HomeलखनऊLucknow news - लखनऊ विश्वविद्यालय परिसर: साइंस,कॉमर्स व लॉ फैकल्टी के साथ...

Lucknow news – लखनऊ विश्वविद्यालय परिसर: साइंस,कॉमर्स व लॉ फैकल्टी के साथ कुलपति का नई शिक्षा नीति पर मंथन, गुरुवार तक UG कोर्स के पेपर्स के सजेस्ट करने के निर्देश

लखनऊ विश्वविद्यालय में एनईपी पर मंथन जारी है। बुधवार को कुलपति प्रो. आलोक कुमार राय ने विज्ञान, वाणिज्य और विधि विभागों के साथ बैठक कर चार वर्षीय स्नातक पाठ्यक्रम के स्ट्रक्चर को अंतिम रूप दिया। साथ ही सभी विभागों से कोर्स के पेपर्स के नाम देने के लिए गुरुवार तक समय दिया है।

नए पाठ्यक्रम में माइनर प्रोजेक्ट, रिसर्च मेथाडोलॉजी के साथ-साथ इंटर्नशिप करने व डिजरटिशन लिखने का भी अवसर दिया जाएगा। इसके साथ ही वोकेशनल कोर्स करने का भी अवसर होगा। कुलपति प्रो. आलोक कुमार राय के अनुसार चार वर्षीय स्नातक पाठ्यक्रम का स्ट्रक्चर बन गया है। विभागों से पेपर के नाम देने के लिए कहा गया है।

महिलाओं के विरुद्ध हिंसा रोकने के लिए पहल जरुरी –

एलयू के महिला अध्ययन केंद्र में मनोविज्ञान विभाग व ब्रेकथ्रू इंडिया संस्था द्वारा वर्कशॉप आयोजित किया गया।इस दौरान प्रो. अर्चना शुक्ला ने सार्वजनिक स्थानों पर महिलाओं के खिलाफ होने वाले अपराधों में पीड़ित पर बहुत बुरा प्रभाव पड़ने की बात कही। सार्वजनिक स्थानों पर होने वाली हिंसा को रोकने के लिए समाज को पहल करने पर जोर दिया।मेन ट्रेनर शुभम सिंह ने हिंसा को रोकने के लिए 5D का फार्मूला बताया, जिसमें डिस्ट्रैक्ट (ध्यान बांटना), डेलीगेट (किसी दूसरे की सहायता लेना), डॉक्यूमेंट (रिकॉर्ड रखना), डिले (रुकावट डालना), डायरेक्ट (सीधे तौर पर रोकना) शामिल है,इन तरीकों से इस प्रकार की घटनाओं पर रोक लगा सकते हैं।

परीक्षा पर गुरुवार को होगा निर्णय –

यूजी-पीजी की बची हुई परीक्षाओं पर गुरुवार को फैसला होगा। बुधवार को कुलपति प्रो. आलोक कुमार राय की अध्यक्षता में इस संबंध में बैठक हुई, जिसमें समिति की ओर से दिए गए सुझावों पर विचार विमर्श किया गया। कुलपति का कहना है कि कुछ प्वाइंट्स हैं, जिन पर चर्चा के बाद गुरुवार को निर्णय लिया जाएगा।इससे पूर्व तकनीकी संस्थाओं में पहले से ही ऑनलाइन एग्जाम कराने का निर्णय लिया जा चुका है।

10 दिन के भीतर करे इंटरनल असेसमेंट के मार्क्स अपलोड –

यूनिवर्सिटी ने सत्र 2020-21 के यूजी – पीजी फर्स्ट सेमेस्टर के आंतरिक परीक्षाओं के अंक अपलोड करने का एक और मौका दिया है।विश्वविद्यालय के सभी विभागाध्यक्षों एवं महाविद्यालयों के प्राचार्यों को 25 जून तक अंक अपलोड करने होंगे। बुधवार को परीक्षा नियंत्रक प्रो. एएम सक्सेना ने इस बाबत निर्देश जारी कर दिए।

ऐसी है तैयारी –

चार वर्षीय स्नातक पाठ्यक्रम में प्रति सेमेस्टर 24 क्रेडिट होंगेदो सेमेस्टर पूरा करने पर सर्टिफिकेटचार सेमेस्टर पूरा करने पर डिप्लोमाछह सेमेस्टर पर डिग्रीआठ सेमेस्टर पर आनर्स की डिग्री होगी अवार्डखबरें और भी हैं…

Most Popular