Home लखनऊ Lucknow news- लखनऊः धर्म परिवर्तन के बगैर हो रही शादी पुलिस ने...

Lucknow news- लखनऊः धर्म परिवर्तन के बगैर हो रही शादी पुलिस ने रुकवाई

पारा में बुधवार शाम धर्म परिवर्तन के बगैर हिंदू युवती की मुस्लिम युवक से हो रही शादी पुलिस ने रुकवा दी। हालांकि, युवक-युवती और उनके परिवारीजन ने सहमति से विवाह होने की बात कही, लेकिन पुलिस नहीं मानी।

यूपी विधि विरुद्ध धर्म परिवर्तन प्रतिषेध अध्यादेश का हवाला देते हुए दोनों को डीएम से धर्म परिवर्तन की अनुमति लेने के लिए कहा गया। धर्म परिवर्तन अध्यादेश के प्राविधान समझाने के बाद परिजन इस पर तैयार हुए और पुलिस को लिखित आश्वासन दिया। हिंदू-मुस्लिम के विवाह पर हिंदू संगठनों ने आपत्ति जताते हुए पुलिस से शिकायत की थी।

इंस्पेक्टर त्रिलोकी सिंह ने बताया कि पारा के नरपतखेड़ा डूडा कॉलोनी निवासी वाहन चालक विजय गुप्ता की बेटी रैना वहीं के निजी अस्पताल के कर्मचारी आदिल से शादी कर रही थी। समारोह विजय गुप्ता के घर होना था। इसी दौरान राष्ट्रीय युवा वाहिनी के प्रदेश संयोजक अल्पसंख्यक मोर्चा मो. यासिर खान और अखिल भारतीय हिंदू महासभा उत्तर प्रदेश के जिलाध्यक्ष बृजेश कुमार शुक्ला ने पुलिस से धर्मांतरण बगैर शादी होने की जानकारी दी।

मो. खान ने कहा उन्हें शादी से एतराज नहीं है, पर नए कानून का पालन करना सबका कर्तव्य है। ऐसा न होने पर कोई भी घटना हो सकती है। उन्होंने शादी समारोह तत्काल स्थगित कर नवीन कानून व्यवस्था के आधार पर ही समारोह संपन्न कराने के लिए कहा तो बृजेश शुक्ला ने पुलिस से तत्काल शादी रुकवाने की मांग की।

शाम करीब चार बजे इंस्पेक्टर ने मौके पर पहुंचकर शादी रोकने को कहा तो हड़कंप मच गया। विजय ने बताया कि उस वक्त आदिल बरात लेकर आने वाला था। शादी रुकवाने की वजह पूछने पर पुलिस ने धर्म परिवर्तन कानून के बारे में बताया। जानकारी पर एडीसीपी सुरेश चंद्र रावत भी पहुंच गए और कानून के जानकारों को प्रकरण बताते हुए सलाह ली।

जानकारों ने बताया कि शादी के लिए युवक या युवती में किसी एक को धर्म बदलना होगा। इसके लिए डीएम कार्यालय में दो महीने पहले आवेदन करना होगा। डीएम नोटिफिकेशन जारी करेंगे, इसके बाद ही युवक-युवती विवाह कर सकते हैं। इस पर दोनों अपना धर्म बदलने को तैयार हो गए।

खाना खाकर लौट गए मेहमान
विजय ने बताया कि रैना उसकी सौतेली बेटी है, लेकिन उसकी शादी को कोई कसर नहीं रखी थी। कुछ महीनों से चोट के चलते वह काम नहीं कर रहा। ऐसे में रिश्तेदारों से रुपये लेकर बेटी की शादी का इंतजाम किया था। शादी रोकने पर सारे इंतजाम धरे रह गए। उन्होंने मेहमानों को खाना खिलाकर विदा किया।

Most Popular