HomeलखनऊLucknow news- यूपी : हनी ट्रैपिंग कर व्यापारियों व युवकों को फंसाकर...

Lucknow news- यूपी : हनी ट्रैपिंग कर व्यापारियों व युवकों को फंसाकर वसूली करने वाले गिरोह का खुलासा, दो महिलाओं सहित चार गिरफ्तार

हनी ट्रैपिंग के जरिए व्यापारियों व युवकों को फंसाकर लाखों रुपये की वसूली करने वाले गिरोह का खुलासा बाजारखाला पुलिस ने सोमवार को किया। इस गिरोह के चार सदस्य दबोचे गये। इसमें दो महिलाएं शामिल हैं। गिरोह महिलाओं के माध्यम से पहले शिकार को फंसाता है। 

फिर अचानक से गिरोह के अन्य सदस्य उनके पास पहुंचकर धमकी देकर वसूली करते हैं। गिरोह के सदस्यों ने पूछताछ में बताया कि वह लखनऊ और मुंबई में भी कई लोगों से वसूली कर चुका है। गिरोह के पास से पुलिस ने एक लग्जरी कार बरामद किया। जिस पर अशोक स्तंभ का स्टीकर लगा था। विधायक का लोगों और पुलिस का मोनोग्राम व हूटर लगा था।

एडीसीपी पश्चिम राजेश श्रीवास्तव के मुताबिक पुलिस टीम ने सोमवार तड़के एक गिरोह को दबोचा। सोमवार तड़के अजय गुप्ता नाम के एक व्यापारी ने पुलिस कंट्रोल रूम को सूचना दी कि उनको कुछ लोगों ने पिस्तौल दिखाकर लूटने का प्रयास किया है। इस पर पुलिस टीम ऐशबाग रेलवे स्टेशन के पास पहुंची। जहां सूनसान स्थान पर एक लग्जरी कार खड़ी थी। जिसमें कुछ लड़के व लड़कियां बैठी थीं। 

पुलिस व्यापारी अजय के अलावा दो युवतियों व दो युवकों को थाने लेकर गई। जहां पूछताछ के बाद अवैध वसूली के धंधे का खुलासा हुआ। पुलिस के मुताबिक पकड़े गये आरोपियों में मुंबई के थाणे स्थित आकाश गंगा रोड निवासी सोहेल राजपूत, हाजी सुलेमान मोहल्ला रोड राबोड़ी निवासी फिरोज शेख, विकासनगर साई प्लाजा निवासी रिजवाना खान उर्फ रिया खान और भाईखला हंसरोड थाणे की नेहा मजहर अब्बास सैय्यद शामिल हैं।

लग्जरी कार से करते थे वसूली

एसीपी बाजारखाला चंद्र प्रकाश अग्रवाल के मुताबिक यह गिरोह राजधानी के विभिन्न इलाकों में लग्जरी कार से घूमकर वसूली करता था। लोगों को फंसाने के लिए युवतियां आगे आती थी। शिकार फंस जाता था। तो उसे सुनसान स्थान पर ले जाती। जहां गिरोह के दूसरे सदस्य पहुंचकर उसे दुष्कर्म और सोशल मीडिया पर अश्लील वीडियो व फोटो वायरल करने की धमकी देकर रुपये ऐंठने शुरू कर देते। विरोध करने पर उनकी पिटाई करते थे। दहशत में लाने के लिए पिस्तौल नुमा लाइटर दिखाते थे। जिससे गोली मारने की धमकी देते थे। पुलिस ने चारों के पास से लग्जरी कार, लाइटर नुमा पिस्तौल भी बरामद किया है।

कार पर लगा था अशोक स्तंभ, विधायक का स्टीकर
प्रभारी निरीक्षक बाजारखाला धनंजय सिंह के मुताबिक जो लग्जरी कार बरामद की गई है। उस पर अशोक स्तंभ का स्टीकर लगा था। इसके अलावा विधायक और पुलिस का मोनोग्राम लगा था। गिरोह के सदस्यों ने लोगों को अर्दब में लेने के लिए कार पर हूटर भी लगवा रखा था। पुलिस ने जब इन स्टीकरों, मोनोग्राम व हूटर के बारे में पूछताछ की तो आरोपियों ने बताया कि लोगों को डराने के लिए ऐसा किया है।

मुंबई से लखनऊ तक फैला है गिरोह
पुलिस के मुताबिक इस गिरोह का नेटवर्क मुंबई से लखनऊ तक फैला है। कुछ दिन पहले ही यह गिरोह लखनऊ पहुंचा था। इस गिरोह की महिला सदस्य मुंबई से लेकर लखनऊ तक के लोगों को मोबाइल के जरिए फंसाती हैं। इसके बाद सामान्य कॉलिंग से बातचीत। फिर वीडियो कॉलिंग करती है साथ ही अश्लील चैटिंग करती है। अपने गिरफ्त में आने के बाद मुलाकाता की बात की जाती है। जब युवक या कारोबारी उनके चंगुल में फंस जाता है। तो उसे सुनसान स्थान पर बुलाकर वसूली की जाती है।

ऐसे धमकाते फिर वसूलते
पुलिस के मुताबिक पूछताछ में सामने आया कि गिरोह की महिला सदस्य शिकार को मिलने केलिए बुलाती। उसे कार में बैठाकर घूमने निकलते। फिर रास्ते में शराब व बीयर का दौर चलता। इसके बाद सुनसान स्थान पर पहुंचने के बाद युवती पीड़ित के साथ अश्लील हरकतें करने लगती। इसी बीच मौका देखकर गिरोह के अन्य सदस्य दूसरी कार से पहुंचते। पहले दोनों को सार्वजनिक स्थान पर अश्लील हरकतें करने की बात कहकर धमकाते। 

पुलिस का मोनोग्राम लगी गाड़ी देखकर अक्सर लोग सहम जाते और उनके पास जो भी रकम होती थी। देकर वहां से किसी तरह से भाग निकलते। वहीं बातचीत के दौरान युवती द्वारा पीड़ित की आर्थिक स्थिति के बारे में भी पता कर लेती थी। इसी जानकारी होने के बाद पीड़ित को और अधिक रकम मंगाने के लिए दबाव डाला जाता है। गिरोह के सदस्यों ने बताया कि लखनऊ में कई लोगों को शिकार बनाया गया है। पुलिस इस गिरोह के शिकार हुए लोगों के बारे में जानकारी हासिल कर रही है।

सोहेल है गिरोह का मास्टर माइंड
पुलिस के मुताबिक पूछताछ में पता चला कि गिरोह का मास्टर माइंड सोहेल राजपूत हैं। महिला सिपाहियों ने युवतियों से अलग पूछताछ की। जिसमें सामने आया कि युवतियों को सोहेल ने ही लोगों को फंसाने का तरीका बताया। उनसे रकम वसूलकर मालामाल होने की बात कही। उसने युवतियों से कहा था कि मुंबई में ऐसे कई कांड कर चुका है। 

अब कुछ दिनों तक लखनऊ में चलकर लोगों से वसूली करते हैं। लखनऊ में इन आरोपियों ने ठाकुरगंज के दुबग्गा के पास ठिकाना बनाया था। पुलिस उनके ठिकाने के बारे में जानकारी हासिल कर रही है। सोहेल ने बताया कि उनके निशाने पर कारोबारी, चिकित्सक, कुछ अधिकारी और पूंजीपतियों के बेटे होते हैं। उनका नंबर हासिल कर उनसे चैटिंग कर फंसाया जाता है।

थाने पर किया हंगामा
पुलिस के मुताबिक चारों को पकड़कर थाने लाया गया। इस दौरान सोहेल खुद को पुलिसकर्मी बताता था। उसने थाने में जमकर हंगामा किया। उसने कहा कि अभी मुंबई के पुलिस कमिश्नर की कॉल आयेगी। तुमको छोड़ना पड़ेगा। वह महाराष्ट्र सरकार के कई मंत्रियों व विधायकों को जानता है। यूपी में भी कई मंत्री उसके परिचित है। उसे ज्यादा देर तक थाने में नहीं रोक सकते। लेकिन पुलिस की सख्ती के आगे के एक न चली। वहीं व्यापारी से अवैध वसूली की जानकारी होने के बाद थाने पर व्यापारी नेता भी पहुंच गये थे।

बढ़ाई जाएगी कई और संगीन धाराएं

प्रभारी निरीक्षक धनंजय सिंह केमुताबिक इन आरोपियों के खिलाफ अभी कई और संगीन धाराएं बढ़ाई जाएगी। पुलिस ने उनके पास से बरामद अशोक स्तंभ, पुलिस की मोनोग्राम, विधायक का स्टीकर और हूटर रखने के बारे में जांच कर रही है। इसे कहां से लिया था। किसके आदेश पर लगवाया था। इन आरोपियों के खिलाफ कूटरचित दस्तावेज तैयार करने व सरकारी स्टीकर का दुरुपयोग करने की धाराएं बढ़ाई जाएंगी।

लग्जरी कार से करते थे वसूली

Most Popular