईवे पर धरना देकर बैठ गए हैं इस कारण मंडी धनौरा और दिल्ली की ओर से मंडी धनौरा की ओर जाने वाले वाहनों को डायवर्ट कर दिया गया है। एसडीएम विवेक यादव और सीईओ सत्येंद्र सिंह फोर्स के साथ यहीं पर मौजूद हैं।

वहीं, चंदौसी में संभल तिराहे पर भीम आर्मी ने किसान आंदोलन के समर्थन में जाम लगा दिया और सरकार के विरुद्ध नारेबाजी की। जाम के लिए कार्यक्रम निर्धारित न होने पर कोतवाल देवेंद्र कुमार शर्मा पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे और भीम आर्मी के मंडल अध्यक्ष रविंद्र कुमार को पकड़कर कोतवाली ले गए और जबरन जाम खुलवा दिया।

अलीगढ़ में प्रशासन ने सपाइयों को उनके ठिकानों पर रोका

भारत बंद का मंगलवार सुबह अलीगढ़ के बाजारों पर आशिंक असर दिखा लेकिन विपक्षी दलों में हलचल है। इधर, प्रशासनिक अमले ने पुलिस अधिकारियों के साथ गश्ती शुरू कर दी है। डीएम ने देहात के लिए एडीएम प्रशासन कार्यालय और शहर के लिए एडीएम सिटी के कार्यालय को कंट्रोल रूम बनाया है। जहां से थानावार तैनात सभी मजिस्ट्रेट से अपडेट सूचना ली जा रही है। रेलवे स्टेशन, बस अड्डे, प्रमुख मार्ग, चौराहे, हाईवे और टोल पर भी पुलिस तैनात है।

इधर, बंद के समर्थन में जुट रहे सपा नेताओं को पुलिस ने उनके घरों में ही रोक दिया है। जिलाध्यक्ष गिरीश यादव किसी तरह से पूर्व नगर विधायक जफर आलम के आवास पर पहुंचे। पूर्व छर्रा विधायक ठाकुर राकेश सिंह भी साथियों के साथ पहुंच गए हैं। सपाई वहीं एकत्र हो रहे हैं। बसपा का बंद को समर्थन है लेकिन वह कोई प्रदर्शन नहीं कर रहे। जिलाध्यक्ष रतनदीप सिंह ने कहा कि वह शांतिपूर्ण ढंग से बंद का समर्थन कर रहे हैं। कांग्रेस कमेटी के द्वारा भी जिला मुख्यालय पर विरोध और प्रदर्शन प्रस्तावित है।

बहराइच में सपा का जोरदार प्रदर्शन
बहराइच में सपा ने जोरदार विरोध प्रदर्शन किया। पूर्व मंत्री व मटेरा विधायक यासर शाह की अगुवाई में सपाई सड़कों पर उतरे। पुलिस से हुई तीखी नोंक-झोंक।

उत्तर प्रदेश सरकार में मंत्री रहे अरविंद सिंह गोप हाउस अरेस्ट
बाराबंकी में पूर्व मंत्री अरविंद सिंह गोप को हाउस अरेस्ट कर लिया गया। पुलिसकर्मियों ने उन्हें जानकारी दी।

प्रदर्शनकारी सपा कार्यकर्ताओं ने लखनऊ के चिनहट में ट्रेन रोंकी
किसान आंदोलन का समर्थन कर रहे सपा कार्यकर्ताओं ने चिनहट के मल्हौर में ट्रेन रोंकी। कार्यकर्ता एमएलसी राजेश यादव उर्फ राजू के नेतृत्व में प्रदर्शन कर रहे थे।

अलीगढ़ के बाजारों में नहीं दिख रहा बंदी का असर
साप्ताहिक बंदी के दिन भारत बंद का बाजारों में नहीं दिख रहा असर। राजनीतिक दलों के नेता घरों में नजरबंद। किसान संगठन जगह जगह हो रहे एकत्रित। पुलिस प्रशासनिक सख्ती कायम। किसानों के भारत बंद का शहरी इलाकों में नहीं दिख रहा असर। मुसलिम इलाकों के भी बाजार खुले। आज वैसे साप्ताहिक बंदी भी रहती है। बावजूद इसके कई इलाकों के बाजार खुले। इधर, किसान संगठन जीटी रोड पर गांव बोनेर के पास, कस्बा गोंडा में, इगलास में एकत्रित होकर धरने की तैयारी में हैं। सपा नेता पूर्व विधायक जफर आलम के आवास पर एकत्रित हैं। जहां पुलिस अमला जमा है। नजरबंद कर रखा है।

मऊ में सपा व कांग्रेस के नेताओं को नजरबंद किया गया

देशव्यापी किसान आंदोलन के तहत मंगलवार को भारत बंद के दौरान सुबह और सोमवार की रात में ही जिले के सपा और कांग्रेस के नेताओं को पुलिस ने उनके घर पर ही नजर बंद कर दिया। कई लोगों को पुलिस ने उनके घर से निकलने पर रोक लगा दी। सोमवार की देर रात रानीपुर ब्लॉक के धर्मसीपुर में सपा जिलाध्यक्ष धर्मप्रकाश यादव को पुलिस ने उनके घर में नजरबंद कर दिया।

वहीं, कांग्रेस के जिलाध्यक्ष इंतेखाब आलम को घोसी स्थित आवास पर, कांग्रेस शहर अध्यक्ष विष्णु कुशवाहा, कांग्रेस के पूर्व जिलाध्यक्ष राष्ट्रकुंवर सिंह को डुमरी मर्यादपुर स्थित उनके आवास पर, सपा के लोहिया वाहिनी के जिलाध्यक्ष धीरज राजभर को शहर के सहादतपुरा स्थित उनके अवास पर पुलिस ने नजरबंद कर दिया। वहीं सपा- कांग्रेस के कई नेताओं को पुलिस ने उनके घर में नजरबंद कर दिया।

लखनऊ की दुबग्गा सब्जी मंडी बंद, आढ़तियों को बंदी से तीन करोड़ का नुकसान
राजधानी लखनऊ में नवीन दुबग्गा फल व सब्जी मंडी किसान आंदोलन के समर्थन में पूरी तरह बंद है। मंडी के अंदर पूरी तरह सन्नाटा छाया हुआ है। बता दें कि दुबग्गा सब्जी मंडी से प्रदेश के छह जिलों में सब्जियां जाती हैं। आढ़तियों का कहना है कि मंडी बंद होने से करीब तीन करोड़ का नुकसान होगा। आढ़तियो का कहना है कि किसानों द्वारा दुबग्गा सब्जी मंडी बंद की गई है अगर किसान सब्जी मंडी बंद कर देंगे तो हम बेचेंगे क्या? उन्होंने नुकसान होने पर कहा कि किसानों की समस्या हमारी समस्या है सरकार जल्द से जल्द इसका समाधान करे।

कृषि कानून किसान को बर्बाद कर देंगे, इन्हें बिना देर लगाए वापस ले सरकार
किसानों के समर्थन में बाराबंकी के सफेदाबाद क्रॉसिंग पर किसान व समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया और कहा कि सरकार को बिना देर लगाए इन कृषि कानूनों को वापस ले लेना चाहिए। ये कानून किसान को बर्बाद कर देंगे।

लखनऊ के व्यापारी संगठनों ने किया समर्थन

– किसान आंदोलन को लेकर आज भारत बंद का राजधानी लखनऊ के कई व्यापारी संगठनों ने समर्थन करते हुए सड़क पर उतरने का एलान किया है। हालांकि, इन संगठनों के बाजारों में दुकानें पूरी तरह खुलेंगी और कारोबार भी होगा। आम आदमी पार्टी व्यापार प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष एवं सराफा व्यापारी नेता मनीष कुमार वर्मा ने सोमवार को कहा कि उनके संगठन के पदाधिकारी और सदस्य बंद में शामिल होंगे। इसमें आशियाना, सरोजनीनगर, तेलीबाग, आलमबाग, बीकेटी आदि के सराफा व्यापारी भी शिरकत करेंगे।

कांग्रेस नेता अशफाक अहमद को घर में नजर बंद कर दिया गया
बलरामपुर में पूर्व विधायक तथा कांग्रेस नेता अशफाक अहमद को घर में नजर बंद कर दिया गया।

लखनऊ विधान भवन में सपा एमएलसी धरने पर बैठे
लखनऊ के विधानभवन में समाजवादी पार्टी के विधान परिषद सदस्यों सुनील सिंह साजन, राजपाल कश्यप, आशु मलिक और आनंद भदौरिया ने लखनऊ विधान भवन में धरने पर बैठकर किसानों आंदोलन का समर्थन किया।

पश्चिमी उत्तर प्रदेश में इन नेताओं को किया गया नजरबंद

मेरठ में किसान बंद के समर्थन आज सुबह ही सपा नेता पवन गुर्जर को उनके नूर नगर आवास से पुलिस ने नंजरबंद कर दिया। सहारनपुर में भारत बंद को बसपा ने भी समर्थन किया तो मंगलवार सुबह ही पुलिस बसपा जिलाध्यक्ष के घर पहुंच गई और उनको नंजरबंद कर दिया। वहीं रालोद जिलाध्यक्ष राव केसर सलीम को भी पुलिस ने उनके घर पर नजरबंद किया है। बागपत में रालोद जिलाध्यक्ष सुखबीर सिंह गठीना को उनके घर पर नजरबंद कर दिया गया है। बड़ौत में रालोद के पूर्व विधायक वीरपाल राठी, डॉ अजय तोमर को भी उनके घरों में नजरबंद किया गया है। शामली में पुलिस ने रालोद जिलाध्यक्ष योगेंद्र चेयरमैन को उनके आवास पर नजरबंद किया है।

बाराबंकी में हाईवे पर पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों का जमावड़ा
बाराबंकी में हाईवे पर पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों का जमावड़ा लगा हुआ है। लखनऊ जाने वाले सभी मार्गों पर चौकसी बरती जा रही है। माती में किसान पथ पर भी पुलिस तैनात कर रही है चेकिंग।

सीतापुर: सपा नेता हाजी जावेद को पुलिस ने घर में नजरबंद कर दिया
सीतापुर जिले के लहरपुर में सपा नेता हाजी जावेद को पुलिस ने घर में नजरबंद कर दिया।

पूर्व राज्यमंत्री व सपा नेता पवन पांडे भी नजरबंद
पूर्व राज्यमंत्री व सपा नेता पवन पांडे भी नजरबंद किए गए हैं।सभी के आवास पर पुलिस के जवान तैनात हैं। वहीं, भारतीय किसान यूनियन गांधी पार्क व तिकोनिया पार्क में धरना देगा।

अयोध्या में भारत बंद को लेकर जिला प्रशासन सख्त
अयोध्या में भारत बंद को लेकर जिला प्रशासन सख्त है। कांग्रेस के जिला अध्यक्ष अखिलेश यादव, यूथ कांग्रेस के प्रदेश महासचिव शरद शुक्ला, महानगर अध्यक्ष मेजर अकबर अली को नजरबंद कर दिया गया है।

आगे पढ़ें

लखनऊ में कई जगह हिरासत में लिए गए किसान नेता व कार्यकर्ता

Most Popular