HomeलखनऊLucknow news - वाह रे UP का स्वास्थ्य महकमा: मौत के 2...

Lucknow news – वाह रे UP का स्वास्थ्य महकमा: मौत के 2 माह बाद आई कोरोना मरीज की याद, फोन करके पूछा- कैसे है संक्रमित? परिवार ने लगाई फटकार

मार्च से लेकर अब तक कोरोना संक्रमित हुए लोगों के बारें में स्वास्थ्य विभाग जानकारी जुटा रहा है। इनमें से कई मरीजों की मौत हो चुकी है। लेकिन पोर्टल पर रिपोर्ट अपडेट नहीं की गई है।

उत्तर प्रदेश में ‘ट्रिपल टी’ मॉडल (टेस्टिंग, ट्रीटमेंट और ट्रेसिंग) के जरिए महामारी पर काबू पाने के दावों की पोल अब खुलने लगी है। ताजा मामला राजधानी लखनऊ का है। यहां कोरोना से दो माह पहले जान गंवा चुके एक मरीज की स्वास्थ्य विभाग को अचानक याद आ गई। स्वास्थ्य केंद्र से जब जानकारी मांगी गई तो परिवार वालों ने फटकार लगा दी। स्वास्थ्य विभाग का यह रवैया उजागर करता है कि जिम्मेदार मरीजों के प्रति किस कदर लापरवाह बने हुए हैं।

27 अप्रैल को हुई थी कोरोना से मौत

चिनहट निवासी कुमुद मिश्रा 14 अप्रैल को कोरोना पॉजिटिव हुए थे। हालत गंभीर होने के कारण उनके परिजनों ने तुरंत कोविड-19 नियंत्रण कक्ष और अस्पतालों से संपर्क किया। बेड न मिलने की स्थिति में उन्हें होम आइसोलेशन की सलाह दी गई। इसके बाद किसी ने उनकी सुध नहीं ली, जिससे 27 अप्रैल को उनकी मौत हो गई। शनिवार को चिनहट सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र से फोन करके पूछा गया कि आप कैसे हैं। कुमुद मिश्रा को कोरोना हुआ था, अब उनका स्वास्थ्य कैसा है? यह सुनते ही परिवार वालों ने कॉल करने वाले व्यक्ति को जमकर फटकारा और फोन काट दिया।

ऐसा हुआ क्यों?

दरअसल, मार्च से लेकर अब तक कोरोना संक्रमित हुए लोगों के बारें में स्वास्थ्य विभाग जानकारी जुटा रहा है। इनमें से कई मरीजों की मौत हो चुकी है। लेकिन पोर्टल पर रिपोर्ट अपडेट नहीं की गई है। इसलिए मौत की जानकारी विभाग को नहीं हो सकी है। अब नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र से फोन कर मरीजों का रिकॉर्ड मांगा जा रहा है। लेकिन इससे लोगों में आक्रोश बढ़ रहा है। एक तरफ सरकार आंकडे़ जारी करती है, वहीं दूसरी तरफ स्वास्थ्य विभाग को ही मरीजों की सही स्थिति के बारे में कोई जानकारी नहीं रहती है, जिसका प्रत्यक्ष उदाहरण चिनहट सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र की यह घटना है।

खबरें और भी हैं…

Most Popular